scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

हारे प्रत्याशियों की जीत, सेना पर गंभीर आरोप और सोशल मीडिया ठप, पाकिस्तान में होनी वाली है बड़ी उथल-पुथल?

पाकिस्तान में हुए आम चुनाव के इमरान खान के समर्थकों ने चुनाव आयोग पुलिस और सेना के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।
Written by: न्यूज डेस्क
Updated: February 19, 2024 10:24 IST
हारे प्रत्याशियों की जीत  सेना पर गंभीर आरोप और सोशल मीडिया ठप  पाकिस्तान में होनी वाली है बड़ी उथल पुथल
पाकिस्तान में चुनाव अधिकारी ने खुद धांधली की बात स्वीकार की है। (सोर्स - रॉयटर्स)
Advertisement

पाकिस्तान अपनी खस्ताहाल माली हालत के चलते पहले ही मुश्किलों का सामना कर रहा था लेकिन आम चुनाव में धांधली के विवाद ने उसकी वैश्विक स्तर पर एक बार फिर भद्द पिटा दी है। चुनाव के नतीजे आए दस दिन से ज्यादा का समय हो गया है लेकिन सरकार गठन के अब तक दूर-दूर तक कोई संकेत नहीं है। इस बीच चुनावी धांधली का विवाद एक नई परेशानी खड़ी कर रहा है। सुप्रीम कोर्ट में जहां फिर से चुनाव कराने की मांग की गई है तो दूसरी ओर अचानक ही सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स को 24 घंटे के लिए ठप कर दिया गया है। इसके चलते सवाल उठ रहे हैं कि क्या पाकिस्तान में कुछ बड़ा होने वाला है। अहम बात यह है कि इस सवाल के केंद्र में पाकिस्तानी सेना ही है।

पाकिस्तान में नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज बिलावल भुट्टों की पार्टी पीपीपी के साथ सरकार बनाने की जुगत में है लेकिन निर्दलीय के तौर पर जीते इमरान खान के समर्थक लगातार विपक्ष में बैठने का दावा कर रहे हैं। यह भी दावा किया जा रहा है कि पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ के साथ सेना कोई डील कर ली है। वहीं सबसे बड़ा बवाल रावलपिंडी के चुनाव अधिकारी लियाकत अली चट्ठा के खुलासों ने मचा दिया है। उन्होंने चुनाव में की गई धांधली को स्वीकारते हुए इस्तीफा दे दिया जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार भी कर लिया गया है।

Advertisement

चट्ठा ने कहा कि 8 फरवरी को आम चुनाव के नतीजों में उनकी निगरानी में हेरफेर हुआ था। उन्होंने दावा किया था कि 70-80 हजार वोटों से कई निर्दलीय प्रत्याशी आगे चल रहे थे लेकिन उन्हें धांधली के जरिए हरा दिया गया था। उन्होंने कहा कि वह इसके लिए जिम्मेदार हैं और उन्हें दंडित भी किया जाना चाहिए। चुनाव अधिकारी की गिरफ्तारी के बाद उनके खिलाफ एक्शन लिया जा रहा है लेकिन दूसरी ओर पाकिस्तान में बंदिशें भी लगा दी गई हैं जो कि सेना के बढ़ते दखल का संकेत दे रही हैं।

इंटरनेट पर बंदिशें

पाकिस्तानी मीडिया डॉन की एक रिपोर्ट के मुताबिक अचानक देर रात 24 घंटे के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसके अलावा इंटरनेट इतना ज्यादा धीमा चल रहा है कि लोग किसी भी ऑनलाइन सुविधा का इस्तेमाल नहीं कर पा रहे हैं। इंटरनेट मॉनिटर करने वाली संस्था नेटब्लॉक्स का कहना है कि पाकिस्तान में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर लगा बैन अब तक का सबसे लंबा बैन है। मुल्क में डिजिटल अधिकारों के लिए काम करने वाले मंच 'बोलो भी' के डायरेक्ट उसामा खिलजी ने कहा कि चुनिंदा वीपीएन को छोड़ दिया जाए तो कोई भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स का इस्तेमाल नहीं कर पा रहा है।

Advertisement

मार्शल लॉ की दहलीज पर खड़ा पाकिस्तान?

उसामा खिलजी ने इस दौरान सरकार के दूरसंचार प्राधिकरण या आईटी मंत्री पर भी हमला बोला है। उन्होंने कहा कि जिनका काम इंटरनेट को लोगों तक आसानी से पहुंचाना है, उनकी ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है, जो कि आलोचनात्मक है। बता दें कि पाकिस्तान में 8 फरवरी को आम चुनाव के नतीजे घोषित हुए थे जिसमे किसी भी दल को बहुमत नहीं मिला था।

Advertisement

नवाज शरीफ की पार्टी बिलावल भुट्टो की पीपीपी के साथ सरकार बनाने के प्रयास कर रही है लेकिन अभी तक कुछ भी नतीजा नहीं निकल सका है। ऐसे में पहले चुनावी धांधली फिर इंटरनेट पर लगा आंशिक प्रतिबंध बता रहा है कि पाकिस्तानी सेना सत्ता अपने हाथ में भी ले सकती है और मुल्क में मार्शल लॉ भी लग सकता है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो