scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

राजस्थान: पति-पत्नी ने पांच बच्चों के साथ नहर में कूदकर दी जान, मरने से पहले सभी ने आपस में पैरों को बांध लिया था

मृतकों की पहचान शंकरलाल (32) उनकी पत्नी बादली (30) के अलावा उनकी तीन लड़कियां रमिला (12) केसी (10), जाह्नवी (8) और दो लडकों प्रकाश (6) एवं हितेश (3) के रूप में की गई है।
Written by: न्यूज डेस्क
Updated: March 01, 2023 22:30 IST
राजस्थान  पति पत्नी ने पांच बच्चों के साथ नहर में कूदकर दी जान  मरने से पहले सभी ने आपस में पैरों को बांध लिया था
मरने वाले सभी बच्चों की उम्र 3 से 12 साल के बीच है। (प्रतीकात्मक तस्वीर)
Advertisement

राजस्थान में दिल दहला देने वाली घटना में एक ही परिवार के सभी लोगों ने नहर में कूदकर जान दे दी। मौत को गले लगाने से पहले सभी लोगों ने अपने पैरों को एक-दूसरे से बांध लिया था। मरने वालों में पति-पत्नी के अलावा पांच बच्चे शामिल हैं। बच्चों की उम्र 3 से 12 साल के बीच है। पुलिस ने घटना के पीछे आपसी विवाद होने की आशंका जताई है। फिलहाल और लोगों से पूछताछ की जा रही है। घटना राज्य के जालौर जिले के सांचौर थाना क्षेत्र में हुई। जान देने वाला पूरा परिवार गलीफा गांव में रहता था।

सभी की लाशें 25 किमी दूर जाकर मिलीं

बुधवार को पुलिस को सूचना मिली की जालौर के सांचौर थाना क्षेत्र में एक दंपति अपने पांच बच्चों के साथ नहर में कूद गया है। जालौर की पुलिस अधीक्षक डॉ. किरण कंग ने बताया कि पहली नजर में यह मामला खुदकुशी का लग रहा है। बताया कि गलीफा गांव निवासी शंकर लाल और उनकी पत्नी बादली तथा पांचों बच्चों के शव 20-25 किमी दूर जाकर मिले। कंग ने बताया कि नहर से निकाल कर सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिये भेजा गया है। उन्होंने बताया कि दंपती और बच्चे आपस में पैर बांधकर संभवत: नहर में कूदे हैं।

Advertisement

पड़ोसियों ने बताया कि पति-पत्नी में हुआ था झगड़ा

एसपी ने बताया कि पड़ोसियों से प्राथमिक पूछताछ में पता चला है कि खेतीबाड़ी करने वाले शंकरलाल का पत्नी से किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। इसके चलते यह कदम उठाया गया है। उन्होंने बताया कि परिवार मंगलवार को नहर में कूदा था। थानाधिकारी निरंजन प्रताप सिंह ने बताया कि बुधवार की सुबह पूरे परिवार के सिद्धेश्वर पालडी के पास नर्मदा मुख्य नहर में कूदने की सूचना पर पुलिस दल ने स्थानीय गोताखोरों की मदद से बचाव अभियान शुरू किया था।

उन्होने बताया कि मृतकों की पहचान शंकरलाल (32) उनकी पत्नी बादली (30) के अलावा उनकी तीन लड़कियां रमिला (12) केसी (10), जाह्नवी (8) और दो लडकों प्रकाश (6) एवं हितेश (3) के रूप में की गई है। उन्होंने बताया कि अभी तक इस संबंध में कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो