scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

महिलाएं करेंगी डेनमार्क की रक्षा! कई देशों में पहले से है सेना में शामिल होने की बाध्यता

डेनमार्क में अब यहां महिलाओं के लिए सेना में शामिल होना अनिवार्य कर दिया गया है। वैसे ऐसा करने वाला यह पहला देश नहीं है। चलिए बताते हैं कि उन देशों के नाम क्या है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Jyoti Gupta
नई दिल्ली | March 14, 2024 22:51 IST
महिलाएं करेंगी डेनमार्क की रक्षा  कई देशों में पहले से है सेना में शामिल होने की बाध्यता
डेनमार्क की सेना में शामिल होंगी महिलाएं। (Express)
Advertisement

डेनमार्क ने महिलाओं के लिए बड़ा फैसला लिया है। यहां की महिलाएं अब पुरुषों की तरह सेना में शामिल होकर देश की रक्षा कर सकेंगी। यह फैसला राष्ट्रीय सुरक्षा की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है। डेनमार्क में महिलाओं के लिए सेना में शामिल होना अनिवार्य कर दिया गया है। इस फैसले के बाद डेनमार्क उन देशों की लिस्ट में शामिल हो गया है कि जहां सेना में भर्ती होना महिलाओं के लिए अनिवार्य है। इसके लिए उन्हें बकायदा ट्रेनिंग दी जाती है।

इसकी जानकारी खुद डेनिश प्रधानमंत्री मैट फ्रेडरिकसेन ने दी है। इस फैसले का उद्देश्य देश की रक्षा क्षमता को बढ़ाना है। साथ ही सशस्त्र बलों के क्षेत्र में लिंग समानता बनाना है। फ्रेडरिकसेन ने कहा कि अब महिलाओं और पुरुषों की सेवा को चार महीने से बढ़ाकर ग्यारह महीनेकर दिया जाएगा।

Advertisement

क्या है वजह

रिपोर्ट के अनुसार, इस समय कई देश युद्ध से जूझ रहे हैं। ऐसे में यह फैसला लेना काफी अनिवार्य है। वर्तमान में अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को चुनौती दी जा रही है। हम ऐसा इसलिए नहीं कर रहे है कि हम युद्ध करना चाह रहे हैं, हम ऐसा इसलिए कर रहे हैं कि क्योंकि हम यु्द्ध से बचना चाह रहे हैं। बता दें कि रूस और यूक्रेन के युद्ध में नाटो गठबंधन का सदस्य डेनमार्क रूस का समर्थक है। इसलिए भी डेनमार्क को अपनी सुरक्षा की चिंता सता रही है। हालांकि रूस, डेनमार्क के लिए फिलहाल खतरा नहीं है। फिर भी डेनमार्क राष्ट्रीय सुरक्षा को मजबूत करने के संकल्प पर कायम है।

इसलिए अब यहां महिलाओं के लिए सेना में शामिल होना अनिवार्य कर दिया गया है। वैसे डेनमार्क ऐसा करने वाला पहला देश नहीं है। चलिए बताते हैं कि उन देशों के नाम क्या है।

स्वीडन: 2017 में स्वीडन ने क्षेत्रीय सुरक्षा खतरों पर चिंताओं के बीच पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए भर्ती बहाल की थी।

Advertisement

नॉर्वे: 2015 से नॉर्वे ने पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए राष्ट्रीय सेवा को अनिवार्य कर दिया है।

Advertisement

इरिट्रिया: इरिट्रिया में लड़के और लड़कियों दोनों के लिए सैन्य प्रशिक्षण अनिवार्य है।

दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया: दोनों कोरिया में महिलाओं को सेना में भर्ती करना अनिवार्य है।

इसके अलावा कुछ देशों में सेना में भर्ती होने का फैसला पूरी तरह से महिलाओं के ऊपर हैं। वे चाहें तो सेना में भर्ती हो सकती हैं और नहीं भी हो सकती हैं। यह पूरी तरह महिलाओं की मर्जी के ऊपर निर्भर है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो