scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

महिलाओं में क्यों होता है सफेद डिस्चार्ज, कब करनी चाहिए चिंता? जानें कैसे पाएं इस परेशानी से छुटकारा

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, महिलाओं में सफेद डिस्चार्ज के पीछे कई कारण जिम्मेदार हो सकते हैं। इनमें से कुछ सामान्य होते हैं, तो कुछ सेहत से जुड़ी परेशानियों की ओर इशारा भी हो सकते हैं।
Written by: हेल्थ डेस्क | Edited By: Shreya Tyagi
नई दिल्ली | March 31, 2024 15:42 IST
महिलाओं में क्यों होता है सफेद डिस्चार्ज  कब करनी चाहिए चिंता  जानें कैसे पाएं इस परेशानी से छुटकारा
सफेद डिस्चार्ज के चलते ना केवल असजहता का एहसास बढ़ जाता है, बल्कि प्राइवेट पार्ट में खुजली, यीस्ट इंफेक्शन आदि समस्याएं भी घेर लेती हैं। (P.C- Freepik)
Advertisement

सफेद डिस्चार्ज महिलाओं में होने वाली सबसे आम समस्याओं में से एक है। इसके चलते ना केवल असजहता का एहसास बढ़ जाता है, बल्कि प्राइवेट पार्ट में खुजली, यीस्ट इंफेक्शन आदि समस्याएं भी घेर लेती हैं। इतना ही नहीं, कई बार समस्या इतनी बढ़ जाती है कि महिलाएं घर से बाहर निकलने में भी संकोच करने लगती हैं। ऐसे में अगर आप भी इस तरह की समस्या से परेशान हैं, तो ये आर्टिकल आपके लिए मददगार साबित हो सकता है। यहां हम आपको व्हाइट डिस्चार्ज से छुटकारा पाने के कुछ असरदार तरीकों के बारे में बता रहे हैं।

इससे पहले जान लेते हैं कि आखिर ये परेशानी होती क्यों है?

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, महिलाओं में सफेद डिस्चार्ज के पीछे कई कारण जिम्मेदार हो सकते हैं। इनमें से कुछ सामान्य होते हैं, तो कुछ सेहत से जुड़ी परेशानियों की ओर इशारा भी हो सकते हैं। जैसे- शारीरिक संबंध से पहले व्हाइट डिस्चार्ज होना एक दम सामान्य है, यौन उत्तेजना बढ़ने पर वेजाइना और सर्विक्स में मौजूद ग्लैंड से इस तरह का डिस्चार्ज बढ़ जाता है। साथ ही पीरियड साइकल की शुरुआत और अंत में सफेद डिस्चार्ज होता है, जो भी सामान्य है। हालांकि, इन दोनों स्थिति से अलग भी अगर आप इस तरह की परेशानी का सामना करती हैं, तो ये खराब सेहत, यूरीनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन, सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज, गोनोरिया, बैक्टीरियल वेजिनोसिस आदि गंभीर कारणों के चलते हो सकता है।

Advertisement

कब है चिंता की बात?

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, अगर डिस्चार्ज का रंग सफेद होने से अलग हल्का भूरा, जंग जैसा, हरा या पीला है, तो यह एक गंभीर चिंता का विषय हो सकता है। इससे अलग अगर सफेद डिस्चार्ज भी बहुत अधिक है, तो ऐसे में भी आपको डॉक्टर से सलाह लेने की जरूरत है। अधिक मात्रा में डिस्चार्ज योनि में खुजली और इंफेक्शन के खतरे को अधिक बढ़ा सकता है।

कैसे पाएं छुटकारा?

मेथी दाना

कई हेल्थ रिपोर्ट्स बताती हैं कि मेथी दाना व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या को कम करने में मदद कर सकता है। इसके लिए 2 चम्मच मेथी दानों को 2 गिलास पानी में तब तक उबालें जब तक पानी आधा न रह जाए, इसके बाद पानी के हल्के गुनगुना होने पर इसका सेवन करें।

Advertisement

धनिया के बीज

मेथी दाना से अलग धनिया के बीजों का पानी भी फायदेमंद हो सकता है। इसके लिए एक चम्मच धनिया के बीजों को रातभर के लिए एक गिलास पानी में भिगोकर रख दें और सुबह खाली पेट इसका सेवन करें। ऐसा करने पर आपको 2 से 3 दिन के अंदर आराम मिल सकता है।

Advertisement

आंवला

इन सब से अलग आंवला भी सफेद डिस्चार्ज की समस्या को कम करने में मदद कर सकता है। आप इसे कच्चा, पाउडर, मुरब्बा या घर पर बनी कैंडीज, किसी भी रूप में खा सकते हैं।

इन तीनों चीजों का सेवन आपको राहत दिला सकता है, लेकिन यह उचित चिकित्सा उपचार का विकल्प नहीं है। अगर डिस्चार्ज बहुत अधिक है, तो सही सलाह और उपचार के लिए स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करना भी महत्वपूर्ण है।

Disclaimer: आर्टिकल में लिखी गई सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य जानकारी है। किसी भी प्रकार की समस्या या सवाल के लिए डॉक्टर से जरूर परामर्श करें।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो