scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

चीन के हेनान प्रांत में कोयला खदान में विस्फोट, 10 लोगों की हुई मौत, कई लापता

जिस समय दुर्घटना हुई, खदान में कुल 425 लोग काम कर रहे थे, जिनमें से 380 को बाहर निकाल लिया गया है। बचाव कार्य जारी है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Nitesh Dubey
नई दिल्ली | Updated: January 13, 2024 17:04 IST
चीन के हेनान प्रांत में कोयला खदान में विस्फोट  10 लोगों की हुई मौत  कई लापता
चीन के हेनान प्रांत में एक कोयले की खदान में भीषण विस्फोट हुआ है। (Reuters/File Photo)
Advertisement

चीन के हेनान प्रांत में एक भीषण हादसा हुआ है। एक कोयले की खदान में भीषण विस्फोट हुआ है, जिसमें 10 लोगों की मौत हो गई है। वहीं 6 लोग लापता बताए जा रहे हैं। कोयले और गैस के विस्फोट के कारण ये हादसा हुआ है। स्थानीय अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी।

चीन की सरकारी मीडिया ‘सीसीटीवी’ ने बताया कि दुर्घटना शुक्रवार को पिंगदिंगशन में दोपहर लगभग 2 बजकर 55 मिनट पर हुई। कहा जा रहा है कि हादसा संभवत: कोयला और गैस में धमाके के कारण हुआ। सरकारी मीडिया संस्थान ‘चाइना डेली’ की खबर में स्थानीय अधिकारियों के हवाले से बताया कि हादसे में दस लोगों की मौत हो गई है। यह दुर्घटना ‘पिंगदिंगशान तियनान कोल माइनिंग कंपनी लिमिटेड’ की एक कोयला खदान में हुई।

Advertisement

जिस समय दुर्घटना हुई, खदान में कुल 425 लोग काम कर रहे थे, जिनमें से 380 को बाहर निकाल लिया गया है। बचाव कार्य जारी है। कोयला खदान के प्रभारी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। चीन में खनन के दौरान दुर्घटनाएं आम हैं। हालांकि हाल के वर्षों में मौतों की संख्या में कमी आई है। चीन दुनिया का सबसे बड़ा कोयले का उत्पादक और उपभोक्ता है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार घटना के बाद आपातकालीन प्रबंधन मंत्रालय ने तुरंत स्थल पर एक टीम को तैनात किया है। 2022 के आधिकारिक आंकड़ों से पता चला कि चीन में 168 खनन दुर्घटनाओं में 245 मौतें हुईं हैं। वहीं चीन के हेईलोंगजिआंग प्रांत में कोयले की खदान में दुर्घटना में कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई। जबकि 13 लोग घायल हुए हैं।

Advertisement

यमन में हूती विद्रोहियों के ठिकानों पर हमला

यमन में एक साथ कई हूती विद्रोहियों के ठिकानों पर अमेरिका और ब्रिटेन ने हवाई हमले किए हैं। इन हमलों में हूती विद्रोहियों को भारी नुकसान हुआ है। दोनों देशों ने हूती विद्रोहियों के ठिकानों पर बमबारी की है। जानकारी के मुताबिक हूती ठिकानों पर टॉमहॉक मिसाइलों और लड़ाकू जेट विमानों से हमला कर उसके लॉजिस्टिक हब, वायु रक्षा प्रणाली और हथियारों के जखीरे को निशाना बनाया गया है। माना जा रहा है कि इन हवाई हमलों के बाद पश्चिम एशिया में तनाव बढ़ सकता है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो