scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Badaun Lok Sabha Election 2024: बदायूं में 6 बार जीत का परचम लहरा चुकी सपा, बसपा को अब भी है खाता खुलने का इंतजार

Badaun Lok Sabha Election 2024 Date, Candidates Name, Caste Wise Population: बदायूं सीट से अभी तक भाजपा ने किसी को भी टिकट नहीं दिया है। समाजवादी पार्टी ने अपने दिग्गज नेता और मुलायम सिंह यादव के भाई शिवपाल सिंह यादव को टिकट दिया है।
Written by: shrutisrivastva
Updated: April 10, 2024 16:57 IST
badaun lok sabha election 2024  बदायूं में 6 बार जीत का परचम लहरा चुकी सपा  बसपा को अब भी है खाता खुलने का इंतजार
प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो -(इंडियन एक्सप्रेस)।
Advertisement

Badaun Lok Sabha Election 2024 Date, Candidate Name: लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारियों में जुटे तमाम राजनीतिक दलों ने अपने उम्मीदवारों का ऐलान करना भी शुरू कर दिया है। BJP ने अपनी पहली लिस्ट में 195 कैंडीडेट्स के नामों का ऐलान किया है। कांग्रेस ने भी 39 प्रत्याशियों के नामों के साथ अपनी पहली लिस्ट निकाल दी है। भाजपा ने उत्तर प्रदेश की 51 सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। ऐसे ही उत्तर प्रदेश की 80 सीटों में से एक बदायूं महत्वपूर्ण सीटों में से एक है। वर्तमान में इस सीट से भाजपा की संघमित्रा मोर्या सांसद हैं।

बदायूं सपा का गढ़ माना जाता था। साल 1996 से लेकर 2014 तक इस सीट पर सपा का ही कब्जा था लेकिन 2019 में भारतीय जनता पार्टी ने इस वर्चस्व को तोड़ा। बदायूं लोकसभा सीट के लिए अब तक 17 बार चुनाव हुआ है. जिनमें सबसे ज्यादा छह बार समाजवादी पार्टी विजयी रही. पांच बार कांग्रेस जीती तो दो बार भाजपा ने इस सीट पर जीत हासिल की. बसपा का यहां खाता भी नहीं खुल सका है। फिलहाल इस सीट से भाजपा की संघमित्रा मोर्या सांसद हैं। इस सीट पर सपा से लगातार चार बार सलीम इकबाल शेरवानी चुनाव जीते थे। इस लोकसभा क्षेत्र के तहत पांच विधानसभा क्षेत्र आते हैं।

Advertisement

कौन-कौन हैं बदायूं के चुनावी मैदान में?

समाजवादी पार्टी ने अपनी पहली सूची में धर्मेंद्र यादव को बदायूं से प्रत्याशी घोषित किया था। उसके बाद बदलाव करते हुए धर्मेंद्र यादव की जगह शिवपाल यादव को प्रत्याशी बनाया गया। भाजपा ने प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर दी है लेकिन बदायूं सीट पर अभी तक किसी का नाम घोषित नहीं किया गया है। पिछले लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की संघमित्रा मौर्य ने अखिलेश यादव के चचेरे भाई धर्मेंद्र को हरा दिया था लेकिन इस बार संघमित्रा के टिकट पर भी संशय है।

लोकसभा चुनाव 2019 के परिणाम

पिछले चुनाव में बदायूं से भाजपा की संघमित्रा मौर्य ने सपा के धर्मेंद्र यादव को हराकर जीत हासिल की थी। वहीं, कांग्रेस के सलीम इकबाल तीसरे स्‍थान पर थे। डॉ संघमित्रा मौर्य को 5.11 लाख वोट मिले थे। वहीं, समाजवादी पार्टी के उम्‍मीदवार धर्मेंद्र यादव को 4.92 लाख वोटों से संतोष करना पड़ा था। 2019 के लोकसभा छुनाव में कांग्रेस के सलीम इकबाल 51947 वोट पाकर तीसरे स्‍थान पर रहे थे।

Advertisement

बदायूं का जातीय समीकरण

बदायूं लोकसभा क्षेत्र में पांच विधानसभा क्षेत्र आते हैं जिसमें गुन्नौर, बिसौली- अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित, सहसवान, बिल्सी और बदायूं शामिल है। 19 लाख वोटरों वाले बदायूं में सबसे ज्यादा वोटर यादव हैं। यहां यादवों की संख्या लगभग 4 लाख है। यहां 3 लाख से अधिक मुस्लिम मतदाता, 2.75 लाख गैर यादव ओबीसी और 1.75 लाख अनुसूचित जाति के वोटर्स हैं। बदायूं सीट पर 1.25 लाख वैश्य और ब्राह्मण वोटर्स भी हैं।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो