scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

मालदीव नहीं अब श्रीलंका में छुट्टियां मना रहे भारतीय, मोइज्जू की एक गलती से मुल्क को लगा आर्थिक झटका

मालदीव के साथ हुए भारत के टकराव के चलते मोइज्जू की सरकार को बड़ा नुकसान हुआ है, जिसके सबूत अब सामने आने लगे हैं।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: May 16, 2024 19:11 IST
मालदीव नहीं अब श्रीलंका में छुट्टियां मना रहे भारतीय  मोइज्जू की एक गलती से मुल्क को लगा आर्थिक झटका
मोइज्जू ने खुद के पैर पर ही मार ली कुल्हाड़ी (सोर्स - PTI/File)
Advertisement

India Maldives Conflict: दो की लड़ाई में तीसरा शख्स, हमेशा ही फायदा उठा लेता है और भारत मालदीव के बीच टकराव में भी कुछ ऐसा ही हुआ है। चीन की कठपुतली बनकर अकड़ दिखा रहे द्वीपीय देश मालदीव को भारत ने काफी झटके दिए और मालदीव जाने वाले भारतीय पर्यटकों की तादाद में आई कमी के चलते मुल्क की अर्थव्यवस्था को बड़ा नुकसान हुआ। मालदीव को हुआ यह नुकसान श्रीलंका के लिए फायदा बनकर आया।

दरअसल, भारतीय पर्यटक मालदीव जाने से कतरा रहे हैं और यही श्रीलंका का फायदा साबित हो रहा है। इस बीच श्रीलंका की तरफ वहां के पर्यटन मंत्री ने कहा कि भारत और मालदीव के रिश्तों में जो तनाव आया है, वह उसके लिए फायदा बन गया है।

Advertisement

श्रीलंका को हो रहा लड़ाई का फायदा

जानकारी के मुताबिक श्रीलंका के मंत्री हरिन फर्नांडो ने गुरुवार को कहा कि भारतीय द्वारा मालदीव यात्रा के बहिष्कार के बाद श्रीलंकाई पर्यटन को फायदा भी हो रहा है।

श्रीलंकाई मंत्री फर्नांडो ने भारत और मालदीव के बीच विवाद का हवाला देते हुए एक चैनल को इंटरव्यू में कहा कि नई दिल्ली और माले के बीच जो हुआ, उसकी वजह से मालदीव में भारतीय पर्यटकों की संख्या में भारी गिरावट आई है, जिसका फायदा श्रीलंका को मिल रहा है।

2030 तक कितना होगा फायदा

फर्नांडो का मानना है कि 2030 तक दुनिया के चौथे सबसे बड़े यात्रा पर खर्च करने वाले भारतीय यात्री रहेंगे। यह श्रीलंका के लिए अच्छा संकेत है। उन्होंने कहा कि भारत सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है और श्रीलंका को भी फायदा हो रहा है।

Advertisement

कितने भारतीयों ने किया श्रीलंका का दौरा

श्रीलंकाई पर्यटन मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक अब मालदीव पहुंचने वाले भारतीय घटे हैं और उनका नंबर चीन, रूस, यूके, इटली और जर्मनी के बाद छठे पायदान पर है। इस साल जनवरी में 34,400 भारतीय घूमने के लिए श्रीलंका आए, जो पिछले साल जनवरी में आए भारतीयों 13,759 से दोगुने से भी अधिक हैं।

बता दें कि 2024 की पहली तिमाही में भी श्रीलंका आने वाले भारतीयों की संख्या 2023 की इसी अवधि में काफी बढ़ी है, जो कि आर्थिक तंगी से जूझने वाले श्रीलंका के लिए बेहतरीन अवसर साबित हो रहा है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो