scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

IPL 2024: धोनी ने साथियों को कब बताया कप्तानी छोड़ने का फैसला? ऋतुराज पहले से किए जा रहे थे तैयार, जडेजा एपिसोड के बाद CSK सतर्क

जब से रविंद्र जडेजा को कप्तान बनाने का फैसला उल्टा पड़ा, तब से धोनी युग के खत्म होने पर महाराष्ट्र के खिलाड़ी ऋतुराज गायकवाड़ को सीएसके का नेतृत्व करने के लिए तैयार किया जा रहा था।
Written by: ईएनएस | Edited By: Tanisk Tomar
नई दिल्ली | Updated: March 22, 2024 01:06 IST
ipl 2024  धोनी ने साथियों को कब बताया कप्तानी छोड़ने का फैसला  ऋतुराज पहले से किए जा रहे थे तैयार  जडेजा एपिसोड के बाद csk सतर्क
चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के कप्तान ऋतुराज गायकवाड़ टीम के साथी एमएस धोनी के साथ गुरुवार, 21 मार्च को चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में चेन्नई सुपर किंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के बीच इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2024 क्रिकेट मैच से पहले नेट सेशन के दौरान। (फोटो - पीटीआई)
Advertisement

वेंकट कृष्णा बी। इंडियन प्रीमियर लीग 2024 (IPL 2024)से पहले महेंद्र सिंह धोनी ने चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) की कप्तानी ऋतुराज गायकवाड़ को सौंप दी। एमएस धोनी ने गुरुवार (21 मार्च) को अपने चिर परिचित अंदाज में ब्रेकफास्ट टेबल पर अपने साथियों और सहयोगी स्टाफ को चौंका दिया। इसके बाद चेन्नई सुपर किंग्स प्रबंधन को यह खबर दी। जानकारी के अनुसार उस बैठक के बाद धोनी ने फ्रेंचाइजी प्रबंधन को फोन करके ऋतुराज गायकवाड़ को कप्तानी सौंपने के अपने फैसले की जानकारी दी थी। सीएसके के सीईओ कासी विश्वनाथन ने कहा कि पिछले दो वर्षों से इस भूमिका के लिए तैयार किया जा रहा था।

हालांकि, महेंद्र सिंह धोनी अभी यह निर्णय ले लेंगे इसका अंदाजा नहीं था। ऐसा प्रतीत होता है कि फ्रैंचाइजी परिवर्तन को संभालने के लिए कहीं बेहतर स्थिति में है। 2022 में रविंद्र जडेजा को कप्तान बनाने का फैसला बैकफायर कर गया था। बीच आईपीएल में वह कप्तानी से हटे थे। उस समय ऐसा लग रहा था कि फ्रेंचाइजी धोनी के फैसले से हैरान थी, लेकिन इस बार मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने कहा कि वे कहीं बेहतर स्थिति में हैं।

Advertisement

जडेजा एपिसोड से सबक

फ्लेमिंग ने कहा, " कुछ साल पहले की बड़ी बात यह थी कि हम शायद एमएस के कप्तानी से हटने को लेकर तैयार नहीं थे। इससे जो हुआ वह शायद हमें एक नेतृत्व समूह के रूप में हिलाकर रख दिया। इसके बाद कोचों को संभावना पर ध्यान देना पड़ा। तबतक यह लगभग अकल्पनीय था, लेकिन इसने बीज बो दिया। इसलिए हमने यह सुनिश्चित करने के लिए काफी मेहनत की है कि जो गलतियां हुई थीं, वे दोबारा न हों।"

गायकवाड़ को कप्तानी सौंपने के निर्णय हैरानी भरा नहीं

चेन्नई सुपर किंग्स में कई बड़े स्टार और अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी हैं, सेटअप और प्रबंधन से परिचित खिलाड़ियों के लिए गायकवाड़ को कप्तानी सौंपने के निर्णय हैरानी भरा नहीं है। वह एक बहुत ही शांत व्यक्ति हैं, जिस तरह से वह दबाव वाली स्थितियों से निपटते हैं, उसके प्रशंसक हैं। 27 वर्षीय खिलाड़ी 2019 सीजन से पहले 20 लाख रुपये के बेस प्राइस पर फ्रेंचाइजी में शामिल हुए। तब से उन्होंने ड्रेसिंग रूम के साथ-साथ इंडिया सीमेंट्स मुख्यालय में भी लोगों को प्रभावित किया। 2021 में ऑरेंज कैप जीतने के बाद मेगा ऑक्शन से पहले गायकवाड़ उन चार खिलाड़ियों में से एक थे जिन्हें सीएसके ने 6 करोड़ रुपये में रिटेन किया था। यह उन्हें सबसे कम कीमत वाला कप्तान बनाता है।

गायकवाड़ को पता था कि वह धोनी के उत्तराधिकारी होंगे

द इंडियन एक्सप्रेस को मिली जानकारी के अनुसार गायकवाड़ को अच्छी तरह पता था कि वह धोनी के उत्तराधिकारी होंगे, लेकिन खिलाड़ी के करीबी लोगों के अनुसार जब गायकवाड़ 3 मार्च को प्री-सीजन कैंप में शामिल होने के लिए पुणे से निकले थे तब भी उन्हें धोनी के संन्यास लेने के बाद ही अगले सीजन की कमान संभालने की उम्मीद थी। जानकारी के अनुसार धोनी चाहते थे कि गायकवाड़ को उस भूमिका के लिए तैयार करें जब तक वह एक खिलाड़ी के रूप में मौजूद हैं।

Advertisement

गायकवाड़ को मैदान के साथ-साथ मैदान के बाहर भी तैयार कर रहे धोनी

विश्वनाथन ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया, "उन्होंने आज सुबह कप्तान की बैठक से पहले मुख्य कोच से बात करने के बाद हमें फैसले की जानकारी दी। एन श्रीनिवासन ने धोनी को कार्यभार सौंपा है और वह जो भी निर्णय लेंगे, वह हमेशा फ्रेंचाइजी के सर्वोत्तम हित में होगा। वह पिछले कुछ वर्षों से गायकवाड़ को मैदान के साथ-साथ मैदान के बाहर भी तैयार कर रहे हैं। धोनी को लगा कि यह उन्हें कप्तानी सौंपने का सही समय है क्योंकि उन्हें लगा कि गायकवाड़ भी तैयार हैं।"

धोनी ने गायकवाड़ को भविष्य का कप्तान मान लिया था

जब से जडेजा को कप्तानी सौंपने का फैसला योजना के मुताबिक नहीं हुआ, तब से धोनी ने गायकवाड़ को भविष्य का कप्तान मान लिया था। हालांकि, वे बेन स्टोक्स विकल्प थे, लेकिन फ्रेंचाइजी में यह भावना थी कि गायकवाड़ किसी समय कार्यभार संभालेंगे। विजय हजारे ट्रॉफी के 2022/2023 संस्करण के दौरान जब महाराष्ट्र अपने लीग मैच रांची में खेल रहा था तब गायकवाड़ ने हर शाम धोनी के साथ बिताया। उन्हीं मुलाकातों में धोनी ने गायकवाड़ को बताया कि फ्रेंचाइजी उन्हें उत्तराधिकारी के रूप में देख रही है।

गायकवाड़ ने कैसे की तैयारी

गायकवाड़ ने इस भूमिका के लिए खुद को परखने के लिए भी टूर्नामेंट का उपयोग किया। गायकवाड़ के करीबी दोस्त और महाराष्ट्र में टीम के साथी अजीम काजी ने कहा, "गेमप्लान से लेकर हमारे अभ्यास सत्र तय करने तक, हमने उस वर्ष एक अलग ऋतु देखा। वह मूल रूप से टीम चला रहे थे। हमने पहले या बाद में किसी को ऐसा करते नहीं देखा। इस बार जब वह चेन्नई के लिए रवाना हुए, तो उन्हें पता था कि वह उत्तराधिकारी होंगे, लेकिन इसी सीजन ऐसा होगा, यह कभी नहीं सोचा था।"

फ्लेमिंग तैयार कर रहे कप्तान

आत्मविश्वास से भरे खिलाड़ी होने के अलावा प्रबंधन ने कप्तानी कौशल कार्यक्रम में गायकवाड़ के नेतृत्व गुणों पर भी ध्यान दिया है, जो फ्लेमिंग हर सीजन में चलाते हैं। पिछले कुछ वर्षों से न्यूजीलैंड के पूर्व इस कार्यक्रम को संभाल रहे हैं। कई घरेलू खिलाड़ी इन सत्रों में भाग लेने के लिए सक्रिय रुचि दिखा रहे हैं, जो अनिवार्य नहीं हैं।

फ्लेमिंग ने इसे लेकर कहा, "खिलाड़ियों के साथ नेतृत्व के बारे में बात करने के हमेशा अवसर होते हैं। मुझे लगता है कि न्यूजीलैंड की कप्तानी करने का अवसर मुझे उस स्थिति में लाता है, जहां मैं कुछ अधिकार के साथ बात कर सकता हूं। इसलिए मुझे न केवल ऋतु बल्कि अन्य लोगों के साथ कप्तानी कौशल और नेतृत्व के बारे में बात करने में बहुत मजा आया। यह उन दो महीनों का हिस्सा है जिसका हम आनंद लेते हैं।"

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो