scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

ऑटोप्सी रिपोर्ट में Mukhtar Ansari के दिल पर दिखा 'Yellow Spot', हार्ट में पीले एरिया का क्या है मतलब? जानें क्यों होता है ऐसा

मौत के बाद पांच डॉक्टरों के पैनल ने मुख्तार अंसारी का पोस्टमार्टम किया था। वहीं, डॉक्टर्स की इस टीम का कहना है कि गैंगस्टर के दिल में एक येलो स्पॉट मिला था। हार्ट का 1.9X1.5 का एरिया पीला पड़ चुका था।
Written by: हेल्थ डेस्क | Edited By: Shreya Tyagi
नई दिल्ली | Updated: April 01, 2024 17:40 IST
ऑटोप्सी रिपोर्ट में mukhtar ansari के दिल पर दिखा  yellow spot   हार्ट में पीले एरिया का क्या है मतलब  जानें क्यों होता है ऐसा
एक रिपोर्ट के मुताबिक, मुख्तार अंसारी की ऑटोप्सी रिपोर्ट में उसके दिल में एक पीले स्पॉट का भी जिक्र किया गया है। (P.C- Freepik)
Advertisement

गैंगस्टर से नेता बना मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) 30 मार्च को सुपुर्द ए खाक हो गया। बीते 28 मार्च को गैंगस्टर की मौत की खबर सामने आई थी, जिसके ठीक दो दिन बाद ऑटोप्सी रिपोर्ट में हार्ट अटैक को मौत का कारण बताया गया। इससे अलग हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, मुख्तार अंसारी की ऑटोप्सी रिपोर्ट में उसके दिल में एक पीले स्पॉट का भी जिक्र किया गया है।

रिपोर्ट के अनुसार, मौत के बाद पांच डॉक्टरों के पैनल ने मुख्तार अंसारी का पोस्टमार्टम किया था। वहीं, डॉक्टर्स की इस टीम का कहना है कि गैंगस्टर के दिल में एक येलो स्पॉट मिला था। हार्ट का 1.9X1.5 का एरिया पीला पड़ चुका था।

Advertisement

क्या है इस पीले स्पॉट का मतलब?

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, ब्लड क्लॉट जमने की स्थिति में हार्ट का हिस्सा पीला पड़ने लगता है। आसान भाषा में कहें, ऐसा रक्त वाहिका में खून का थक्का जमने के कारण होता है। वहीं, रक्त वाहिका में अचानक थक्का बनने के कारण, हृदय के एक हिस्से को ऑक्सीजन युक्त रक्त मिलना बंद हो जाता है। ऐसे में व्यक्ति को हार्ट अटैक आता है, जो अधिकतर मामालों में जानलेवा साबित होता है।

कैसे करें पहचान?

एक्सपर्ट्स बताते हैं कि जिन लोगों को समय-समय पर हाथ पैरों के सुन्न पड़ जाने की शिकायत रहती है या शरीर के किसी भी हिस्से पर खासकर पैरों में झनझनाहट महसूस होती है, वे एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लें। ऐसा होना रक्त वाहिका में थक्के जमने की ओर इशारा हो सकता है। इसके अलावा रात को सोते समय या सुबह उठने पर अचानक सांस फूलने जैसा अहसास हो तो भी तुरंत सतर्कता बरतें।

Advertisement

किन लोगों को है अधिक खतरा?

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, हाई बीपी, डायबिटीज और कोलेस्ट्रॉल के मरीजों में खून के थक्के बनने का खतरा अधिक रहता है। ऐसे लोग समय-समय पर अपनी जांच कराते रहें।

Advertisement

ये आदतें बढ़ा सकती हैं खतरा?

वहीं, इन तमाम बीमारियों से अलग हेल्थ एक्सपर्ट्स बताते हैं कि खानपान और लाइफस्टाइल की कुछ खराब आदतें भी खून में थक्का जमने के खतरे को अधिक बढ़ाकर हार्ट अटैक का कारण बन सकती हैं। जैसे-

  • धूम्रपान
  • ऑयली फूड का ज्यादा सेवन
  • शारीरिक गतिविधियों में कमी
  • बहुत लंबे समय तक एक ही जगह बैठे रहना
  • गर्भनिरोधक गोलियों का ज्यादा सेवन करने
  • शुगर का अत्यधिक सेवन, आदि।

अच्छी हार्ट हेल्थ के लिए इन आदतों से दूरी बनाना जरूरी है।

Disclaimer: आर्टिकल में लिखी गई सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य जानकारी है। किसी भी प्रकार की समस्या या सवाल के लिए डॉक्टर से जरूर परामर्श करें।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो