scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

अमेरिका में फिर एक भारतीय छात्र की हत्या, मां इकलौते बेटे को नहीं भेजना चाहती थी विदेश

हमलावरों ने आंध्र प्रदेश के गुंटूर जिले के रहने वाले छात्र की हत्या की और उसका शव एक जंगल के अंदर कार में छोड़ दिया।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Mohammad Qasim
नई दिल्ली | Updated: March 17, 2024 17:35 IST
अमेरिका में फिर एक भारतीय छात्र की हत्या  मां इकलौते बेटे को नहीं भेजना चाहती थी विदेश
प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो : फाइल)
Advertisement

अमेरिका में भारतीय छात्रों की हत्या के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। ताज़ा जानकारी के मुताबिक अब बोस्टन विश्वविद्यालय में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे 20 वर्षीय पारुचुरी अभिजीत की हत्या हुई है। हमलावरों ने आंध्र प्रदेश के गुंटूर जिले के रहने वाले छात्र की हत्या की और उसका शव एक जंगल के अंदर कार में छोड़ दिया। वह अपने माता-पिता परुचुरी चक्रधर और श्रीलक्ष्मी के इकलौता बेटा था।

क्या जानकारी है?

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक परुचुरी अभिजीत बचपन काफी होनहार छात्र रहा है। उनके परिवार के सदस्यों ने अखबार को बताया कि उनकी मां शुरू में नहीं चाहती थीं कि वह पढ़ाई के वह लिए विदेश जाए लेकिन बाद में परिवार की सहमति से उन्हें पढ़ने भेजा गया था।

Advertisement

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि हमलावरों ने पैसे और लैपटॉप के लिए अभिजीत की हत्या की होगी। यूनिवर्सिटी में उनके दूसरे छात्रों से हुए झगड़े को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं. कैंपस में हुई हत्या से कई तरह के संदेह पैदा हो गए हैं। अमेरिका में सभी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद उनके पार्थिव शरीर को गुंटूर जिले के बुर्रिपालेम ले जाया गया है।

पिछले कुछ महीनों में लगातार अमेरिका में हत्या के मामले सामने आए हैं। जनवरी में रिपोर्ट आई थी कि अमेरिका में एक हफ्ते के भीतर तीन भारतीय छात्रों की मौत हुई थी। यह दावा मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से किया गया था। खबरों के मुताबिक सिनसिनाटी में एक भारतीय छात्र को मृत पाया गया था।

अमेरिका में ऐसे तीन मामले सामने आए थे। एक मामले 25 साल के विवेक सैनी को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। विवेक ने हाल ही में अमेरिका में एमबीए पूरा किया था। 16 जनवरी को एक ड्रग एडिक्ट जूलियन फॉल्कनर ने उसपर पर बेरहमी से हमला किया था। दरअसल फॉल्कनर बेघर था और विवेक सैनी ने उसे चिप्स, पानी, कोक और एक जैकेट देकर इंसानियत दिखाई दी। लेकिन जब विवेक ने उससे जाने के लिए कहा तो उसने हथोड़ी से उसपर हमला कर दिया और विवेक की जान चली गई।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो