scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

CineGram: परवीन बाबी का मुगलों से था खास कनेक्शन, इमारतों में दिखती थीं आत्माएं, जब कबीर बेदी ने एक्ट्रेस को लेकर किए थे खुलासे

कबीर बेदी ने अपने एक इंटरव्यू में खुलासा किया था कि परवीन बाबी को आत्माएं दिखती थीं।
Written by: एंटरटेनमेंट डेस्‍क | Edited By: Sneha Patsariya
नई दिल्ली | Updated: April 05, 2024 12:59 IST
cinegram  परवीन बाबी का मुगलों से था खास कनेक्शन  इमारतों में दिखती थीं आत्माएं  जब कबीर बेदी ने एक्ट्रेस को लेकर किए थे खुलासे
परवीन बाबी (Photo Credit – IMDb/Instagram)

अपने जमाने की सबसे खूबसूरत और बोल्ड एक्ट्रेस परवीन बाबी की आज 70वीं बर्थ एनिवर्सरी है। एक्ट्रेस एक से बढ़कर एक बेहतरीन फिल्मों का हिस्सा रही थीं। परवीन अपने करियर के पीक पर थीं जब उन्हें पैरानॉयड सिजोफ्रेनिया नाम की लाइलाज बीमारी हो गई थी। उन्हें हमेशा ऐसा लगता था कि कोई उनके खिलाफ साजिश रच रहा है या उन्हें जान से मारना चाहता है।

परवीन बाबी कहती थीं कि अमिताभ बच्चन ने उन्हें किडनैप कर उनके गले में चिप लगा दी है, तो कभी वे पूर्व अमेरिकी प्रेसिडेंट बिल क्लिंटन और प्रिंस चार्ल्स जैसी इंटरनेशनल हस्तियों पर हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाती थीं। परवीन बाबी को न्यूयॉर्क के पागलखाने में भी रखा गया था।

ऐसे तो एक्ट्रेस के जीवन में कई मर्द रहे। इनमें से एक कबीर बेदी भी थे। अपनी ऑटोबायोग्राफी में कबीर परवीन के बारे में काफी कुछ लिख चुके हैं। वहीं एक इंटरव्यू में कबीर ने परवीन के बचपन के बारे में काफी कुछ कहा था। उन्होंने कहा था कि परबीन को आत्माएं दिखती थीं।

परवीन बाबी का मुगलों से था खास कनेक्शन

परवीन बाबी का जन्म मोहम्मद खान के घर जूनागढ़ में हुआ था। उनका परिवार जूनागढ़ के नवाबों के खानदान से ताल्लुक रखता था। कबीर बेदी ने बॉलीवुड हंगामा से बात करते हुए कहा था कि परवीन बाबी की समस्याएं बचपन में शुरू हुई थीं, क्योंकि उन्हें घर के करीब ऐतिहासिक इमारतों में रूब नजर आती थीं। परवीन बाबी के पूर्वज पश्तून थे और वह मुगल बादशाह हुमायूं के यहां नौकरी करते थे। एक बार परवीन की मां ने महेश भट्ट को बताया कि उसके पिता भी ऐसे ही थे तो मेरा सवाल था क्या ये जेनेटिक है?'

ओपन मैरिज पर क्या बोले थे परवीन बाबी

कबीर ने अपनी किताब में लिखा था कि 'हमारी मारी ओपन मैरिज पहली बार में एक अच्छे विचार की तरह लग रही होगी, लेकिन अंत में ये सबसे ज्यादा चिंता की वजह बन गई। मुझे वो प्यार और देखभाल महसूस नहीं हुआ, जिसे मैं देखना चाहता था। इसके अलावा प्रतिमा से उनकी नजदीकियां खत्म हो गई थीं। कई बार वो खुद को अकेला महसूस करते थे। इस खालीपन को वक्त के साथ परवीन बाबी ने भर दिया।'

Tags :
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 चुनाव tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो