scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Cooking Oil Side Effect: 99% बीमारियों की जड़ है ये कुकिंग ऑयल, इसमें खाना पकाना छोड़ दें, 90 फीसदी बीमारियां अपने आप हो जाएंगी ठीक

आयुर्वेदिक और यूनानी दवाओं के एक्सपर्ट डॉक्टर सलीम जैदी ने बताया कि मार्केट में मौजूद तरह-तरह के रिफाइंड ऑयल देखने में क्रिस्टल, क्लियर और चमकदार होते हैं जो सेहत को दागदार बना सकते हैं।
Written by: Shahina Noor
नई दिल्ली | Updated: July 11, 2024 14:20 IST
cooking oil side effect  99  बीमारियों की जड़ है ये कुकिंग ऑयल  इसमें खाना पकाना छोड़ दें  90 फीसदी बीमारियां अपने आप हो जाएंगी ठीक
इन तेलों के रिफाइनिंग प्रोसेस के दौरान इसमें से जरूरी फैटी एसिड, मिनरल्स, विटामिन और एंटी-ऑक्सीडेंट रिमूव हो जाते हैं और ये कई बीमारियों का कारण बनते हैं।
Advertisement

कुकिंग ऑयल हमारे खाने का अहम हिस्सा है जिसका सेवन हमारे खाने का स्वाद और रूप दोनों बढ़ाता है। भारत में लोग खाना पकाने के लिए कई तरह के तेल का इस्तेमाल करते हैं। मार्केट में कुकिंग ऑयल के इतने ऑप्शन मौजूद है कि उनमें से बेस्ट तेल का चुनाव करना मुश्किल पड़ जाता है। हर तेल पर उसके बेनेफिट्स देखकर इंसान कंफ्यूज हो जाता है। ज्यादातर तेल कोलेस्ट्रॉल फ्री और हार्ट हेल्दी होने का दावा करते हैं। आप जानते हैं कि मार्केट में मौजूद तरह-तरह के रिफाइंड ऑयल आपकी बॉडी पर ज़हर की तरह काम करते हैं।

Advertisement

आयुर्वेदिक और यूनानी दवाओं के एक्सपर्ट डॉक्टर सलीम जैदी ने बताया कि मार्केट में मौजूद तरह-तरह के रिफाइंड ऑयल को बनाने के लिए हाई टेंपरेचर और केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है और केमिकल की मदद से इन ऑयल को साफ करके चमकदार बनाया जाता है। क्रिस्टल, क्लियर और चमकदार दिखने वाला कुकिंग आयल आपकी सेहत को दागदार बना सकता है।

Advertisement

इन तेलों के रिफाइनिंग प्रोसेस के दौरान इसमें से जरूरी फैटी एसिड, मिनरल्स, विटामिन और एंटी-ऑक्सीडेंट रिमूव हो जाते हैं जिससे इन तेलों की न्यूट्रिशन वैल्यू कम हो जाती है। बात सिर्फ न्यूट्रीशनल वैल्यू की नहीं है ये तेल हमारी बॉडी में होने वाली कई बड़ी बीमारियों का कारण बनते हैं। आइए जानते हैं कि इन कुकिंग ऑयल का सेवन करने से बॉडी में कौन-कौन सी बीमारियां होती हैं।

कोलेस्ट्रॉल बढ़ाते हैं ये रिफाइंड तेल

रिफाइंड ऑयल में ट्रांस फैट मौजूद होते हैं जो हमारी बॉडी में LDL यानि खराब कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाते हैं और HDL को घटाने का काम करते हैं। इन तेल में ओमेगा-3 फैटी एसिड और ओमेगा-6 फैटी एसिड का बैलेंस रेशों नहीं होता जो नसों में इंफ्लामेशन को बढ़ा देता है जिससे हार्ट में ब्लॉकेज होने का खतरा ज्यादा रहता है। दिल की सेहत को बिगाड़ने में ये तेल ज़हर का काम करते हैं।

Advertisement

मोटापा का बनता है कारण

मोटापा आजकल दुनिया भर में महामारी की तरह फैल गया है जिसके लिए काफी हद तक ये कुकिंग ऑयल जिम्मेदार हैं। रिफाइंड ऑयल में हाई सैचुरेटेड फैट मौजूद होता है जो न सिर्फ दिल को नुकसान पहुंचाता है बल्कि मोटापा का भी कारण बनता है। रिफाइंड तेलों में अक्सर अनहेल्दी वसा की मात्रा अधिक होती है जो वजन बढ़ाने में असरदार साबित होती है।

रिफाइंड ऑयल से बढ़ता है डायबिटीज का खतरा

रिफाइंड ऑयल का सेवन करने से इंसुलिन कम असर कर पाता है और बॉडी में डायबिटीज का खतरा बढ़ने लगता है। इसका सेवन करने से बॉडी में ट्रांस फैट की मात्रा बढ़ने लगती है जो इंसुलिन के लेवल को बढ़ाने का काम करती है। अगर आप डायबिटीज से बचाव करना चाहते हैं तो इस तेल का सेवन करना छोड़ दें।

कौन से तेल का करें सेवन

ओवर ऑल हेल्थ को दुरुस्त करना है तो आप हमेशा कोल्ड प्रेस ऑयल का सेवन करें। इन तेलों में न्यूट्रिशन वैल्यू ज्यादा होती है। इन तेलों का सेवन करने से बॉडी में कोलेस्ट्रॉल का स्तर कंट्रोल रहता है और दिल की सेहत दुरुस्त रहती है। इन ऑयल में नेचुरल एंटीऑक्सीडेंट जैसे विटामिन ई, फिनॉल्स और फ्लेवोनॉयड भरपूर मात्रा में मौजूद होता है जो बॉडी को फ्री रेडिकल डैमेज से बचाने का काम करते हैं। ये एंटीऑक्सीडेंट स्किन को हेल्दी रखने के साथ-साथ हमारी ओवर ऑल हेल्थ को भी दुरुस्त करते हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो