scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Lok Sabha Elections 2024: 'अब 2029 में करना बातचीत', आखिर क्यों सीट शेयरिंग पर अड़े उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस को दिया अल्टीमेटम?

Lok Sabha Elections 2024: महाराष्ट्र में शिवसेना (यूबीटी) और कांग्रेस के बीच सीट शेयरिंग को लेकर बड़ा टकराव देखने को मिल रहा है।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | March 31, 2024 16:37 IST
lok sabha elections 2024   अब 2029 में करना बातचीत   आखिर क्यों सीट शेयरिंग पर अड़े उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस को दिया अल्टीमेटम
Lok Sabha Elections 2024: सीट शेयरिंग पर अड़ गए उद्धव ठाकरे (सोर्स - PTI File)
Advertisement

Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर महाराष्ट्र में सीट शेयरिंग पर अभी भी कई पेंच फंसे हुए हैं। यहां सीट शेयरिंग पर सबसे बड़ा टकराव इंडिया गठबंधन के घटक दल कांग्रेस और शिवसेना (यूबीटी) के बीच है और एक सीट पर तो यह विवाद इतना ज्यादा बढ़ गया कि राज्य के पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने यह तक कह दिया कि अब सीट शेयरिंग पर बात, साल 2029 के लोकसभा चुनावों (Lok Sabha Chunav) में होगी। कांग्रेस उद्धव गुट के इस रवैये से नाराज है।

दरअसल, शिवसेना यूबीटी ने सांगली सीट से अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है और इसको लेकर कांग्रेस ने नाराजगी जारी की थी। अब आज शिवसेना (यूबीटी) के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस के साथ सीट शेयरिंग के मुद्दे पर कहा है कि अगली सीट-बंटवारे की बातचीत अब महाराष्ट्र में 2029 में ही होगी। उनके इस बयान का मतलब साफ है कि अब उद्धव ठाकरे इस मुद्दे पर पीछे हटने को तैयार नहीं हैं।

Advertisement

कांग्रेस ने सेना (यूबीटी) द्वारा सांगली से अपना उम्मीदवार घोषित करने पर अपनी नाराजगी दर्ज की है। वहीं मुंबई में जब जिस वक्त दक्षिण मध्य मुंबई लोकसभा सीट पर चर्चा हो रही थी, तो उसी दौरान शिवसेना(यूबीटी) ने दावा किया है कि सांगली सीट पर कोई चर्चा नहीं हुई है। इस सीट से शिवसेना यूबीटी ने चंद्रहार पाटिल को मैदान में उतारा है। कांग्रेस ने सांगली सीट से पूर्व मुख्यमंत्री वसंतदादा पाटिल के पोते विशाल पाटिल को उम्मीदवार घोषित किया है। ऐसे में इस सीट पर गठबंधन के दोनों ही दलों के बीच फ्रैंडली फाइट देखने को मिलेगा।

BJP से भी होती थी खींचतान

ऐसे में सीट शेयरिंग को लेकर मचे घमासान के चलते सवाल उठ रहे हैं कि क्या इंडिया गठबंधन में सब ठीक है भी या नहीं। इसको लेकर उद्धव ठाकरे ने बयान दिया कि महा विकास अघाड़ी (एमवीए) के भीतर सीट-बंटवारे की बातचीत में कोई विवाद नहीं है। जब हम बीजेपी के साथ थे, तब भी लास्ट तक खींचतान रहती थी, लेकिन जब सेट हो जाता था तो साथ एक जुट होकर लड़ते हैं।

Advertisement

बीजेपी पर बोला जोरदार हमला

अपने संबोधन के दौरान उद्धव ठाकरे ने अजित पवार पर कटाक्ष किया और कहा है कि पार्टी के सभी चोरों ने अब भाजपा से हाथ मिला लिया है। इन दिनों इस (भाजपा) पार्टी के मंच पर कौन दिखाई दे रहा है? प्रफुल्ल पटेल को बीजेपी की ओर से अजित पवार, जनार्दन रेड्डी, नवीन जिंदल और सरथ रेड्डी के आरोपों का सामना करना पड़ा। उन पर आरोप किसने लगाए? अब वे कहाँ हैं? इसीलिए यह भ्रांत जनता पार्टी है।

उद्धव ठाकरे ने भले ही इंडिया गठबंधन की मजबूती का ऐलान किया हो, लेकिन उनके तेवर और सांगली सीट पर माथापच्ची से गठबंधन में एक बड़ी दरार पड़ गई है, जिसके परिणाम आने वाले समय में देखने को मिल सकते हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो