scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

डायबिटीज के मरीज कैसे पहचानें ब्लड शुगर लो हो गया है? ये लक्षण दिखते ही तुरंत जाएं डॉक्टर के पास

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, एक हेल्दी व्यक्ति में 90 से 110 mg/dl फास्टिंग ब्लड शुगर हो, तो ये नॉर्मल स्थिति है। इसके अलावा अगर खाना खाने के बाद बल्ड शुगर लेवल 140 mg/dL तक या इससे नीचे है, तो भी ये नॉर्मल ही है।
Written by: हेल्थ डेस्क | Edited By: Shreya Tyagi
नई दिल्ली | Updated: January 28, 2024 08:00 IST
डायबिटीज के मरीज कैसे पहचानें ब्लड शुगर लो हो गया है  ये लक्षण दिखते ही तुरंत जाएं डॉक्टर के पास
डायबिटीज की दवा की अधिकता या इंसुलिन लेने के साथ शुगर कम करने वाले अन्य उपाय हाइपोग्लाइसीमिया का कारण बन सकते हैं। (P.C- Freepik)
Advertisement

डायबिटीज एक लाइलाज बीमारी है, जिसके मामले लगातार बढ़ रहे हैं। बड़ों से लेकर युवाओं और बच्चों तक को भी ये गंभीर बीमारी अपना शिकार बना रही है। ये अनुवांशिक भी हो सकती है, जिसे टाइप 1 डायबिटीज कहा जाता है। वहीं, टाइप 2 डायबिटीज के पीछे हेल्थ एक्सपर्ट्स खराब खानपान और अनहेल्दी लाइफस्टाइल को अहम कारण बताते हैं।

वहीं, डायबिटीज के शिकार लोगों में अक्सर शुगर लेवल अधिक होने की समस्या देखी जाती है। शरीर में इंसुलिन की कमी या जब सेल्स इंसुलिन का सही तरीके से इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं, तब ब्लड में शुगर लेवल बढ़ जाता है और डायबिटीज की समस्या होती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि शुगर बढ़ना ही नहीं, बल्कि ब्लड में शुगर का कम होना भी खतरनाक हो सकता है?

Advertisement

कितना होना चाहिए शुगर लेवल?

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, एक हेल्दी व्यक्ति में 90 से 110 mg/dl फास्टिंग ब्लड शुगर हो, तो ये नॉर्मल स्थिति है। इसके अलावा अगर खाना खाने के बाद बल्ड शुगर लेवल 140 mg/dL तक या इससे नीचे है, तो भी ये नॉर्मल ही है। हालांकि, अगर आपका शुगर लेवल अक्सर 70 मिलीग्राम/डीएल से भी कम बना रहता है, तो इसे लो शुगर माना जाता है। इस स्थिति को हाइपोग्लाइसीमिया (Hypoglycemia) कहा जाता है। ये स्थिति अक्सर टाइप 1 डायबिटीज के पीड़ित लोगों में देखने को मिलती है लेकिन टाइप-2 डायबिटीज के मरीजों को भी इससे जूझना पड़ सकता है। साथ ही जिन लोगों को डायबिटीज नहीं है, उन्हें भी हाइपोग्लाइसीमिया का सामना करना पड़ सकता है।

दरअसल, डायबिटीज की दवा की अधिकता या इंसुलिन लेने के साथ शुगर कम करने वाले अन्य उपाय हाइपोग्लाइसीमिया का कारण बन सकते हैं। इसके अलावा बिना कुछ खाए भारी मात्रा में शराब पीने से भी अचानक से शुगर का लेवल डाउन हो सकता है। वहीं, अगर समय रहते इसपर ध्यान न दिया जाए तो स्थिति जानलेवा भी हो सकती है।

Advertisement

अब, सवाल ये आता है कि आखिर पेशेंट को कैसे पता चलेगा कि उसका ब्लड शुगर लेवल लो हो गया है? इसके लिए हम आपको हाइपोग्लाइसीमिया की स्थिति में नजर आने वाले कुछ आम लक्षणों के बारे में बता रहे हैं।

इन लक्षणों से करें पहचान

  • अचानक सिर में तेज दर्द होना
  • दौरा पड़ना
  • झटके आना
  • जबड़ों का सख्त होना
  • बिना वजह बहुत अधिक पसीना आना
  • दिल की धड़कनों का तेज होना
  • चक्कर आना
  • बेचैनी
  • बहुत जोर से भूख लगना
  • झुंझलाहट
  • चेहरे का सुन्न पड़ जाना
  • बेहोश हो जाना
  • बोलने में तकलीफ होना
  • धुंधला दिखना
  • त्वचा का अचानक से सफेद या पीला होना
  • कन्फ्यूजन या कुछ समझ नहीं आना

इन लक्षणों के नजर आते ही सबसे पहले शुगर लेवल की जांच करें और ब्लड शुगर लो होने पर तुरंत डॉक्टर के पास जाएं। इस स्थिति में लापरवाही और देरी पीड़ित के लिए जानलेवा भी साबित हो सकती है।

Disclaimer: आर्टिकल में लिखी गई सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य जानकारी है। किसी भी प्रकार की समस्या या सवाल के लिए डॉक्टर से जरूर परामर्श करें।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो