scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

कौन हैं मिशुस्तिन, जिन्हें पुतिन ने फिर से बना दिया रूस का प्रधानमंत्री

रूस में व्लादिमीर पुतिन हाल ही में एक बार फिर राष्ट्रपति चुनाव जीते थे और अब उन्होंने देश के प्रधानमंत्री के तौर पर मिशुस्तिन को एक बार फिर नियुक्त कर दिया है।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: May 10, 2024 22:21 IST
कौन हैं मिशुस्तिन  जिन्हें पुतिन ने फिर से बना दिया रूस का प्रधानमंत्री
रुसी राष्ट्रपति ने फिर अपने भरोसेमंद को दिया अहम पद (सोर्स - रॉयटर्स)
Advertisement

Vladimir Putin: एकतरफा अंदाज में राष्ट्रपति चुनाव जीतने के बाद अब रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने देश के लिए प्रधानमंत्री की नियुक्ति कर दी है। पुतिन ने एक बार फिर मिखाइल मिशुस्तिन को ही देश का प्रधानमंत्री नियुक्त किया है। रूसी राष्ट्रपति ने उनके नाम को मंजूरी के लिए संसद के निचले सदन के पास भेजा है।

रूसी कानून के अनुसार 58 वर्षीय मिशुस्तिन ने मंगलवार को उस वक्त अपने मंत्रिमंडल का इस्तीफा सौंपा, जब पुतिन ने राष्ट्रपति के तौर पर अपना पांचवां कार्यकाल शुरू किया था। मिशुस्तिन पिछले चार वर्ष से प्रधानमंत्री पद पर थे।

Advertisement

आखिर क्यों पुतिन की पसंद हैं मिशुस्तिन

पहले से ही यह माना जा रहा था कि पुतिन मिशुस्तिन को ही एक बार फिर पीएम बना सकते हैं और वही होता दिख रहा है। उनका मानना है कि पुतिन को मिशुस्तिन का कौशल और सुर्खियों से दूरी पसंद है। रूस की टैक्स सेवा के पूर्व प्रमुख मिशुस्तिन अपने पिछले कार्यकाल के दौरान राजनीतिक बयानबाजियों से दूर थे और मीडिया में साक्षात्कार भी नहीं देते थे।

Advertisement

संसद के निचले सदन के अध्यक्ष वी वोलोदिन ने घोषणा की है कि पुतिन ने ‘स्टेट ड्यूमा’ में मिशुस्तिन की उम्मीदवारी पेश की है। गौरतलब है कि रूस की राजनीति में मिशुस्तिन का कद लगातार बढ़ता रहा है। 1966 में रूस के मॉस्को शहर में जन्मे मिशुस्तिन टेक्नोक्रेट भी हैं।

Advertisement

कई अहम पदों पर रहे हैं मिशुस्तिन

साल 1998 के बाद वो रूस के टैक्स विभागों में कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे थे और साल 2010 में उन्हें रूस की केंद्रीय टैक्स सर्विस का प्रमुख भी बनाया गया। मिशुस्तिन को रूस की टैक्स प्रणाली को दुरुस्त करने का श्रेय किया जाता है। मिशुस्तिन ने इकोनॉमिक्स में पीएचडी भी की है। अब शुक्रवार को देर शाम सत्र आयोजित किया जाएगा और उस पर विचार होगा।

देश में 2020 में स्वीकृत संवैधानिक परिवर्तनों के तहत निचला सदन प्रधानमंत्री की उम्मीदवारी को मंजूरी देता है। पुतिन की मुहर लगने के बाद अब यह सुनिश्चित हैं कि मिशुस्तिन ही रूस के प्रधानमंत्र होंगे।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो