scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

IPL Mega Auction: अपने 30% खिलाड़ी रिटेन करना चाहती हैं फ्रेंचाइजीस, पर्स में हो सकता है 20 करोड़ का इजाफा

बीसीसीआई ने आईपीएल मेगा ऑक्शन के रिटेंशन पॉलिसी को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया शुरू की है। इस महीने के अंत में मालिकों की एक बैठक में अंतिम निर्णय के बाद घोषणा होने की उम्मीद है।
Written by: खेल डेस्‍क | Edited By: Tanisk Tomar
नई दिल्ली | Updated: July 02, 2024 20:19 IST
ipl mega auction  अपने 30  खिलाड़ी रिटेन करना चाहती हैं फ्रेंचाइजीस  पर्स में हो सकता है 20 करोड़ का इजाफा
आईपीएल ऑक्शन (सोर्स- एपी फोटो)
Advertisement

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की फ्रेंचाइजी ने अगले तीन सीजन के लिए खिलाड़ियों को रिटेन करने की संख्या बढ़ाने का अनुरोध किया है। 10 फ्रेंचाइज़ी की राय अलग-अलग रही है, लेकिन अधिकांश ने पहले की तुलना में अधिक रिटेंशन की मांग की है। टीम लगभग अपने 30 प्रतिशत खिलाड़ी रिटेन करना चाहती हैं। 2021 में, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने फ्रेंचाइजी को अधिकतम चार खिलाड़ियों को रिटेन करने की अनुमति दी थी। इसमें तीन से अधिक भारतीय और दो से अधिक विदेशी खिलाड़ी नहीं हो सकते थे। इस बार पर्स में भी 20 करोड़ का इजाफा हो सकता है।

Advertisement

क्रिकबज के अनुसार बीसीसीआई ने रिटेंशन पॉलिसी को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया शुरू की है। इस महीने के अंत में मालिकों की एक बैठक में अंतिम निर्णय के बाद घोषणा होने की उम्मीद है। बैठक तब होने की उम्मीद है जब सभी मालिक हिस्सा लेने के लिए उपलब्ध होंगे। इनमें से कुछ वर्तमान में पारिवारिक मामलों में व्यस्त हैं। बीसीसीआई के कार्यवाहक सीईओ और आईपीएल प्रभारी हेमंग अमीन ने हाल ही में फ्रैंचाइजी के सीईओ से अगले तीन वर्षों के लिए नीति और वेतन सीमा पर उनके विचार जानने के लिए परामर्श किया है।

Advertisement

राइट टू मैच कार्ड को लेकर भी राय मांगी गई

इस साल के अंत में मेंगा ऑक्शन है और । राइट टू मैच (RTM) कार्ड को लेकर भी राय मांगी गई थी। इसका उपयोग 2021 में नहीं किया गया था।अधिकांश फ्रैंचाइजी ने पांच से सात रिटेंशन के बीच अनुरोध किया है। एक ने तो आठ का सुझाव भी दिया है। इसके विपरीत, कुछ टीमों ने कहा है कि कोई भी रिटेंशन नहीं होना चाहिए। वे चाहती हैं कि केवल RTM रहे। बीसीसीआई ने कहा है कि वह मालिकों की बैठक में अपने निर्णयों का खुलासा करेगा।

इम्पैक्ट प्लेयर नियम बने रहने की उम्मीद

फ्रेंचाइजियों के पर्स के बारे में भी सीईओ से सलाह ली गई और राय अलग-अलग रही। प्रचलित राय यह है कि वेतन सीमा 110-120 करोड़ रुपये के बीच हो सकती है, लेकिन 20 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी से इन्कार नहीं किया जा सकता। वर्तमान में, यह सीमा 100 करोड़ रुपये है। क्रिकेट से जुड़े मामलों, खासकर इम्पैक्ट प्लेयर नियम पर भी चर्चा हुई। पता चला है कि मीडिया राइट्स होल्डर इससे संतुष्ट हैं। हालांकि खेल पक्ष से खासकर कोचिंग स्टाफ से फीडबैक कम अनुकूल रहा है। बहरहाल, फिलहाल इम्पैक्ट प्लेयर नियम बने रहने की उम्मीद है।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो