scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

India-Maldives Row: मालदीव के राष्ट्रपति मुइज्जू को बड़ा झटका, भारत विरोधी सोच के चलते विपक्ष का संसदीय संबोधन से बहिष्कार

India-Maldives: मालदीव के विपक्षी दलों का कहना है कि जिन तीन मंत्रियों को भारत के प्रधानमंत्री पीएम मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर सस्पेंड किया गया था उनकी बहाली के चलते बैठक से दूर रहेंगे।
Written by: न्यूज डेस्क
February 05, 2024 10:33 IST
india maldives row  मालदीव के राष्ट्रपति मुइज्जू को बड़ा झटका  भारत विरोधी सोच के चलते विपक्ष का संसदीय संबोधन से बहिष्कार
मालदीव राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू
Advertisement

India-Maldives: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ मालदीव के तीन मंत्रियों की आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद से राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू की मुसीबतें लगातार बढ़ती जा रही हैं। विपक्ष ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। जिन तीन मंत्रियों ने पीएम मोदी के खिलाफ टिप्पणी की थी उन्हें बहाल कर दिया गया है। इसे लेकर विपक्ष फिर हमलावर हो गया है। विपक्षी दलों ने राष्ट्रपति मुइज्जू के संसदीय संबोधन से बहिष्कार कर दिया है। मालदीव के दो मुख्य विपक्षी दल मालदीवियन डेमोक्रेटिक और डेमोक्रेट्स पार्टी आज यानी सोमवार को संसद में राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू के भाषण में शामिल नहीं होंगे।

पीएम मोदी का किया समर्थन

विपक्षी दलों ने पीएम मोदी का समर्थन किया है। एमडीपी की ओर से कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है लेकिन डेमोक्रेट्स की ओर से कहा गया कि पीएम मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले मंत्रियों की बहाली के कारण वह इस बैठक से दूर रहेंगे। विपक्षी दलों ने मुइज्जू सरकार पर भारत विरोधी सोच का भी आरोप लगाया था। इन दलों ने भारत को पुराना सहयोगी बताते हुए कहा कि भारत को अलग करना मालदीव के विकास पर असर डालेगा। बता दें कि मालदीव की संसद में आज राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू का भाषण होना है।

Advertisement

क्या है मामला?

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लक्षद्वीप की यात्रा के बाद मालदीव के तीन मंत्रियों ने पीएम मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। इसके बाद से दोनों देशों के बीच रिश्ते तनावपूर्ण हो गए थे। भारत की ओर से इस पर कड़ी आपत्ति जाहिर की गई। भारत में मालदीव का विरोध शुरू हो गया। लोगों ने मालदीव की बुकिंग रद्द करा दी। सोशल मीडिया पर भी लोगों को मालदीव ना जाने की अपील हुई। भारत के दवाब के कारण तीनों मंत्रियों को बर्खास्त कर दिया गया। हालांकि अब तीनों को बहाल कर दिया गया है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो