scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Israel-Hamas: दिन में रिपोर्टर रात में हमास का कमांडर बन जाता है, IDF ने अल जजीरा के पत्रकार पर लगाया गंभीर आरोप

जब्त किए गए एक लैपटॉप पर किए गए आईडीएफ के खुफिया विश्लेषण से पत्रकार वाशाह और उसकी हमास गतिविधियों में संलिप्तता साबित होती है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
नई दिल्ली | Updated: February 12, 2024 16:24 IST
israel hamas  दिन में रिपोर्टर रात में हमास का कमांडर बन जाता है  idf ने अल जजीरा के पत्रकार पर लगाया गंभीर आरोप
इजरायल-हमास युद्ध (फोटो- इंडियन एक्‍सप्रेस)।
Advertisement

इजरायली रक्षा बलों (IDF) ने गाजा से कतर स्थित अल जज़ीरा के लिए रिपोर्टिंग करने वाले एक प्रमुख पत्रकार पर हमास के वरिष्ठ कमांडर के रूप में काम करने का आरोप लगाया है। आईडीएफ के इजरायली अरबी प्रवक्ता, लेफ्टिनेंट अविचाई अद्राई ने सोशल मीडिया पर दावा किया कि मुहम्मद वाशाह का एक लैपटॉप उत्तरी गाजा पट्टी में आईडीएफ द्वारा बरामद किया गया था।

लेफ्टिनेंट अविचाई अद्राई के अनुसार, लैपटॉप में ऐसी तस्वीरें थीं जो हमास के एक वरिष्ठ सैन्य संचालक के रूप में मुहम्मद वाशाह की संलिप्तता को साबित करती हैं। तस्वीरों में 32 वर्षीय पत्रकार को विभिन्न हथियारों को संभालते हुए दिखाया गया है, जिसमें रॉकेट-चालित ग्रेनेड डिवाइस और हथियारबंद ड्रोन शामिल हैं। यह हथियार 7 अक्टूबर के हमलों के दौरान हमास लड़ाकों द्वारा इस्तेमाल किए गए हथियारों के समान हैं। कई तस्वीरें पत्रकार वाशाह को फिलिस्तीनी समूह के लिए हवाई हथियारों के संचालन से संबंधित गतिविधियों में लगी हुई दिखाती हैं।

Advertisement

IDF का आरोप- अल जजीरा और हमास दोनों के लिए काम करता है शख्स

लेफ्टिनेंट अद्राई ने दावा किया, "एक लैपटॉप जो अल जज़ीरा के पत्रकार मुहम्मद वाशाह का था, आईडीएफ द्वारा उत्तरी गाजा पट्टी में बरामद किया गया था। इसमें ऐसी तस्वीरें हैं जो साबित करती हैं कि वह एंटी-टैंक मिसाइल रेंज में हमास के एक वरिष्ठ सैन्य संचालक के रूप में भी काम करता है और 2022 के अंत में वह संगठन के लिए हवाई हथियारों के अनुसंधान और विकास पर काम करने के लिए चला गया। कंप्यूटर पर किए गए खुफिया विश्लेषण में उसकी हमास गतिविधि से जुड़ी तस्वीरें शामिल हैं।''

सोशल मीडिया पर आईडीएफ ने सीधे अल जज़ीरा को संबोधित करते हुए कहा, "अरे अल जज़ीरा, आप पत्रकारों को स्थितियों पर निष्पक्ष रिपोर्ट देनी चाहिए न कि उन्हें हमास आतंकवादियों के रूप में अग्रिम पंक्ति में खड़ा करने में सक्रिय रूप से भाग लेना चाहिए।"

Advertisement

अल जज़ीरा ने अब तक नहीं दिया कोई जवाब

गाजा के मूल निवासी मुहम्मद वाशाह हाल के महीनों में कई अल जज़ीरा टीवी प्रसारणों के साथ-साथ कई ऑनलाइन रिपोर्टों में एक रिपोर्टर के रूप में दिखाई दिए हैं। अब तक न तो अल जज़ीरा और न ही कतर सरकार ने वाशाह के खिलाफ लगाए गए गंभीर आरोपों का जवाब दिया है। यह अल जज़ीरा पत्रकार पर आईडीएफ द्वारा फ़िलिस्तीनी आतंकवादी समूह से संबंध रखने का आरोप लगाने का पहला उदाहरण नहीं है। आईडीएफ ने पहले भी मीडिया संगठन से जुड़े अन्य व्यक्तियों के खिलाफ इस तरह के आरोप लगाए हैं।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो