scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Pakistan: बेनजीर भुट्टो की छोटी बेटी आसिफा की सियायत में एंट्री, पिता आसिफ अली जरदारी की छोड़ी सीट से भरा नामांकन

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की छोटी बेटी आसिफा अली जरदारी ने पाकिस्तान की राजनीति में कदम रखा है। 21 अप्रैल को होने वाले उप चुनाव के लिए उन्होंने नामांकन दाखिल किया है।
Written by: न्यूज डेस्क
इस्लामाबाद | Updated: March 20, 2024 08:39 IST
pakistan  बेनजीर भुट्टो की छोटी बेटी आसिफा की सियायत में एंट्री  पिता आसिफ अली जरदारी की छोड़ी सीट से भरा नामांकन
आसिफा जरदारी ने चुनाव के लिए नामांकन दाखिल किया है। (PTI)
Advertisement

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की छोटी बेटी आसिफा अली जरदारी की राजनीति में एंट्री हो गई है। सिंध प्रांत की नेशनल असेंबली सीट पर उपचुनाव लड़ने के लिए अपनी उम्मीदवारी दाखिल की है। इस सीट इससे पहले उनके पिता के पास थी। इस सीट पर 21 अप्रैल को उप चुनाव होना है। इसमें आसिफा की जीत लगभग तय मानी जा रही है। आसिफा ने सिंध प्रांत के शहीद बेनजीराबाद जिले के एनए-207 निर्वाचन क्षेत्र के लिए उपचुनाव में रविवार को नामांकन पत्र भरा।

बता दें कि आसिफा की मां बेनजीर भुट्टो की 2007 में रावलपिंडी में चुनाव प्रचार के दौरान बेनजीर की हत्या कर दी गई। इसके बाद 2008 से 2013 तक जरदारी देश के 11वें राष्ट्रपति रहे। आसिफा के भाई 35 वर्षीय बिलावल भुट्टो पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के अध्यक्ष और पिता जरदारी सह-अध्यक्ष हैं। पिछली शहबाज शरीफ सरकार में बिलावल विदेश मंत्री रह चुके हैं।

Advertisement

फर्स्ट लेडी भी हैं आसिफा

31 साल की आसिफा को उनके पिता और पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने अबतक संसदीय राजनीति से दूर रखा था। हालांकि पिछले दिनों आसिफ अली जरदारी ने आसिफा को देश की प्रथम महिला बनाने का फैसला लिया है। जिसे पाकिस्तान में खातून-ए-अव्वल कहा जाता है। जरदारी का ये एक सोचा-समझा कदम है। आसिफ जरदारी इसलिए भी आसिफा को बढ़ाना चाहते हैं क्योंकि पाकिस्तान के एक और बड़े राजनेता नवाज शरीफ ने अपनी बेटी मरियम को विरासत सौंपते हुए उनको पंजाब की मुख्यमंत्री बना दिया है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो