scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

उत्तर प्रदेश में इंडिया गठबंधन को लगा बड़ा झटका, AIMIM-अपना दल कमेरावादी के बीच हुआ अलायंस

पल्लवी पटेल ने तीन दिन पहले हैदराबाद में असदुद्दीन औवेसी से मुलाकात की थी।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Nitesh Dubey
नई दिल्ली | Updated: March 31, 2024 11:51 IST
उत्तर प्रदेश में इंडिया गठबंधन को लगा बड़ा झटका  aimim अपना दल कमेरावादी के बीच हुआ अलायंस
पल्लवी पटेल की पार्टी एआईएमआईएम से गठबंधन कर रही है। (फोटो सोर्स: सोशल मीडिया)
Advertisement

उत्तर प्रदेश में इंडिया गठबंधन को बड़ा झटका लगा है। अपना दल (कमेरावादी) ने इंडिया गठबंधन से अलग होने का फैसला किया है। अपना दल (कमेरावादी) ने आने वाले लोकसभा चुनाव के लिए असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के साथ गठबंधन कर लिया है। इसका अधिकारिक ऐलान रविवार दोपहर 2 बजे लखनऊ में हो सकती है। अपना दल (के) नेता पल्लवी पटेल और असदुद्दीन ओवैसी संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में गठबंधन की आधिकारिक घोषणा कर सकते हैं।

पल्लवी पटेल ने असदुद्दीन औवेसी से की थी मुलाकात

गठबंधन से पहले पल्लवी पटेल ने तीन दिन पहले हैदराबाद में असदुद्दीन औवेसी से मुलाकात की थी। 23 मार्च को अपना दल (के) ने उत्तर प्रदेश की तीन लोकसभा सीटों से घोषित अपने उम्मीदवार (फूलपुर, मिर्ज़ापुर और कौशांबी) से वापस ले लिए थे।

Advertisement

एक बयान में कृष्णा पटेल के नेतृत्व वाली पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए घोषित उम्मीदवारों की सूची को अगली सूचना तक रद्द कर दिया है। इससे पहले पल्लवी पटेल ने कहा था कि वह उत्तर प्रदेश में इंडिया गठबंधन के तहत तीन सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती है। पल्लवी पटेल ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस तय करे कि अपना दल कमेरावादी इंडिया गठबंधन में है या नहीं।

अपना दल (के) ने 2022 का उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव समाजवादी पार्टी (SP) के साथ गठबंधन में लड़ा था। अपना दल (के) और एआईएमआईएम के बीच गठबंधन हाल के राज्यसभा चुनाव के दौरान सपा के साथ मतभेद के बाद हुआ। पल्लवी पटेल ने कहा था कि वह केवल रामजी लाल सुमन को वोट देंगी, जया बच्चन और अलोक रंजन को नहीं।

Advertisement

सपा-कांग्रेस में गठबंधन

इस बीच सपा और कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में इंडिया गठबंधन के तहत सीट-बंटवारे पर फैसला किया है। समझौते के तहत कांग्रेस राज्य की 80 लोकसभा सीटों में से 17 पर चुनाव लड़ेगी और सपा 63 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी। उत्तर प्रदेश में 19 अप्रैल से 1 जून तक सात चरणों में मतदान होगा। वोटों की गिनती 4 जून को होगी।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो