scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

T20 World Cup 2024: मयंक यादव ने खटखटाया टीम इंडिया का दरवाजा, पंजाब के बाद बेंगलुरु के खिलाफ झटके 3 विकेट

Mayank Yadav in Team India,T20 World Cup 2024: मयंक यादव पर पहले से ही भारतीय चयनकर्ताओं की निगाहें हैं। वह चोटिल न होते तो भारतीय टीम के लिए इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में ही डेब्यू कर चुके होते।
Written by: खेल डेस्‍क | Edited By: Tanisk Tomar
नई दिल्ली | Updated: April 02, 2024 23:52 IST
t20 world cup 2024  मयंक यादव ने खटखटाया टीम इंडिया का दरवाजा  पंजाब के बाद बेंगलुरु के खिलाफ झटके 3 विकेट
मयंक यादव लगातार दूसरे मैच में प्लेयर ऑफ द मैच बने। (फोटो - IPL)
Advertisement

इंडियन प्रीमियर लीग 2024 (IPL 2024) के तुरंत बाद जून में अमेरिका और वेस्टइंडीज की मेजबानी में टी20 वर्ल्ड कप 2024 होना है। इसके लिए भारतीय टीम की घोषणा अप्रैल के अंत में होने की संभावना है। ऐसे में माना जा रहा है कि आईपीएल 2024 खिलाड़ियों के चयन में बड़ी भूमिका निभाएगा। इसके मद्देनजर लखनऊ सुपर जायंट्स (LSG) के तेज गेंदबाज मयंक यादव ने बहुत ही प्रभावी प्रदर्शन किया है। उन्होंने भले ही केवल 2 मैच ही खेले हैं, लेकिन यह कहना गलत नहीं होगा कि दिल्ली के इस तेज गेंदबाज ने टीम इंडिया का दरवाजा खटखटा दिया है।

लगातार 150 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से गेंद कर रहे मयंक यादव ने पंजाब किंग्स (PBKS) के बाद रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB)पर कहर बरपाया। ग्लेन मैक्सवेल और कैमरन ग्रीन जैसे बल्लेबाज को उन्होंने अपनी पेस से छकाया। ये दोनों बल्लेबाज ऑस्ट्रेलिया से आते हैं पेस के खिलाफ अच्छी बल्लेबाजी करने के लिए जाने जाते हैं, लेकिन उनके पास भी मयंक की रफ्तार का जवाब नहीं था। इसके बाद उन्होंने अनुज रावत को पवेलियन भेजा। दिनेश कार्तिक एलबीडब्ल्यू होने से बाल-बाल बच गए।

Advertisement

मयंक पर भारतीय चयनकर्ताओं की पहले से ही निगाहें

मयंक ने आईपीएल में डेब्यू करने के बाद सिर्फ 46 गेंद पर 6 विकेट झटक लिए। पंजाब किंग्स के बाद बेंगलुरु के खिलाफ भी 3 विकेट लिए। मयंक यादव ने पंजाब के खिलाफ 4 ओवर में 27 रन देकर 3 विकेट लिए थे। बेंगलुरु के खिलाफ उन्होंने 4 ओवर में 14 रन देकर 3 विकेट लिए। दिल्ली के इस तेज गेंदबाज पर भारतीय क्रिकेट टीम के सेलेकटर्स की निगाहें पहले से ही है। उन्होंने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी नमें 153 किलोमीटर प्रतिघंटे से गेंद की थी। इसके बाद वह इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में चयनकर्ताओं के रडार पर थे। हालांकि, साइड स्ट्रेन के कारण वह नहीं चुने गए। द इंडियन एक्सप्रेस से मयंक ने कहा था, " मैं एक पैर पे खेल जाता अगर मैं 60 प्रतिशत भी रेडी होता।"

मयंक के लिए चिंता का कारण फिटनेस

हालांकि, मयंक के लिए चिंता का कारण फिटनेस है। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले वह पिछले साल आईपीएल में चोट की वजह से नहीं खेल पाए। रणजी ट्रॉफी भी नहीं खेल सके। मयंक को पता है कि उन्हें अपनी फिटनेस पर काम करना है। उन्होंने पंजाब के खिलाफ मैच के बाद कहा था, " दो साल में मुझे तीन बड़ी चोटें लगीं। मैं चोट के कारण पिछले साल आईपीएल नहीं खेल पाया था और इस साल रणजी ट्रॉफी भी नहीं खेल सका। मुझे उस पर काम करने की जरूरत है।"

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो