scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

एल्विश यादव पर लगा NDPS एक्ट हटा! नोएडा पुलिस ने कहा- लिखने में हो गई थी गलती?

खबर आ रही है कि कोर्ट ने एल्विश यादव के खिलाफ लगे एनडीपीसी एक्ट की दो धाराएं हटा दी हैं। बताया जा रहा है कि ये धाराएं लिखने में हुई गलती के कारण लगी थीं।
Written by: एंटरटेनमेंट डेस्‍क | Edited By: गुंजन शर्मा
नई दिल्ली | Updated: March 21, 2024 13:48 IST
एल्विश यादव पर लगा ndps एक्ट हटा  नोएडा पुलिस ने कहा  लिखने में हो गई थी गलती
एल्विश यादव (फोटो-इंस्टाग्राम)
Advertisement

एल्विश यादव को जेल में बंद हुए चार दिन बीत जाने के बाद एक नई बात सामने आई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक नोएडा पुलिस का कहना है कि एल्विश के खिलाफ जो NDPS एक्ट लगाया गया था, उनमें से दो धाराएं गलती से लगी थी। उनके खिलाफ NDPS एक्ट की चार धाराएं लगी रहेंगी और दो धाराएं हटा दी गई हैं। पुलिस की मानें तो वो दो धाराएं लिखाई के वक्त हुई एक गलती है।

आपको बता दें कि गिरफ्तारी के बाद एल्विश यादव के खिलाफ हुई एफआईआर में पुलिस ने छह धाराएं बढ़ाई थीं। इन्हीं में से दो धाराओं को कोर्ट ने हटा दिया है। हालांकि अभी भी एल्विश की जमानत याचिका पर कोई सुनवाई नहीं हो पाई है, जिसके लिए एल्विश के वकील दोबारा जमानत याचिका दायर करेंगे।

Advertisement

एल्विश के वकील ने कहा था कि उनके खिलाफ लगे आरोप गलत हैं और क्योंकि एल्विश के पास कोई भी ड्रग बरामद नहीं हुआ था उनपर कुछ धाराएं लगाकर उन्हें फंसाया जा रहा है।

एल्विश के खिलाफ लगी हैं ये धारायें

एल्विश के खिलाफ जो धाराएं लगाई गई हैं उनमें जमानत मिलना काफी मुश्किल होता है। नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस (NDPS) एक्ट में अगर किसी के खिलाफ मामला दर्ज होता है तो उस व्यक्ति को कम से कम 10 साल की सजा होती है। इसे बढ़ाकर 20 साल भी किया जा सकता है।

Advertisement

एल्विश के खिलाफ NDPS एक्ट की धारा 8 लगी है। अगर किसी व्यक्ति के पास अफीम, भांग आदि जैसे नशे बरामद होते हैं, तब इस धारा में केस दर्ज किया जाता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक उनपर लगी NDPC की धारा 22 हटाई गई है। जो नशीले पदार्थ को रखने और खरीदने बेचने पर लगाई जाती है। उनपर धारा 20 लगी है। इसमें व्यक्ति के पास मिले ड्रग की मात्रा के आधार पर सजा और जुर्माना तय किया जाता है।

Advertisement

एल्विश पर धारा 27A लगी है, जिसमें सरकार द्वारा लिस्ट किए हुए कोकीन, मॉर्फीन जैसे अन्य ड्रग्स का सेवन करने का दोषी पाए जाने पर एक साल की जेल और 20 हजार रुपये जुर्माना देना पड़ता है। कुछ मामलों में या तो व्यक्ति को एक साल की जेल होती है या उनपर 20 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जाता है। बताया जा रहा है कि इस धारा को भी हटा दिया गया है।

एल्विश पर NDPC की धारा 29 में भी मामला दर्ज है। ये धारा एनडीपीएस एक्ट तहत अपराध करने के लिए उकसाने और क्रिमिनल प्लानिंग करने पर लगाई जाती है। उनपर धारा 30 और 32 के तहत भी मामला दर्ज है। धारा 30 में आजीवन कारावास की सजा हो सकती है और धारा 32 लगने पर ये व्यक्ति के पास नशीला पदार्थ जब्त किए जाने पर लगाई जाती है और इसमें छह महीने की सजा सुनाई जाती है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो