scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

' इन्हें बड़ी प्रॉब्लम होती है', शाहिद कपूर ने बॉलीवुड इंडस्ट्री पर साधा निशाना; बोले- मुझे अब परेशान किया तो…

बॉलीवुड एक्टर शाहिद कपूर ने हाल ही में दिए इंटरव्यू में कहा कि बॉलीवुड में बाहर वालों को जल्दी से स्वीकार नहीं किया जाता है।
Written by: एंटरटेनमेंट डेस्‍क | Edited By: Sneha Patsariya
नई दिल्ली | Updated: February 28, 2024 10:58 IST
  इन्हें बड़ी प्रॉब्लम होती है   शाहिद कपूर ने बॉलीवुड इंडस्ट्री पर साधा निशाना  बोले  मुझे अब परेशान किया तो…
शाहिद कपूर (फोटो-इंस्टाग्राम/Shahid kapoor)
Advertisement

बॉलीवुड एक्टर शाहिद कपूर इन दिनों अपनी फिल्म 'तेरी बातों में ऐसा उलझा जिया' को लेकर सुर्खियों में छाए हैं। 9 फरवरी को सिनेमाघरों में रिलीज इस फिल्म को खूब पसंद किया जा रहा है। कृति सेनन और शाहिद कपूर स्टारर इस फिल्म ने अब तक वर्ल्डवाइड 125 करोड़ तक की कमाई कर ली है।

इसी बीच एक्टर ने बॉलीवुड में आउटसाइडर्स की एंट्री को लेकर खुलकर बात की है। एक्टर ने बताया है कि कैसे बॉलीवुड में बाहर से आए लोगों के साथ व्यवहार किया जाता है। इसके अलावा एक्टर ने बॉलीवुड कैम्प पर भी निशाना साधा है। शाहिद कपूर ने यह भी बताया कि उन्हें स्ट्रगल के दिनों में बुली किया गया था।

Advertisement

शाहिद कपूर ने क्या कहा

शाहिद कपूर ने हाल ही में नेहा धूपिया के शो 'नो फिल्टर नेहा' में कहा कि "शायद मुझमें किसी कैम्प का हिस्सा बनने की क्वालिटी नहीं है। मैं दिल्ली से था, जब मैं मुंबई आया तो मुझे मेरी क्लास में भी एक्सेप्ट नहीं किया गया। मैं आउटसाइडर था, क्योंकि मेरे बोलने का तरीका अलग था, मेरी बोली दिल्ली वाली थी। मेरे साथ बहुत लंबे समय तक बहुत बुरा बर्ताव किया गया। हम रेंट पर रह रहे थे, इसलिए हर 11 महीने में हम शिफ्ट हो जाते थे।"

एक्टर ने इंडस्ट्री पर साधा निशाना

शाहिद कपूर ने आगे कहा "मैं फिर श्यामक दावर से मिला और मुझे अखिरकार एक्सेप्ट कर लिया गया और आखिरकार अब मेरे पास दोस्तों का अपना ग्रुप था और फिर मैं एक्टर बन गया। जब मैं इंडस्ट्री में आया तो मुझे एहसास हुआ कि यह भी एक स्कूल की तरह ही है। यहां भी बहार वाले को आसान से स्वीकार नहीं करते ये लोग, इनको बड़ी समस्या होती है के तुम आ कैसे गये अंदर। कई सालों तक आपको ये सब झेलना पड़ता है।"

Advertisement

मुंह पर दरवाजा बंद कर दिया जाए

एक्टर ने आगे कहा कि "मुझे लगता है कि जो लोग क्रिएटिव हैं और वे अगर किसी के साथ कुछ अच्छा काम करना चाहते हैं तो उसे करने दिया जाए, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि उसे नीचा दिखाया जाए या उसके मुंह पर दरवाजा बंद कर दिया जाए। मुझे बुली होने से नफरत है, जब मैं बच्चा था, टीनएजर था और छोटा था तब मुझमें लड़ने की हिम्मत नहीं थी, लेकिन अब अगर किसी ने मुझे बुली किया, तो मैं तुरंत मुंहतोड़ जवाब दूंगा।"

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो