scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

हम जाति-पाति में लगे रहते हैं और वो हमारी बहन-बेटियों को ले जाते हैं, बोलीं बबीता फोगाट

बबीता फोगाट हरियाणा के चरखी दादरी में कन्हैयालाल को श्रद्धांजलि देने के लिए पहुंची थी और इस दौरान उन्होंने कहा कि दूसरी ओर से भी भाईचारे की पहल होनी चाहिए।
Written by: जनसत्ता ऑनलाइन | Edited By: Nitesh Dubey
Updated: July 05, 2022 16:10 IST
हम जाति पाति में लगे रहते हैं और वो हमारी बहन बेटियों को ले जाते हैं  बोलीं बबीता फोगाट
बबीता फोगाट (file photo)
Advertisement

राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के बाद पूरे देश में इसकी चर्चा हो रही है। वहीं इस मुद्दे पर राजनीति भी हो रही है और राजस्थान की कांग्रेस सरकार को कटघरे में खड़ा किया जा रहा है। इसी क्रम में बीजेपी नेत्री और अंतरराष्ट्रीय रेसलर बबीता फोगाट ने विवादित बयान दे दिया है और कहा है कि आग सिर्फ कन्हैयालाल के घर पर ही नहीं लगी है, बल्कि हिंदुत्व में भी लगी है।

हरियाणा के चरखी दादरी के एक गांव में उदयपुर में मारे गए कन्हैयालाल को श्रद्धांजलि देने के लिए एक सभा बुलाई गई थी, जिसमे रेसलर बबीता फोगाट भी पहुंची थीं। इस दौरान बबीता फोगाट ने उदयपुर की घटना को आतंकी घटना करार दे दिया। बबीता फोगाट ने विवादित बयान देते हुए कह दिया कि वह हमारी बहन बेटियों को ले जाते हैं, तुम भी उनकी बहन बेटियों को ले आओ।

Advertisement

बबीता फोगाट ने विवादित बयान देते हुए कहा, "हमारा धर्म इतना आसान हो गया है कि कोई भी आएगा और धर्म परिवर्तन करके चला जायेगा। हमारी बहन-बेटियों का धर्म परिवर्तन करके ले कर चले जाएंगे। यहां पर हम जाति-पाति में बंटे रहते हैं। कभी सोचा है इसके ऊपर। मैं नौजवान भाइयों से अपील करूंगी कि अपनी बहनों-बेटियों की रक्षा कीजिये। क्या तुम्हारे अन्दर इतनी हिम्मत नहीं है कि वो तुम्हारी बहन-बेटियों को लेकर जाते हैं, तो तुम उनकी बहन बेटियों को लेकर आओ?"

बबीता फोगाट ने आगे कहा, "नूपुर बहन का उन्होंने (कन्हैयालाल) समर्थन किया तो उन्होंने उनका गला काट दिया। भाईचारा किसने ख़राब किया? ये भाईचारे की पहल जो मैं सुनती हूं, ये अपने ही लोगों से सुनती हूं, ये बात उधर (दूसरे समुदाय की ओर से) से क्यों नहीं आती है? भाईचारे की बात दूसरी तरफ से भी तो आनी चाहिए, उधर से भी तो पहल होनी चाहिए।"

Advertisement

बता दें कि 28 जून को उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की 2 व्यक्तियों ने बर्बर तरीके से हत्या कर दी थी। हत्यारों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पोस्ट करने पर कन्हैयालाल की हत्या हुई थी।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो