scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

कहां हैं चीन के रक्षा मंत्री ली शांगफू? तीन हफ्ते से नहीं मिली खबर, 'नजरबंदी' की आशंका

जापान में अमेरिकी राजदूत ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर एक पोस्ट के जरिए कई सवाल उठाए हैं। उन्होंने चीन के रक्षा मंत्री के ठिकाने के बारे में सवाल उठाया है।
Written by: Kuldeep Singh | Edited By: Kuldeep Singh
September 15, 2023 17:01 IST
कहां हैं चीन के रक्षा मंत्री ली शांगफू  तीन हफ्ते से नहीं मिली खबर   नजरबंदी  की आशंका
3 हफ्तों से चीन के रक्षा मंत्री ली शांगफू किसी भी कार्यक्रम में नहीं दिखाई दिए। (Express Photo)
Advertisement

चीन के रक्षा मंत्री ली शांगफू का तीन सप्ताह बाद भी कोई सुराग नहीं मिला है। अब उन्हें लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जाने लगी हैं। जापान में अमेरिका के राजदूत रेहम इमैनुअल ने कहा कि कैबिनेट ने जो कहानी बताई है वह अगाथा क्रिस्टी के उपन्यास 'एंड देयर वर नन' से मिलती जुलती है। शांगफू की नजरबंदी को लेकर उन्होंने कहा कि पहले विदेश मंत्री किन गैंग, फिर रॉकेट फोर्स कमांडर और अब रक्षा मंत्री लापता हैं।

Advertisement

रेहम ने एक्स पर एक पोस्ट में एक दावा करते हुए कहा कि उन्हें (शांगफू) आखिरी बार तीसरे तीन अफ्रीका चाइना पीस एंड सिक्योरिटी फोरम में सार्वजनिक रूप से देखा गया था। बीजिंग में हुए इस सम्मेलन में ली ने अपना मुख्य भाषण दिया था। बता दें कि ली शांगफू को मार्च 2023 में रक्षा मंत्री नियुक्त किया गया था। उन्होंने कहा कि चीन के रक्षा मंत्री शांगफू को तीन सप्ताह से न तो देखा गया है और न ही सुना गया है और वह अपनी वियतनाम यात्रा पर भी नहीं देखे गए। इस सवाल के जवाब पर चीन ने अपनी चुप्पी साधी हुई है।

Advertisement

अमेरिकी राजदूत रहम इमैनुएल ने अपनी पोस्ट में लिखा “वह (शांगफू) सिंगापुर के नौसेना प्रमुख के साथ अपनी निर्धारित बैठक से अनुपस्थित हैं क्योंकि उन्हें घर में नजरबंद कर दिया गया था? रेहम ने अपनी इस पोस्ट के साथ हैशटैग #MysteryInBeijingBuilding लिखा गया था और विलियम शेक्सपियर के नाटक हैमलेट के एक उद्धरण का भी संदर्भ दिया। उन्होंने कहा डेनमार्क राज्य में “कुछ तो सड़ा हुआ है।”

भ्रष्टाचार के लगे थे आरोप

चीन के रक्षा मंत्री ऐसे समय में गायब हुए हैं जब उन पर पांच साल पहले की गई हार्डवेयर खरीद से जुड़े भ्रष्टाचार के मामलों की जांच की जा रही है। ये जांच जुलाई में शुरू की गई थी। हालांकि चीनी सेना का कहना है कि वह अक्टूबर 2017 से ही इन मुद्दों की जांच कर रही है। ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ली सितंबर 2017 से 2022 तक उपकरण विभाग में कार्यरत थे। हालांकि, उनपर कोई आरोप नहीं है। बता दें कि पिछले साल ही ली रक्षा मंत्री बने थे।

Advertisement

इनपुट-एजेंसी

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो