scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Pakistan: सैलरी नहीं लेंगे राष्ट्रपति-गृहमंत्री, पाकिस्तान के आर्थिक हालात को देखते हुए लिया बड़ा फैसला

कर्ज में डूबा पाकिस्तान आर्थिक दबाव से जूझ रहा है और वस्तुओं की कीमतें आसमान छू रही हैं।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
नई दिल्ली | Updated: March 13, 2024 10:35 IST
pakistan  सैलरी नहीं लेंगे राष्ट्रपति गृहमंत्री  पाकिस्तान के आर्थिक हालात को देखते हुए लिया बड़ा फैसला
पाकिस्तान के नए राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी (सोर्स - रॉयटर्स)
Advertisement

आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान में नई सरकार बन गई है। आसिफ अली जरदारी (Asif Ali Zardari) देश के नए राष्ट्रपति बने हैं। इससे पहले PML-N के नेता शहबाज शरीफ ने पाकिस्तान के 24वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी। पाकिस्तान के वर्तमान हालातों को देखते हुए मंगलवार को नवनिर्वाचित राष्ट्रपति ने बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान कोई भी वेतन ना लेने की घोषणा की है। जरदारी के इस कदम में देश के नए गृहमंत्री ने भी साथ देने का फैसला किया है।

रविवार को पाकिस्तान के 14वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने वाले 68 वर्षीय जरदारी की पार्टी पीपीपी ने 'X' पर लिखा कि चुनौतीपूर्ण हालातों को देखते हुए मदद के लिए ये फैसला किया गया है। इससे देश के राजस्व पर बोझ नहीं पड़ेगा। राष्ट्रपति सचिवालय प्रेस विंग ने मंगलवार को कहा, 'राष्ट्रपति ने राष्ट्रीय खजाने पर बोझ नहीं डालना जरूरी समझा और अपना वेतन छोड़ना पसंद किया।'

Advertisement

जरदारी पाकिस्तान के सबसे अमीर राजनेताओं में से एक

गौरतलब है कि आसिफ अली जरदारी पाकिस्तान के सबसे अमीर राजनेताओं में से एक हैं। उनकी नेटवर्थ लगभग 1.8 अरब डॉलर है। खबरों के मुताबिक राष्ट्रपति जरदारी के नक्शेकदम पर चलते हुए गृह मंत्री मोहसिन नकवी ने भी अपना वेतन छोड़ने का फैसला किया है। एक्स पर नकवी ने लिखा, "वह हर संभव तरीके से देश की सेवा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। यह एक चुनौतीपूर्ण समय है।"

कितना है पाकिस्तान के राष्ट्रपति का वेतन?

पाकिस्तान की संसद द्वारा राष्ट्रपति के लिए जो वेतन तय किया गया है उसके मुताबिक, इस पद पर आसीन व्यक्ति को हर महीने 8,46,550 रुपये मिलते हैं। इसके अलावा अन्य भत्तों का लाभ भी दिया जाता है। यह वेतन 2018 में संसद द्वारा तय किया गया था।

Advertisement

गौरतलब है कि चीन समेत कई देशों के कर्ज के जाल में फंसा पाकिस्तान कंगाली की कगार पर पहुंच गया है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की मदद के बाद भी हालात बदहाल होते जा रहे हैं। महंगाई के कहर से परेशान जनता खाने-पीने के साथ ही रोजमर्रा के सामानों के लिए भी परेशान हो रही है।

Advertisement

इससे पहले पाकिस्तान में राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने शहबाज शरीफ कैबिनेट के 19 मंत्रियों को शपथ दिलाई। सोमवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में प्रधानमंत्री शरीफ सहित अन्य लोग शामिल हुए। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने कैबिनेट के लिए 19 नामों की सिफारिश की थी। हालांकि नए मंत्रियों के पोर्टफोलियो की घोषणा अभी नहीं की गई है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो