scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

चिली के जंगलों में भयानक आग से हजारों घर जलकर खाक, अब तक 46 लोगों की मौत, सरकार ने घोषित किया आपातकाल

जंगल में लगी आग फैलती जा रही है जिससे खतरा और ज्यादा बढ़ गया है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
नई दिल्ली | Updated: February 04, 2024 09:56 IST
चिली के जंगलों में भयानक आग से हजारों घर जलकर खाक  अब तक 46 लोगों की मौत  सरकार ने घोषित किया आपातकाल
चिली के जंगलों में भयानक आग (Source- Reuters)
Advertisement

चिली के जंगलों में लगी भीषण आग में कम से कम 46 लोगों की मौत हो गई है। चिली के राष्ट्रपति ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि पूरे मध्य और दक्षिणी चिली में लगी आग में अब तक 46 लोगों की मौत हो गयी है। वाइल्डफायर की चपेट में आने से मरने वालों की संख्या अभी और बढ़ने की संभावना है। रेस्क्यू टीमें एहतियाती तौर पर जले हुए घरों की तलाशी ले रही है।

जानकारी के मुताबिक, जंगल में लगी आग फैलती जा रही है जिससे खतरा और ज्यादा बढ़ गया है। भयानक आग को देखते हुए चिली की सरकार ने देश में आपातकाल घोषित कर दिया है।अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। चिली की गृह मंत्री कैरोलिना तोहा ने बताया कि वर्तमान में देश के बीच और दक्षिण के 92 जंगल आग की चपेट में हैं, जहां इस हफ्ते तापमान असामान्य रूप से ज्यादा रहा है।

Advertisement

1,100 मकान जलकर खाक

जंगलों में लगी भीषण आग के घनी आबादी वाले इलाके में फैलने से लगभग 1,100 मकान जलकर खाक हो गए। वालपराइसो क्षेत्र में सबसे भीषण आग लगी। अधिकारियों ने लोगों से अपने घरों को नहीं छोड़ने का आग्रह किया ताकि दमकल की गाड़ियों, एम्बुलेंस और अन्य आपातकालीन वाहनों को आवाजाही में आसानी हो। वालपराइसो क्षेत्र में तीन आश्रय शिविर बनाए गये हैं। तोहा ने बताया कि बचाव दल अभी भी सबसे अधिक प्रभावित इलाकों तक पहुंचने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। चिली की गृह मंत्री ने बताया कि आग पर काबू पाने के लिए 19 हेलीकॉप्टर और 450 से अधिक दमकल कर्मियों को क्षेत्र में तैनात किया गया है।

Advertisement

देश के राष्ट्रपति गेब्रियल बोरिक ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा, "कम से कम 46 लोगों की मौत हो गई है और मृतक संख्या और बढ़ने की आशंका है क्योंकि वालपराइसो क्षेत्र में चार स्थानों पर भीषण आग लगी है और दमकलकर्मियों को अत्यधिक खतरे वाले इलाकों तक पहुंचने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है।" बोरिक ने चिलीवासियों से बचावकर्मियों के साथ सहयोग करने की अपील की। उन्होंने कहा, ‘‘अगर आपको इलाका खाली करने के लिए कहा जाता है तो ऐसा करने में संकोच न करें। आग तेजी से फैल रही है और जलवायु परिस्थितियों के कारण उस पर काबू पाना मुश्किल हो गया है। तापमान उच्च है, हवा तेज चल रही है और आर्द्रता कम है।’’

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो