scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

IPL 2024: आराम से, आराम से; ब्रेट ली का चोटिल मंयक यादव को संदेश

ब्रेट ली ने मयंक यादव की चोट को लेकर कहा कि दुर्भाग्य से ते गेंदबाज चोटिल होते रहते हैं। वह अपने करियर में कई बार चोटिल हुए।
Written by: खेल डेस्‍क | Edited By: Tanisk Tomar
नई दिल्ली | Updated: April 08, 2024 19:17 IST
ipl 2024  आराम से  आराम से  ब्रेट ली का चोटिल मंयक यादव को संदेश
मयंक यादव। (फोटो - PTI)
Advertisement

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने इंडियन प्रीमियर लीग 2024 (IPL 2024) में लखनऊ सुपर जाइंट्स (LSG) के लिए शानदार प्रदर्शन कर रहे युवा तेज गेंदबाज मयंक यादव की सराहना की। लखनऊ के तेज गेंदबाज मयंक यादव ने आईपीएल में धमाकेदार शुरुआत की। उन्होंने अपनी तेज गति से बल्लेबाजों को परेशान किया और लगातार 150 किमी प्रति घंटे से अधिक की रफ्तार से गेंद करने में सक्षम हैं।

मयंक यादव ने आईपीएल 2024 की सबसे तेज गेंद 156.7 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से गेंद की। ब्रेट ली ने वर्ल्ड चैपियनशिप ऑफ लिजेंड्स में ऑस्ट्रेलिया चैंपियंस की जर्सी लॉन्च होने पर मयंक यादव को लेकर कहा कि उन पर बहुच दबाव नहीं डाला जान चाहिए। गुजरात टाइटंस के खिलाफ मैच में मयंक ने सिर्फ 1 ओवर गेंदबाजी की साइड स्ट्रेन के कारण उन्हें मैदान से बाहर जाना पड़ा। ब्रेट ली की मयंक को सलाह है कि वह जो कर रहे हैं उसे करते रहना चाहिए।

Advertisement

वह वापस आकर फिर से तेज गेंदबाजी करेंगे

ब्रेट ली ने मयंक को लेकर एएनआई से कहा, " सबसे पहले तो उन्हें इतनी तेज गेंदबाजी करते हुए देखना बहुत अच्छा था। दुर्भाग्य से कल रात उनकी गति गिरकर 135 से हो गई और वह घायल हो गए। इसलिए मुझे लगता है कि शायद उन्हें साइड स्ट्रेन है, लेकिन खेल में कभी-कभी ऐसा होता है। आप घायल हो जाते हैं। मैं उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं। उम्मीद करता हूं कि वह वापस आकर फिर से तेज गेंदबाजी करेंगे, लेकिन भारत के किसी खिलाड़ी को 150 किमी से अधिक की गेंदबाजी करते हुए देखना बेहद रोमांचक है।"

आराम से, आराम से

ब्रेट ली ने कहा, " मैं कहता रहता हूं कि तेज गेंदबाज दुर्भाग्य से घायल होते हैं। यह खेल का हिस्सा है। मैं खेल खेलते हुए कई बार घायल हुआ हूं, लेकिन आपको अच्छे के साथ-साथ बुरे को भी स्वीकार करना होगा। आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप अपने शरीर को ऐसी स्थिति में ले जाएं जहां आप सहज महसूस करें। आप दर्द के बावजूद खेल सकें। मेरी उन्हें सलाह होगी कि आप जो कर रहे हैं उसे करते रहें। यह सुनिश्चित करना कि आपका एक्शन यथासंभव अच्छा हो और इसी ने मुझे अपने करियर को आगे बढ़ाने में मदद की है। मैंने सुनिश्चित किया कि मैंने अतिरिक्त प्रयास किया। अपने शरीर पर काम करना। प्रतिद्वंद्वी नहीं आपका शरीर आपके लिए सबसे बड़ा चुनौती है। वह अभी युवा हैं और मैं उन पर ज्यादा दबाव नहीं डालना चाहता। उन्हें रिलैक्स करने दे। मैं कहता रहता हूं आराम से, आराम से, रिलेक्स, आराम से करो। आप ठीक रहोगे।"

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो