scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

हाई यूरिक एसिड से परेशान लोग सोने से पहले दूध में मिलाकर पी लें ये पाउडर, जोड़ों में जमा टॉक्सिन और दर्द से मिल जाएगा छुटकारा

यूरिक एसिड की ज्यादा मात्रा के चलते व्यक्ति को जोड़ों में तेज दर्द, अकड़न, सूजन और गाउट जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। कई बार तो ये दर्द इतना बढ़ जाता है कि पीड़ित को चलने-फिरने में भी परेशानी होने लगती है।
Written by: हेल्थ डेस्क
नई दिल्ली | Updated: March 20, 2024 08:45 IST
हाई यूरिक एसिड से परेशान लोग सोने से पहले दूध में मिलाकर पी लें ये पाउडर  जोड़ों में जमा टॉक्सिन और दर्द से मिल जाएगा छुटकारा
हाई यूरिक एसिड से निजात पाने के लिए बाजार में तमाम तरह की दवाएं उपलब्ध हैं, हालांकि आप चाहें तो नेचुरल तरीके से भी इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। (P.C- Freepik)
Advertisement

यूरिक एसिड हमारे खून में पाया जाने वाला एक अपशिष्ट उत्पाद है, जो प्यूरीन नामक रसायन के टूटने पर बनता है। ये प्यूरीन कुछ खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। यानी हमारे भोजन से हमें प्यूरीन मिलता है। वहीं, आमतौर पर किडनी यूरिक एसिड को फिल्टर कर पेशाब के रास्ते शरीर से बाहर कर देती हैं, लेकिन ज्यादा मात्रा में होने पर किडनी भी इसे फिल्टर करने में असमर्थ हो जाती हैं। इस स्थिति में यूरिक एसिड व्यक्ति के जोड़ों में क्रिस्टल बनकर जमने लगता है। इससे हड्डियों के बीच में गैप हो जाता है, हड्डियां बेहद कमजोर हो जाती हैं और व्यक्ति को तमाम तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

यूरिक एसिड की ज्यादा मात्रा के चलते व्यक्ति को जोड़ों में तेज दर्द, अकड़न, सूजन और गाउट जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। कई बार तो ये दर्द इतना बढ़ जाता है कि पीड़ित को चलने-फिरने में भी परेशानी होने लगती है। इतना ही नहीं, हाई यूरिक एसिड का खराब असर किडनी पर भी पड़ता है। ऐसे में इन टॉक्सिन को कंट्रोल करना और जरूरी हो जाता है।

Advertisement

ये पाउडर है असरदार

वैसे तो हाई यूरिक एसिड से निजात पाने के लिए बाजार में तमाम तरह की दवाएं उपलब्ध हैं, हालांकि आप चाहें तो नेचुरल तरीके से भी इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। यहां हम आपको एक ऐसे ही नेचुरल तरीके के बारे में बता रहे हैं।

क्या है खास तरीका?

दरअसल, कई हेल्थ रिपोर्ट्स बताती हैं कि अश्वगंधा का सेवन शरीर में जमा यूरिक एसिड टॉक्सिन और इसके चलते होने वाले जोड़ों में दर्द से छुटकारा पाने में असरदार साबित हो सकता है। अश्वगंधा में कई औषधीय गुण होते हैं जो शरीर में बढ़ती यूरिक एसिड की मात्रा को कम करने में असर दिखाते हैं। इसके अलावा इसमें मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी गुण शरीर में सूजन और दर्द को कम करने के लिए बहुत उपयोगी होते हैं। ऐसे में नियमित तौर पर थोड़ी मात्रा में भी इस आयुर्वेदिक पाउडर का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

Advertisement

इस तरह खाने से मिलेगा फायदा

यूरिक एसिड के लेवल को कम करने के लिए अश्वगंधा का प्रयोग कई तरीके से किया जा सकता है। इसके लिए आप एक चम्मच अश्वगंधा पाउडर को आधा चम्मच शहद के साथ ले सकते हैं। इसके साथ ही अश्वगंधा के एक चम्मच पाउडर को आप सोने से पहले दूध में मिलकर भी पी सकते हैं। ऐसा करने पर आपको जल्द ही समस्या से राहत मिल सकती है।

Disclaimer: आर्टिकल में लिखी गई सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य जानकारी है। किसी भी प्रकार की समस्या या सवाल के लिए डॉक्टर से जरूर परामर्श करें।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो