scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

दिल्ली में बाबा रामदेव के स्टैच्यू का अनावरण, मैडम तुसाद म्यूजियम में पहली बार लगेगा किसी सन्यासी का पुतला

दिल्ली में योग गुरु बाबा रामदेव के मोम के स्टैच्यू का अनावरण किया गया। पहली बार मैडम तुसाद म्यूजियम में किसी सन्यासी की प्रतिमा लगाई जाएगी।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Jyoti Gupta
नई दिल्ली | Updated: January 30, 2024 14:13 IST
दिल्ली में बाबा रामदेव के स्टैच्यू का अनावरण  मैडम तुसाद म्यूजियम में पहली बार लगेगा किसी सन्यासी का पुतला
मोम के स्टैच्यू के साथ योग गुरु बाबा रामदेव। (Ani)
Advertisement

न्यूयॉर्क के मैडम तुसाद म्यूजियम में योग गुरु बाबा रामदेव का पुतला लगाया जाएगा। बाबा राम के मोम के पुतले का अनावरण दिल्ली के एक समारोह में किया गया। खुद बाबा रामदेव ने अपने पुतले पर तिलक लगाया और उसके साथ सेम टू सेम योग मुद्रा में पोज दिए।

मैडम तुसाद म्यूजियम में किसी पहले सन्यासी की लगेगी प्रतिकृति

बता दें कि ऐसा पहली बार होगा कि किसी सन्यासी का पुतला मैडम तुसाद म्यूजियम में लग रहा है। इस दौरान बाबा रामदेव ने अपना पुतला लगाए जाने की कहानी बताई। उन्होंने पुतले की बारियों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि पैर के नाखून तक भी सेम टू सेम लग रहे हैं। उन्होंने बताया कि कैसे पुतले के लिए उनके शरीर का नाप लिया गया और किस तरह 600 से अधिक कलाकारों ने मिलकर उनके पुतले को तैयार किया। इस दौरान वे काफी उत्साहित नजर आए।

Advertisement

असली बाबा रामदेव और उनकी मूर्ति में फर्क करना मुश्किल

जब रामदेव ने अपनी मोम की मूर्ति का अनारण किया तो वहां मौजूग लोग हैरान रह गए। असली राम देव और मोम की मूर्ति वाले रामदेव में अंतर खोज पाना मुश्किल है। जब योग गुरु अपनी मोम की प्रतिकृति के बगल में खड़े हुए तो दोनों सेम टू सेम लग रहे थे।

समारोह के बाद न्यूयॉर्क भेजी जाएगी मूर्ति

रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली में अनावरण के बाद योग गुरु के मोम की प्रतिकृति न्यूयॉर्क के मैडम तुसाद म्यूजियम भेजी जाएगी। पतंजलि योगपीठ के केंद्रीय प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने कहा कि यह भारतीय संस्कृति, संन्यास और सनातन योग परंपरा की वैश्विक प्रतिष्ठा का ऐतिहासिक अवसर है। इस समारोह में पतंजलि योगपीठ के सह संस्थापक आचार्य बालकृष्ण और पतंजलि योगपीठ (यूके) ट्रस्ट की संस्थापक ट्रस्टी सुनीता पोद्दार भी मौजूद थे।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो