scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Vishnu Deo Sai: गोल्ड और गन के शौकीन, 'दर्जन भर से ज्यादा' खेतों के मालिक, मिल्क प्रोडक्ट्स से पैसा कमाती हैं पत्नी; जानें छत्तीसगढ़ के CM की नेटवर्थ

विष्णु देव साय ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत भले ही बहुत छोटे स्तर से की हो। लेकिन उनका परिवार आजादी के पहले से राजनीति में सक्रिय था।
Written by: एक्सप्लेन डेस्क | Edited By: Ankit Raj
Updated: December 13, 2023 19:51 IST
vishnu deo sai  गोल्ड और गन के शौकीन   दर्जन भर से ज्यादा  खेतों के मालिक  मिल्क प्रोडक्ट्स से पैसा कमाती हैं पत्नी  जानें छत्तीसगढ़ के cm की नेटवर्थ
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते विष्णु देव साय (PTI Photo)
Advertisement

32 प्रतिशत आदिवासी जनसंख्या वाले छत्तीसगढ़ को अपना पहला आदिवासी मुख्यमंत्री मिल गया है। बुधवार (13 दिसंबर) को भाजपा विधायक विष्णुदेव साय ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली। वह इस विधानसभा चुनाव में कुनकुरी से जीते हैं।

Advertisement

आदिवासी नेता विष्णु देव साय पहली बार 26 साल की उम्र में ही विधायक बन गए थे। हालांकि उन्होंने अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत बहुत छोटे स्तर से की थी। 1989 में वह पहली बार ग्राम पंचायत बगिया के पंच बने थे। एक साल बाद वह सरपंच बन गए। 1990 में ही भाजपा ने उन्हें तपकरा विधानसभा से मैदान में उतार दिया और वह विधायक चुन लिए गए। साय लगातार 1998 तक विधायक रहे।

Advertisement

इसके बाद 1999, 2004, 2009 और 2014 में रायगढ़ से सांसद चुने गए। इस बीच वह दो बार 2006 और 2011 में प्रदेश अध्यक्ष भी बने। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल (2014-19) में साय केंद्रीय राज्य इस्पात मंत्री थे। फिर 2020 से 2022 तक प्रदेश अध्यक्ष रहे। दिसंबर 2022 में भाजपा ने विष्णु देव साय को राष्ट्रीय कार्यसमिति का सदस्य बनाया था।

राजनीतिक परिवार से ताल्लुक रखते हैं साय

विष्णु देव साय ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत भले ही बहुत छोटे स्तर से की हो। लेकिन उनका परिवार आजादी के पहले से राजनीति में सक्रिय था। साय के दिवंगत दादा बुधनाथ साय 1947 में विधायक चुन लिए गए थे। वह आजादी के बाद के पहले आम चुनाव (1952) तक एमएलए रहे थे।

विष्णु देव साय के एक दिवंगत ताऊ नरहरि प्रसाद साय तो दो बार विधायक और एक बार सांसद चुने गए थे। एक अन्य ताऊ केदारनाथ साय भी विधायक रहे हैं। इस तरह यह कहा जा सकता है कि 21 फरवरी, 1964 को विष्णु देव साय का जन्म एक राजनीतिक परिवार में हुआ। पढ़ाई लिखाई की बात करें तो उन्होंने 11वीं तक की शिक्षा कुनकुरी के लोयला हायर सेकेंडरी स्कूल से प्राप्त की है।

Advertisement

करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं साय

विष्णु देव साय के पास तीन करोड़ 80 लाख 81 हजार 550 रुपये की संपत्ति है। वहीं देनदारी 65 लाख 81 हजार 921 रुपये की है। वित्त वर्ष 2022-23 में साय ने अपनी इनकम 2 लाख 41 हजार 620 रुपये दिखाई थी। चुनावी हलफनामे में साय ने खुद के पास 3 लाख 50 हजार और पत्नी के पास 2 लाख 25 हजार कैश दिखाया था। साय के चार अलग-अलग बैंक खातों में 18 लाख से ज्यादा रुपये हैं। वहीं पत्नी के एक अकाउंट में 10 लाख 90 हजार से ज्यादा रकम है।

Advertisement

साय के पास 26 हजार से ज्यादा और पत्नी के पास 46 हजार से ज्यादा का एक-एक लाइफ इंश्योरेंस हैं। वाहन के नाम पर विष्णु देव साय के पास दो ट्रैक्टर है। एक कीमत छह लाख 40 हजार और दूसरे की कीमत पांच लाख 90 हजार है। पत्नी के नाम पर कोई गाड़ी नहीं है।

गोल्ड और गन

विष्णु देव साय के पास करीब आधा किलो (450 ग्राम) सोना है और दो किलो चांदी है। वहीं पत्नी के पास 200 ग्राम सोना और तीन किलो चांदी है। इसके अलावा विष्णु देव साय पांच रत्ती हीरे की अंगूठी, एक दो-नाली बंदूक और एक रिवॉल्वर के भी मालिक हैं।

साय पास कृषि योग्य सात और पत्नी के पास 10 खेत है। हलफनामे के मुताबिक, विष्णु देव साय के बेटे तोशेन्द्र देव साय भी कृषि योग्य चार खेतों के मालिक हैं। खेती योग्य जमीन के अलावा विष्णु देव साय तीन नॉन एग्रीकल्चर लैंड के मालिक हैं। उनके पास एक कमर्शियल बिल्डिंग है, जिसकी कीमत 20 लाख है। साय दो मकानों के भी मालिक हैं, एक की कीमत 70 लाख और दूसरे की कीमत 80 लाख है।

आय का स्रोत

हलफनामे में विष्णु देव साय ने बताया है कि उन्हें विधायक और सांसद रहने का पेंशन मिलता है। इसके अलावा खेती, किराया और ब्याज से भी पैसा आता है। पत्नी मिल्क प्रोडक्ट्स से पैसा कमाती हैं। उनके पास भी पति की तरह ही ब्याज का पैसा आता है। बेटे तोशेन्द्र देव साय भी ब्याज से पैसा बनाते हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो