scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

अमेरिका के सिनसिनाटी में एक और भारतीय छात्र की मौत, हफ्ते में तीसरा मामला : रिपोर्ट्स

अमेरिका में भारतीय छात्रों की मौत का एक हफ्ते के भीतर तीसरा मामला सामने आया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिनसिनाटी में ताजा मामले सामने आया है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Mohammad Qasim
नई दिल्ली | Updated: February 01, 2024 20:13 IST
अमेरिका के सिनसिनाटी में एक और भारतीय छात्र की मौत  हफ्ते में तीसरा मामला   रिपोर्ट्स
प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो : फाइल)
Advertisement

अमेरिका में एक हफ्ते के भीतर तीन भारतीय छात्रों की मौत हो चुकी है। यह दावा मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से किया जा रहा है। खबरों के मुताबिक सिनसिनाटी में एक भारतीय छात्र को मृत पाया गया है, हालांकि उसकी मौत के कारण फिलहाल सामने नहीं आए हैं लेकिन यह अमेरिका में रहने वाले छात्रों और उनके माता-पिता के लिए परेशानी का सबब बनता जा रहा है। एक हफ्ते के भीतर ऐसे तीन मामले सामने आ गए हैं।

एक हफ्ते में तीन मामले

अमेरिका में ऐसे तीन मामले सामने आ गए हैं। एक मामले 25 साल के विवेक सैनी को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। विवेक ने हाल ही में अमेरिका में एमबीए पूरा किया था। 16 जनवरी को एक ड्रग एडिक्ट जूलियन फॉल्कनर ने उसपर पर बेरहमी से हमला किया था। दरअसल फॉल्कनर बेघर था और विवेक सैनी ने उसे चिप्स, पानी, कोक और एक जैकेट देकर इंसानियत दिखाई दी। लेकिन जब विवेक ने उससे जाने के लिए कहा तो उसने हथोड़ी से उसपर हमला कर दिया और विवेक की जान चली गई।

Advertisement

ऐसे ही दूसरे मामले में पर्ड्यू विश्वविद्यालय में कंप्यूटर विज्ञान के प्रमुख नील आचार्य की हत्या हो गई थी। वह 28 जनवरी को लापता हो गए थ। बाद में उनका शव विश्वविद्यालय परिसर में पाया गया। नील की मां गौरी आचार्य ने अपने लापता बेटे के बारे में जानकारी देने की अपील करते हुए सोशल मीडिया पर मदद मांगी। फिलहाल उनकी मौत के कारण सामने नहीं आ सके हैं।

इस मामले को लेकर नील आचार्य की मां ने बेटे के लापता होने की जानकारी सबसे पहले सामने रखी थी, जिसके बाद मामला सोशल मीडिया पर आया लोग लिखने लगे। फिलहाल नील की मौत की वजह साफ नहीं हो सकी है। पहले मामले को लेकर भी स्पष्ट जानकारी सामने नहीं आ सकी है। इससे पहले भी अमेरिका में इस तरह के मामले सामने आते रहे हैं।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो