scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

खराब पाचन और कब्ज से परेशान रहते हैं? डाइट में शामिल कर लें ये 5 सूपरफूड्स, एक्सपर्ट ने बताया हमेशा दुरुस्त रहेगी गट हेल्थ

डाइटिशियन एकता बताती हैं, पोषक तत्वों, एंटीऑक्सिडेंट और फाइबर से भरपूर फूड का सेवन आंत के स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी है। इस तरह का भोजन आंत में लाभकारी बैक्टीरिया के विकास को बढ़ाता है, जिसे आपका खाना बेहतर तरीके से पच पाता है और आपको पेट से जुड़ी तमाम तरह की परेशानियों से राहत मिल जाती है।
Written by: हेल्थ डेस्क | Edited By: Shreya Tyagi
नई दिल्ली | March 02, 2024 14:17 IST
खराब पाचन और कब्ज से परेशान रहते हैं  डाइट में शामिल कर लें ये 5 सूपरफूड्स  एक्सपर्ट ने बताया हमेशा दुरुस्त रहेगी गट हेल्थ
आइए जानते हैं 5 सूपरफूड्स के बारे में जिन्हें डाइट का हिस्सा बनाकर आप अपनी गट हेल्थ को बेहतर बना सकते हैं और कब्ज जैसी परेशानियों से निजात पा सकते हैं। (P.C- Freepik)
Advertisement

क्या आप भी खराब पाचन और इसके चलते होने वाली कब्ज जैसी गंभीर समस्या से परेशान हैं? अगर हां, तो बता दें कि इसके पीछे आपका अनहेल्दी खानपान अहम कारण हो सकता है। दरअसल, पोषक तत्वों से भरपूर डाइट न लेने और पर्याप्त पानी न पीने से पाचन पर प्रभाव पड़ने लगता है, जिससे फिर मल त्यागने में परेशानी होने लगती है और यही कब्ज का कारण बन जाता है। ऐसे में पाचन को दुरुस्त रखने के लिए खानपान का सही रहना सबसे अधिक जरूरी है। इसी कड़ी में इंडियन एक्सप्रेस संग हुई एक खास बातचीत के दौरान उजाला सिग्नस ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स की आहार विशेषज्ञ एकता सिंहवाल ने 5 ऐसे सूपरफूड्स बताए हैं, जो गट हेल्थ को हमेशा दुरुस्त बनाए रखने में मददगार हो सकते हैं।

क्या कहती हैं एक्सपर्ट?

डाइटिशियन एकता बताती हैं, पोषक तत्वों, एंटीऑक्सिडेंट और फाइबर से भरपूर फूड का सेवन आंत के स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी है। इस तरह का भोजन आंत में लाभकारी बैक्टीरिया के विकास को बढ़ाता है, जिसे आपका खाना बेहतर तरीके से पच पाता है और आपको पेट से जुड़ी तमाम तरह की परेशानियों से राहत मिल जाती है। आइए जानते हैं ऐसे ही 5 सूपरफूड्स के बारे में जिन्हें डाइट का हिस्सा बनाकर आप अपनी गट हेल्थ को बेहतर बना सकते हैं और कब्ज जैसी परेशानियों से निजात पा सकते हैं।

Advertisement

दही और फर्मेंटेड फूड

एकता सिंहवाल के मुताबिक, प्रोबायोटिक्स आंत के स्वास्थ्य के लिए सुपरहीरो हैं। वहीं, दही और अन्य फर्मेंटेड फूड इन लाभकारी बैक्टीरिया के समृद्ध स्रोत हैं। ये आंत में सूक्ष्मजीवों (Microorganisms) के स्वस्थ संतुलन को बनाए रखने, पाचन में सहायता करने और प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में मदद करते हैं। ऐसे में अगर आपका पाचन खराब रहता है तो आप अपने आहार में दही और फर्मेंटेड फूड को शामिल कर सकते हैं।

बैरीज

एंटीऑक्सिडेंट, फाइबर और विटामिन से भरपूर बैरीज न केवल खाने में बेहद स्वादिष्ट लगती हैं, बल्कि ये आपके पेट के लिए भी महत्वपूर्ण लाभ प्रदान करती हैं। बैरीज में मौजूद फाइबर मल त्याग को बढ़ावा देता है और लाभकारी आंत बैक्टीरिया के विकास में सहायता करता है। खासकर ब्लूबेरी, रास्पबेरी और स्ट्रॉबेरी पॉलीफेनोल्स से भरपूर होती हैं, जो विविध आंत माइक्रोबायोटा की संख्या बढ़ाकर आपको फायदा पहुंचा सकती हैं।

Advertisement

पत्तेदार साग

पालक, केल और अन्य पत्तेदार सब्जियां भी पोषण संबंधी पावरहाउस हैं जो आंत के स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं। फाइबर से भरपूर, पत्तेदार साग कब्ज की परेशानी पर असर दिखाता है और स्वस्थ आंत की परत (Healthy Gut Lining) का समर्थन करता है। इसके अतिरिक्त, साग में विभिन्न विटामिन और खनिज होते हैं, जो समग्र पाचन स्वास्थ्य में योगदान करते हैं।

Advertisement

अदरक

अपने सूजन-रोधी गुणों के लिए जाना जाने वाला अदरक का उपयोग सदियों से पाचन संबंधी परेशानी को कम करने के लिए किया जाता रहा है। यह पाचन तंत्र को शांत करने, सूजन को कम करने और पोषक तत्वों के अवशोषण को बढ़ावा देने में सहायता करता है। डाइटिशियन के मुताबिक, अपने भोजन में ताजा अदरक शामिल करें, इससे अलग आप अदरक के पानी का या इससे तैयार हर्बल टी का सेवन भी कर सकते हैं।

चिया सीड्स

इन सब से अलग डाइटिशियन चिया सीड्स को डाइट का हिस्सा बनाने की सलाह देती हैं। एकता सिंहवाल के मुताबिक, चिया सीड्स फाइबर और ओमेगा-3 फैटी एसिड का समृद्ध स्रोत हैं, जो इन्हें आंत के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए एक बेहतरीन विकल्प बनाते हैं। वहीं, इन सीड्स को पानी में भिगोने पर, ये एक जेल जैसा पदार्थ बन जाते हैं जो मल त्याग को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं, साथ ही आंत में लाभकारी बैक्टीरिया के विकास में भी सहायता करते हैं।

Disclaimer: आर्टिकल में लिखी गई सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य जानकारी है। किसी भी प्रकार की समस्या या सवाल के लिए डॉक्टर से जरूर परामर्श करें।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो