scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Death threats to Haryana MLAs: खाड़ी देशों में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर्स, पाकिस्तान से हो रहे थे ऑपरेट, छह गिरफ्तार

चंडीगढ़ः हरियाणा के चार विधायकों के पास 24 से 26 जून के बीच धमकी भरे फोन आए थे। जबकि पंजाब के छह पूर्व विधायकों को इस तरह की कॉल आईं।
Written by: जनसत्ता ऑनलाइन | Edited By: shailendra gautam
August 01, 2022 13:42 IST
death threats to haryana mlas  खाड़ी देशों में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर्स  पाकिस्तान से हो रहे थे ऑपरेट  छह गिरफ्तार
दो हफ्तों तक चले ऑपरेशन पर खुद हरियाणा के डीजीपी पीके अग्रवाल ने नजर रखी। (एक्सप्रेस फोटो)
Advertisement

हरियाणा के चार विधायकों को मिल रही धमकी की जांच के तार खाड़ी देशों से होते हुए पाकिस्तान तक भी पहुंच गए हैं। स्पेशल टॉस्क फोर्स ने इस मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि असलियत में इन बदमाशों का किसी गैंग या फिर आतंकी संगठन से कोई लेनादेना नहीं है। ये बेहद तीखे अपराधी हैं। ये लोग प्रोफेशनल फ्रॉड को अंजाम देते रहे हैं। इनके तार भारत के साथ पाकिस्तान और मिडिल ईस्ट तक फैले हैं।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर कहती है कि हरियाणा के चार विधायकों के पास 24 से 26 जून के बीच धमकी भरे फोन आए थे। जबकि पंजाब के छह पूर्व विधायकों को इस तरह की कॉल आईं। मामला हाई प्रोफाइल था इस वजह से हरियाणा के डीजीपी पीके अग्रवाल ने केस दर्ज करके विवेचना शुरू की।

Advertisement

पता चला कि जिन नंबरों से धमकी दी जा रही थी वो सऊदी अरब में रजिस्टर थे। पाकिस्तान से उन्हें ऑपरेट किया जा रहा था। पुलिस को गुमराह करने के लिए ये लोग मुंबई और पंजाब की भाषा का इस्तेमाल करते थे। डीजीपी ने एसपी सुमित कुमार को सारे मामले की छानबीन करने की कमान सौंपी। दो सप्ताह तक चले ऑपरेशन में तकनीकी मोर्चे पर पांच और टीमें भी लगी थीं।

पुलिस ने इन नंबरों पर होने वाली बातचीत के जरिये कुछ बैंक खातों का पता लगाया। उसके बाद दो टीमों ने मुंबई के साथ बिहार के मुजफ्फरपुर में रेड की। पुलिस ने यूपी के बस्ती जिले में रहने वाले बदरे आलम और बिहार निवासी दुलेश आलम को मुंबई से अरेस्ट किया। उनके पास से 20 चेकबुक, 18 एटीएम, 14 जाली सिम कार्ड, 1 डायरी और 5 मोबाइल फोन पुलिस के हाथ लगे।

दूसरी टीम ने बिहार के मुजफ्फरपुर से अमित यादव, सादिक अनवर, सनोज कुमार, काश आलम को गिरफ्तार किया। इनके पास से भी भारी मात्रा में बैंकों से जुड़े दस्तावेज बरामद किए गए। पुलिस का कहना है कि ये लोग गरीब और मजबूर लोगों को अपना शिकार बनाते थे। 15-20 हजार रुपये का लालच देकर उनके खाते खुलवाकर सारे दस्तावेज अपने पास रखते थे। फिर धमकी भरे फोन करके इन खातों में वसूली की रकम मंगवाई जाती थी।

Advertisement

हरियाणा पुलिस का कहना है कि जांच के दौरान मुंबई और बिहार से उन्हें पूरी सहायता मिली। दोनों जगह की पुलिस ने उनके कदम से कदम मिलाकर रेड को अंजाम दिया। जांच में पाकिस्तान के 10 ऐसे नागरिकों का भी पता चला है जिनके जरिये धमकी दी गई थी। पुलिस का कहना है कि सभी को अपने रडार पर लिया गया है।

Advertisement

जांच में सामने आया है कि दूसरे देशों में बैठे लोग धमकी या फिर लाटरी जैसे दूसरे तरीकों के जरिए लोगों को फंसाते थे। फिर उनसे दुलेश और अमित के दिए खातों में रकम ट्रांसफऱ करने के लिए कहा जाता था। दोनों या तो एटीएम से पैसा निकाल लेते थे या फिर पाकिस्तानी नागरिकों को भारतीय खातों में ये रकम ट्रांसफर कर देते थे।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो