scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

गरीबी में आटा गीला! इमरान खान का ये कदम पाकिस्तान को करेगा और कंगाल

रावलपिंडी के पूर्व आयुक्त लियाकत अली ने आरोप लगाया था कि मुख्य चुनाव आयुक्त और मुख्य न्यायाधीश आठ फरवरी के चुनावों में चुनाव धांधली में शामिल थे।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
नई दिल्ली | Updated: February 22, 2024 21:16 IST
गरीबी में आटा गीला  इमरान खान का ये कदम पाकिस्तान को करेगा और कंगाल
पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान (सोर्स - ANI)
Advertisement

पाकिस्तान के चुनाव आयोग द्वारा गठित एक उच्च स्तरीय समिति ने देश में चुनाव में धांधली के आरोपों की जांच पूरी कर ली है। समिति जल्द अपनी रिपोर्ट चुनाव आयोग को सौंपेगी। पाकिस्तान में 8 फरवरी को हुए आम चुनाव के बाद से ही तमाम संगठनों का आरोप है कि चुनावों में धांधली की गई।पाकिस्तान चुनाव आयोग (ECP) ने आरोपों की जांच के लिए रविवार को समिति का गठन किया था। जांच के लिए गठित की गई ईसीपी की समिति को तीन दिन का समय दिया गया था। समिति ने अपनी जांच तय समय में पूरी कर ली और जल्द चुनाव आयोग को रिपोर्ट सौंप देगी।

IMF को लेटर लिखेंगे इमरान खान

वहीं,पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के संस्थापक इमरान खान अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) को पत्र लिखकर 'चुनावों में धांधली' के मद्देनजर उससे पाकिस्तान को समर्थन बंद करने की मांग करेंगे। पार्टी नेता अली जफर ने गुरुवार को यह जानकारी दी। जफर ने रावलपिंडी के अदियाला जेल में इमरान खान से मुलाकात के बाद बताया कि इमरान खान आज आईएमएफ को एक पत्र जारी करेंगे।

Advertisement

जफर ने दावा किया कि आईएमएफ़ के चार्टर का सबसे महत्वपूर्ण खंड यह है कि एक देश लोकतांत्रिक होना चाहिए। जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा कि अगर वहां लोकतंत्र नहीं है तो न तो ये संस्थाएं ऐसे देशों में काम कर सकती हैं और न ही उन्हें काम करना चाहिए। लोकतंत्र का मूल स्तंभ स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव है लेकिन पूरी दुनिया ने देखा कि कैसे देश का जनादेश चुराया गया।

पाकिस्तान चुनाव में धांधली का आरोप

रावलपिंडी के पूर्व आयुक्त लियाकत अली ने आरोप लगाया था कि मुख्य चुनाव आयुक्त और मुख्य न्यायाधीश चुनाव में धांधली में शामिल थे। जिसके बाद उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। लियाकत अली ने कहा था कि जो उम्मीदवार चुनाव हार रहे थे, उन्हें जीता हुआ घोषित किया गया। वहीं, पद से इस्तीफा देने से पहले उन्होंने दावा किया कि रावलपिंडी के 13 उम्मीदवारों को जबरदस्ती विजेता घोषित किया गया।

इस बीच पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरयम नवाज पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की पहली महिला मुख्यमंत्री बनने जा रही हैं। पंजाब प्रांत के विधानमंडल का उद्घाटन सत्र बुलाए जाने के बाद मरयम शुक्रवार को अपने पद की शपथ लेंगी। पाकिस्तान में 8 फरवरी को जिन पांच विधानसभाओं के लिए मतदान हुआ था, उनमें से पंजाब विधानसभा पहला सदन है जिसका उद्घाटन सत्र बुलाया गया है।

Advertisement

पंजाब प्रांत की पहली महिला मुख्यमंत्री बनेंगी मरयम नवाज

पंजाब प्रांत के गर्वनर हाउस के प्रवक्ता ने गुरुवार को कहा, ‘‘गर्वनर बालीघुर रहमान ने शुक्रवार को पंजाब विधानसभा का सत्र बुलाया है, जिसमें विधानसभा के नवनिर्वाचित सदस्य शपथ लेंगे और नयी सरकार का गठन शुरू होगा।’’ मरयम पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) पार्टी की वरिष्ठ उपाध्यक्ष भी हैं। उन्हें पीएमएल-एन सुप्रीमो नवाज शरीफ का राजनीतिक उत्तराधिकारी माना जाता है। नवाज शरीफ ने हाल ही में आश्चर्यजनक रूप से अपने छोटे भाई शहबाज शरीफ को अपनी पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार नॉमिनेट किया है।

पीएमएल-एन ने मरयम को 12 करोड़ से अधिक आबादी वाले पंजाब प्रांत में पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार के रूप में नामित किया है। पंजाब विधानसभा में पीएमएल-एन ने 137 सीट जीतीं हैं जबकि पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) समर्थित निर्दलीय उम्मीदवारों ने 113 सीटें जीतीं। इसके अलावा करीब करीब 20 निर्दलीय उम्मीदवार पहले ही पीएमएल-एन में शामिल हो चुके हैं। इस बीच, मरयम को पहले ही सुरक्षा दी जा चुकी है जो आमतौर पर मुख्यमंत्री को प्रदान की जाती है और वह प्रांत के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठकें भी कर रही हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो