scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

नए कलाकार और कम बजट का गुणा-भाग भी है सफल

ऐसी कम बजट और साधारण कलाकारों से सजी फिल्मों की चर्चा तभी होती है जब की वो फिल्म बाक्स आफिस पर सारे कीर्तिमान तोड़कर सफलता के झंडा गाड़ देती हैं।
Written by: जनसत्ता | Edited By: Bishwa Nath Jha
नई दिल्ली | Updated: March 08, 2024 05:02 IST
नए कलाकार और कम बजट का गुणा भाग भी है सफल
मनोज बाजपेई। पंकज त्रिपाठी।फोटो -(इंडियन एक्सप्रेस)।
Advertisement

आरती सक्सेना

फिल्मी दुनिया दो भागों में बंटी हुई है जिसमें एक भाग में बड़े बजट, नामी कलाकार, विदेश के दृश्य व महंगे सेट का बोलबाला रहता है। वहीं दूसरी तरफ ऐसी फिल्में भी बनती है जो कम बजट की होती है जिसमें साधारण और नए कलाकार हिस्सा लेते हैं। ऐसी फिल्मों की सफलता, फिल्म की कहानी, निर्माण और कलाकारों के सशक्त अभिनय पर निर्भर करती हैं। एक निगाह…

Advertisement

जब कोई फिल्म छोटे बजट और नए कलाकारों के साथ बनती है तो उस फिल्म से जुड़े लोगों का ही विश्वास होता है लेकिन बाकी किसी को उस फिल्म से खास उम्मीदें नहीं होती लेकिन वही फिल्में जब सफल हो जाती हैं तो उससे जुड़े कलाकार रातों-रात नामी अभिनेता बन जाते हैं।

ऐसी कम बजट और साधारण कलाकारों से सजी फिल्मों की चर्चा तभी होती है जब की वो फिल्म बाक्स आफिस पर सारे कीर्तिमान तोड़कर सफलता के झंडा गाड़ देती हैं। ऐसी ही एक फिल्म कई वर्षों पहले प्रसिद्ध निर्माता एन चंद्रा ने बनाई थी जिस फिल्म का नाम ‘अंकुश’ था। इस फिल्म में सभी नए चेहरे थे लेकिन मराठी अभिनेता से हिंदी अभिनेता बने नाना पाटेकर की किस्मत इस फिल्म से चमक गई थी। एन चंद्रा ने ‘अंकुश’ फिल्म प्रदर्शित करने के लिए मेहनत की थी।

सूत्रों के अनुसार उनको इस फिल्म के प्रदर्शन के लिए अपना घर तक गिरवी रखना पड़ गया था, क्योंकि इस फिल्म में कोई बड़ा कलाकार नहीं था इसलिए इस फिल्म को कोई वितरक खरीदने के लिए तैयार नहीं था। मजबूरन निर्माता को खुद फिल्म प्रदर्शित करनी पड़ी थी। लेकिन फिल्म प्रदर्शित के बाद यह इतनी सफल हुई जिसने बाक्स आफिस के सारे कीर्तिमान तोड़ दिए।

Advertisement

ऐसे ही आयुष्मान खुराना फिल्म ‘विकी डोनर’ में जब बतौर अभिनेता नजर आए तो उनको कोई जानता नहीं था। लेकिन इस फिल्म की सफलता ने आयुष्मान खुराना को रातों रात अभिनेता बना दिया। ऐसे ही कई फिल्में है जिस में काम करने वाले कलाकार फिल्म के प्रदर्शन से पहले कोई पहचान नहीं रखते थे लेकिन छोटे बजट की फिल्मों में काम करके इन अभिनेताओं ने अपनी अलग पहचान बना ली।

जैसे अनुपम खेर, पंकज त्रिपाठी, राजकुमार राव, मनोज बाजपेई, इरफान खान, आदि कई नामी अभिनेता हैं, जिन्होंने छोटे बजट की फिल्मों में काम करके बड़ी सफलता हासिल की। ‘विकी डोनर’ की तरह ही ‘भेजा फ्राई’, ‘कश्मीर फाइल्स’, ‘द केरला स्टोरी’, ‘तेरे बिन लादेन’, ‘पान सिंह तोमर’, ‘12 वीं फेल’, किरण राव निर्देशित ‘लापता लेडीज’, मीरा चोपड़ा अभिनीत ‘सफेद’, मनोज बाजपेई अभिनीत ‘जोरम’, ‘कागज 2’, ‘आल इंडिया रैंक’, आदि कई फिल्में हैं जिन्होंने कम बजट और साधारण कलाकारों के साथ परंतु अच्छी कहानी और सही निर्माण ,और बेहतरीन अभिनय के कारण अपार सफलता अर्जित की है।

कम बजट और नए कलाकारों के साथ बनी आने वाली फिल्में

आने वाले समय में कई ऐसी फिल्में आ रही हैं जिसमे ना तो चर्चित चेहरे हैं न ही फिल्म का बजट ज्यादा है। जैसे कुणाल खेमू निर्देशित ‘मडगांव एक्सप्रेस’, अदा शर्मा अभिनीत ‘बस्तर’, रणदीप हुड्डा अभिनीत ‘स्वतंत्र वीर सावरकर’, फिल्म ‘गोधरा एक्सीडेंट’ यह फिल्म गुजरात दंगों पर आधारित है जो 2002 में हुआ था। ‘वाट ए किस्मत’, ‘रजाकर’, ‘कुसुम का ब्याह’, ‘दुकान’, ‘सपना वर्सिज एवरीवन’, ‘मुंज्या’, ‘परीलोक’, ‘साबरमती रिपोर्ट’ आदि कई फिल्में हैं जो 2024 में प्रदर्शित होगी।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो