scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

'मेरी मां मर रही है और उनका सपना…', जब जिगरी दोस्त के सामने छलका था शाहरुख खान का दर्द, फिर लिया ऐसा फैसला

विवेक वासवानी ने सिद्धार्थ कनन को दिए इंटरव्यू में बताया कि शाहरुख खान ने करीब 1990 में उनके सामने अपने दिल की बात रखी थी और बताया कि वह अपनी मां का सपना पूरा करना चाहते हैं।
Written by: एंटरटेनमेंट डेस्‍क | Edited By: Sneha Patsariya
नई दिल्ली | February 25, 2024 14:07 IST
 मेरी मां मर रही है और उनका सपना…   जब जिगरी दोस्त के सामने छलका था शाहरुख खान का दर्द  फिर लिया ऐसा फैसला
शाहरुख खान (फोटो-ट्विटरmalak_haniya)
Advertisement

शाहरुख खान खान का नाम बॉलीवुड के सुपरस्टार्स की लिस्ट में शुमार है। एक्टर की न सिर्फ देश में बल्कि विदेश में भी तगड़ी फैन फॉलोइंग है।  साल 2023 किंग खान के लिए बेहद शानदार रहा। उनकी एक ही साल में तीन फिल्में रिलीज हुई और तीनों को दर्शकों ने खूब पसंद किया। जहां 'पठान' और 'जवान' ब्लॉकबस्टर साबित हुईं तो वहीं 'डंकी' को भी फैंस ने खूब प्यार दिया।

अब शाहरुख के फैंस को उनके अपकमिंग प्रोजेक्ट्स का इंतजार है। उनके पास कई बड़े-बड़े प्रोजेक्ट्स मौजूद हैं। लेकिन शाहरुख खान के लिए इस मुकाम  तक पहुंचना आसान नहीं था। किंग खान को अब बॉलीवुड का किंग खान कहा जाता है, लेकिन एक समय था जब वह टीवी में  काम किया करते थे। कई सालों तक टीवी पर अपने हुनर का जलवा बिखेरने के बाद उन्होंने फिल्मों में एंट्री मारी और फिर वह छा गए।

Advertisement

शाहरुख खान पिछले 3 दशक से फिल्मों में एक्टिव हैं, लेकिन किंग खान का टीवी से बॉलीवुड में आने के पीछे की वजह के बारे में शायद ही किसी को पता हो। एक्टर के करीबी दोस्त विवेक वासवानी ने हाल ही में खुलासा किया कि ऐसी क्या वजह थी जिसके चलते शाहरुख खान ने फिल्मों में आने का फैसला किया था।

जब शाहरुख खान का छलका दर्द

शाहरुख खान और विवेक वासवानी अच्छे दोस्त हैं। दोनों ने ‘जोश’, ‘राजू बन गया जेंटलमैन’, ‘किंग अंकल’, ‘इंग्लिश बाबू देसी मेम’, ‘दूल्हा मिल गया’ जैसी कई फिल्मों में एक साथ काम किया है। विवेक वासवानी ने सिद्धार्थ कनन को दिए इंटरव्यू में बताया कि साल साल 1990 के आस-पास की बात है जब शाहरुख खान ने फिल्ममेकर से अपने दिल की बात रखी थी। विवेक ने बताया कि शाहरुख खान ने फिल्मों में आने का फैसला कैसे किया था। शाहरुख खान अपनी मां की मौत के बाद उनके सपने को पूरा करने के लिए 1991 में मुंबई लौट आए थे।

विवेक ने कहा कि "हम चर्च रोड के पास गए थे। हमने बटर चिकन और नान का ऑर्डर दिया। उसने मुझसे सामने से कहा, 'मेरी मां मर रही है।' उसने अपना दिल खोलकर रख दिया। फिर हम मरीन ड्राइव पर जाकर बैठ गए। उसने मुझे अपनी मां के ऑर्गन फेलियर के बारे में बताया। मैं यहां मुंबई में महंगी दवाएं खरीदता था और उन्हें रमन (शाहरुख के दोस्त) के जरिए दिल्ली भेजता था, क्योंकि वो पायलट था। लेकिन वो मर गईं।"

Advertisement

शाहरुख खान ने लिया बड़ा फैसला

विवेक ने आगे बताया कि "मैं दिल्ली गया था। वहां रुका। मेरी मुलाकात गौरी से हुई। मैं उनके दोस्त विवेक खुशलानी से मिला। इसके बाद शाहरुख खान मुंबई लौट आए। एक दिन, वो आए और कहा, ‘मैं फिल्में करना चाहता हूं। मैंने कहा लेकिन तुम्हें तो फिल्म करनी ही नहीं थी, सिर्फ टीवी में ही काम करना था। लेकिन उन्होंने कहा कि मुझे फिल्म करनी है क्योंकि मेरी मां का सपना है कि मैं सुपरस्टार बनूं।"

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो