scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

गाजा में सीजफायर को लेकर UNSC में पास हुआ प्रस्ताव तो अमेरिका पर भड़का इजरायल, पूछा- अब वीटो क्यों नहीं लगाया?

अमेरिका ने प्रस्ताव के खिलाफ वीटो नहीं किया, इसको लेकर इजरायल उसपर भड़का हुआ है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Nitesh Dubey
नई दिल्ली | Updated: March 26, 2024 08:47 IST
गाजा में सीजफायर को लेकर unsc में पास हुआ प्रस्ताव तो अमेरिका पर भड़का इजरायल  पूछा  अब वीटो क्यों नहीं लगाया
इजरायल, अमेरिका पर भड़का हुआ है।
Advertisement

इजरायल और हमास के बीच चल रहे युद्ध के बीच संयुक्त राष्ट्र में गाजा को लेकर सीजफायर का एक प्रस्ताव पास हुआ है। इस बीच अहम बात ये है कि अमेरिका ने यूएन में वोटिंग से किनारा कर लिया, जिससे इजरायल भड़का गया। अमेरिका ने प्रस्ताव के खिलाफ वीटो नहीं किया, इसको लेकर इजरायल उसपर भड़का हुआ है।

इजरायली प्रतिनिधिमंडल ने रद्द किया अमेरिकी दौरा

दो इजरायली अधिकारियों ने कहा कि मतदान में अनुपस्थित रहने के अमेरिकी फैसले के बाद इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अपने प्रतिनिधिमंडल की अमेरिका यात्रा को रद्द कर दिया है। अमेरिका ने पहले भी युद्धविराम की मांग करने वाले ऐसे ही प्रस्तावों पर वीटो किया था लेकिन इस बार नहीं किया। इसको लेकर इजरायल ने पूछा कि अमेरिका ने वीटो क्यों लगाया?

Advertisement

शुक्रवार को अमेरिका ने बंधकों की रिहाई से जुड़ा एक युद्धविराम प्रस्ताव पेश किया था। यह प्रस्ताव तब पास नहीं हुआ जब रूस और चीन ने इस पर वीटो कर दिया। सोमवार के वोटिंग में अमेरिका के न रहने से प्रस्ताव पारित हो गया।

इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा, "जब अल्जीरिया और अन्य देश मिलकर प्रस्ताव लाए तो रूस और चीन भी उनके साथ हो गया। इस प्रस्ताव में केवल सीजफायर की बात कही गई है। बंधकों की रिहाई से संबंधित कोई बात है ही नहीं अमेरिका को वीटो पावर का इस्तेमाल करना चाहिए था। अफसोस है कि अमेरिका ने अपनी नीति ही छोड़ दी और वोटिंग से अलग हो गया।"

Advertisement

इजरायल ने कहा कि वीटो का इस्तेमाल ना करके अमेरिका यूएनएससी में शुरू से चले आ रहे अपने स्टैंड से भागना चाहता है। उसने कहा कि अब हमास की उम्मीद बढ़ेगी कि अंतरराष्ट्रीय दबाव में इजरायल सीजफायर की बात मानने को मजबूर हो जाएगा। इजरायल ने कहा कि अब तो बंधकों की रिहाई की बात ही नहीं होगी।

Advertisement

अमेरिका ने इजरायल के आरोप किए खारिज

वहीं इजरायल के सारे आरोप को अमेरिका ने खारिज कर दिया है। अमेरिका ने कहा कि उसने अपनी नीति में कोई बदलाव नहीं किया है अमेरिका ने कहा कि हम राफाह बॉर्डर पर चल रहे युद्ध के विकल्प पर चर्चा करना चाहते थेलेकिन इजरायल ने इनकार कर दिया। राफाह पर जमीनी हमला करना नुकसानदेह हो सकता है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो