scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

घाना में 63 साल के धार्मिक नेता ने 12 साल की लड़की से की शादी, लोगों का गुस्सा फूटा

समुदाय के नेता एनआईआई बोर्टे कोफी फ्रैंकवा द्वितीय ने कहा कि धार्मिक नेता की आलोचना केवल धार्मिक अज्ञानता की वजह से हो रही है।
Written by: न्यूज डेस्क
Updated: April 03, 2024 14:24 IST
घाना में 63 साल के धार्मिक नेता ने 12 साल की लड़की से की शादी  लोगों का गुस्सा फूटा
प्रतीकात्मक तस्वीर। (इमेज- एपी)
Advertisement

पूरी दुनिया में संतो को सम्मान की नजरों से देखा जाता है। ऐसा माना जाता है कि वह ब्रह्मचर्य का पालन करते हैं। लेकिन कुछ समुदाय के रीति-रिवाज अलग होते हैं। जब हमें इनके बारे में पता चलता है तो हम सभी हैरान रह जाते हैं। ऐसी ही एक जानकारी अफ्रीकी देश घाना से आई है। घाना में एक 63 साल के धार्मिक नेता ने 12 साल की एक लड़की से शादी कर ली। इसके बाद लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है।

नुंगुआ समुदाय घाना में रहता है। उनके रीति-रिवाज अनोखे हैं। दो दिन पहले उनके धार्मिक नेता नुउमो बोरकेते लावेह त्सुरु ने अपने ही समुदाय की 12 साल की लड़की से शादी की। यहां पर भी शादी करने की न्यूनतम उम्र 18 साल है। इस शादी में समुदाय के कई लोग इकट्ठा हुए। कई लोग लड़की को पत्नी के रूप में कर्तव्य के गुण सिखाते हुए भी नजर आए। इसके साथ ही, घाना के कई लोगों ने नाराजगी जाहिर की है।

Advertisement

सोशल मीडिया पर दी प्रतिक्रियाएं

इस वीडियो और फोटो के वायरल होने के बाद घाना के एक व्यक्ति ने फेसबुक पर लिखा कि घाना में बाल विवाह को जुर्म माना गया है और ऐसा कोई भी संस्कार नहीं मनाया जाना चाहिए जो किसी लड़की के अधिकारों को उल्लघंन करता है। वहीं, एक दूसरे व्यक्ति ने कमेंट करते हुए कहा कि इस देश में बहुत सारी चीजें गलत हैं। उसने कहा कि 12 साल की लड़की पत्नी कैसे बनेगी। यह एक मजाक है।

समुदाय की तरफ से दिया गया ये बयान

शादी के बाद समुदाय की तरफ से एक बयान सामने आया है। समुदाय के नेता एनआईआई बोर्टे कोफी फ्रैंकवा द्वितीय ने कहा कि धार्मिक नेता की आलोचना केवल धार्मिक अज्ञानता की वजह से हो रही है। यह शादी रिवाज और परंपरा के मुताबिक हुई है। समुदाय ने यह भी कहा कि यह लड़की 6 साल की उम्र से ही पुजारी को पति के रूप में पाने के लिए तपस्या कर रही थी। इससे उसकी पढ़ाई बिल्कुल नहीं रुकी। ना ही उसके दैनिक जीवन पर कोई भी असर पड़ा। उसे पूरे रीति रिवाज के तहत पत्नी बनाया गया है। श्री त्सुरु नुंगुआ समुदाय के सबसे बड़े धार्मिक नेता हैं। वे हमारे समुदाय की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करते हैं।

Advertisement

घाना सरकार ने नहीं दी कोई प्रतिक्रिया

वहीं, बता दें कि घाना सरकार की तरफ से अभी कोई भी प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। विवाह के लिए कानूनी न्यूनतम आयु 18 साल है। यहां पर कुछ क्षेत्रों और समुदायों में ऐसी शादियां अभी भी जारी हैं।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो