scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

बृजभूषण शरण सिंह और संजय सिंह मुझे ओलंपिक खेलने से रोक रहे, डोप में फंसाने की साजिश रच रहे; विनेश फोगाट का दावा

विनेश फोगाट ने यह आशंका ऐसे समय जाहिर की है, जब देश में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं और भाजपा ने कैसरगंज से अब तक अपने प्रत्याशी का ऐलान नहीं किया है। वर्तमान में कैसरगंज लोकसभा सीट भाजपा के ही खाते में हैं। साल 2019 में बृजभूषण शरण सिंह भाजपा के टिकट पर इस सीट से जीते थे।
Written by: खेल डेस्‍क | Edited By: ALOK SRIVASTAVA
Updated: April 12, 2024 14:32 IST
बृजभूषण शरण सिंह और संजय सिंह मुझे ओलंपिक खेलने से रोक रहे  डोप में फंसाने की साजिश रच रहे  विनेश फोगाट का दावा
नई दिल्ली में रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह द्वारा महिला पहलवानों के कथित यौन उत्पीड़न के खिलाफ जंतर मंतर से नए संसद भवन तक विरोध मार्च के दौरान पहलवान विनेश फोगाट और संगीता फोगट को हिरासत में लिए जाने की तस्वीर। (सोर्स- एएनआई फोटो)
Advertisement

एशियाई खेलों और कॉमनवेल्थ गेम्स दोनों में स्वर्ण पदक जीतने वाली देश की पहली महिला पहलवान विनेश फोगाट को लगता है कि उन्हें पेरिस ओलंपिक में हिस्सा लेने से रोकने के लिए साजिश रची जा रही है। विनेश फोगाट का आरोप है कि यह साजिश रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के मौजूदा अध्यक्ष संजय सिंह और पूर्व अध्यक्ष तथा भाजपा सांसद बृजभूषण सिंह की ओर से रची जा रही है। हालांकि, डब्ल्यूएफआई ने विनेश फोगाट के इस आरोप का जोरदार खंडन किया। उसने दावा किया कि विनेश ने समय सीमा खत्म होने के बाद आवेदन किया।

भाजपा ने कैसरगंज सीट के लिए नहीं किया अब तक प्रत्याशी का ऐलान

विनेश फोगाट ने यह आशंका ऐसे समय जाहिर की है, जब देश में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं और भाजपा कैसरगंज से किसे लोकसभा सीट के लिए प्रत्याशी बनाएगी, इस पर अब तक फैसला नहीं ले पाई है। कैसरगंज सीट वर्तमान में भाजपा के पास ही है। साल 2019 में इस सीट से बृजभूषण शरण सिंह भाजपा के टिकट पर सांसद चुने गए थे।

Advertisement

विनेश फोगाट ने माइक्रो ब्लागिंग साइट X पर 12 अप्रैल 2024 को एक पोस्ट शेयर की। विनेश फोगाट ने अपनी पोस्ट में लिखा, 19 अप्रैल से एशियन ओलंपिक क्वालिफाई टूर्नामेंट शुरू होने जा रहा है। मेरे द्वारा लगातार एक महीने से भारत सरकार (SAI, TOPS) सभी से मेरे कोच और फिजियो की ACCREDITATION (एकक्रेडीटेशन/मान्यता) के लिए मांग की जा रही है।

कोच और फिजियो को कम्पटीशन ARENA में चाहती हैं विनेश

उन्होंने लिखा, ACCREDITATION के बिना मेरे कोच और फिजियो का मेरे साथ कम्पटीशन ARENA में जाना संभव नहीं है। लेकिन बार-बार रिक्वेस्ट करने पर भी कहीं से भी कोई ठोस जवाब नहीं मिल रहा है। कोई भी मदद करने को तैयार नहीं है। क्या हमेशा ऐसे ही खिलाड़ियों के भविष्य के साथ खेला जाता रहेगा। बृजभूषण और उसके द्वारा बैठाया गया ‘डमी’ संजय सिंह हर तरीके से प्रयास कर रहे हैं कि कैसे मुझे ओलंपिक्स में खेलने से रोका जा सके।

पानी में कुछ मिलाया जा सकता है: विनेश फोगाट

विनेश फोगाट ने आशंका जताते हुए लिखा, जो टीम के साथ कोच लगाए गए हैं वे सभी बृजभूषण और उसकी टीम के चहेते हैं, तो इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि वे मेरे मैच के दौरान मुझे मेरे पानी में कुछ मिला के ना पीला दे?? अगर मैं ऐसा कहूं कि मुझे डोप में फंसाने की साजिश हो सकती है तो गलत नहीं होगा। हमें मानसिक रूप से प्रताड़ित करने की कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही।

Advertisement

सेक्सुअल हैरेसमेंट के खिलाफ आवाज उठाने का यह सिला मिल रहा: विनेश फोगाट

विनेश ने लिखा, इतने महत्वपूर्ण कम्पटीशन (प्रतियोगिता) से पहले ऐसे हमारे साथ मानसिक टॉर्चर कहां तक जायज है। क्या अब देश के लिए खेलने जाने से पहले भी हमारे साथ राजनीति ही होगी, क्योंकि हमने सेक्सुअल हैरेसमेंट (यौन उत्पीड़न) के खिलाफ आवाज उठायी?? क्या हमारे देश में गलत के खिलाफ आवाज उठाने की यही सजा है? उम्मीद करती हूं हमें देश के लिए खेलने जाने से पहले तो न्याय मिलेगा। जय हिंद।

Advertisement

विनेश फोगाट ने अपनी पोस्ट को केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर @ianuragthakur, खेल एवं युवा मामले मंत्रालय @IndiaSports और स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया @Media_SAI को टैग भी किया। बता दें कि विनेश फोगाट ने यह पोस्ट ऐसे समय की है जब देश में लोकसभा चुनाव 2024 के पहले चरण के लिए होने वाले मतदान में एक सप्ताह का ही समय शेष है।

क्या बोला रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया

समाचार एजेंसी पीटीआई ने भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के हवाले से लिखा, ‘विनेश फोगाट का अनुरोध मेल (उनके कोच और फिजियो की मान्यता के लिए) 18 मार्च को आया था, लेकिन तब तक उसने खिलाड़ियों, कोचेस और मेडिकल स्टाफ की प्रविष्टियां पंजीकरण के रूप में विश्व शासी निकाय यूडब्ल्यूडब्ल्यू (यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग) को भेज दी थीं। डेडलाइन 11 मार्च थी। डब्ल्यूएफआई के एक पदाधिकारी ने बताया कि यूडब्ल्यूडब्ल्यू के अनुरोध पर समय सीमा में थोड़ी ढील देने के बाद महासंघ ने 15 मार्च के आसपास प्रविष्टियां भेजीं क्योंकि ट्रायल समय सीमा के आखिरी दिन ही पूरे हुए थे।’

19 अप्रैल को है देश में पहले चरण के लिए मतदान

पहले चरण के लिए 19 अप्रैल को देश के 21 राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों की 102 सीटों के लिए मतदान होना है। इसमें उत्तर प्रदेश की 8 लोकसभा सीटें (रामपुर, सहारनपुर, पीलीभीत, नगीना, बिजनौर, मुरादाबाद, मुजफ्फरनगर और कैराना) भी शामिल हैं। यूपी की 80 लोकसभा सीट पर 7 चरणों में चुनाव होना है। भाजपा ने उत्तर प्रदेश की 2 (कैसरगंज और रायबरेली) लोकसभा क्षेत्रों को छोड़कर अपने हिस्से में आई अन्य सभी सीटों के लिए प्रत्याशियों के नाम का ऐलान कर दिया है।

बताया जा रहा है कि महिला पहलवानों से जुड़ा विवाद होने के कारण इस बार भाजपा ने कैसरगंज सीट को लेकर अपने प्रत्याशी की घोषणा नहीं की है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो भाजपा कैसरगंज से बृजभूषष शरण सिंह के बेटे या उनकी पत्नी को टिकट देने को तैयार थी, लेकिन रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (डब्ल्यूएफआई) के पूर्व अध्यक्ष के चुनाव लड़ने पर अड़ने के कारण किसी का नाम तय नहीं हो पाया है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 चुनाव tlbr_img2 Shorts tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो