scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

लोकसभा चुनाव से पहले उद्धव ठाकरे को लगेगा बड़ा झटका! राज ठाकरे की MNS का शिवसेना में हो सकता है विलय

हाल ही में राज ठाकरे सीएम एकनाथ शिंदे, केद्रीय गृहमंत्री अमित शाह समेत कई नेताओं से मुलाकात की थी।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: March 27, 2024 08:53 IST
लोकसभा चुनाव से पहले उद्धव ठाकरे को लगेगा बड़ा झटका  राज ठाकरे की mns का शिवसेना में हो सकता है विलय
एमएनएस ने दो प्रमुख लोकसभा क्षेत्रों- मुंबई दक्षिण और शिरडी की मांग की है।
Advertisement

महाराष्ट्र में दलों का राजनीतिक बदलाव और गठबंधन के नए दौर से उद्धव ठाकरे के लिए संकट बढ़ सकता है। हाल ही में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) प्रमुख राज ठाकरे और बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं के बीच दिल्ली में बातचीत हुई। इससे कई तरह के संकेत सामने आए हैं। राज ठाकरे ने दिल्ली में पहले बीजेपी नेता विनोद तावड़े और फिर गृहमंत्री अमित शाह के साथ बैठक की थी। लोकसभा चुनाव के बाद इस साल के अंत में महाराष्ट्र विधानसभा का चुनाव भी होना है।

एमएनएस महायुति में नया गठबंधन भागीदार बनने जा रहा है

इससे पहले महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने पिछले गुरुवार को मुंबई के एक पांच सितारा होटल में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस के साथ बैठक की। बैठक का घोषित उद्देश्य सीट-बंटवारे और अभियान योजनाओं से संबंधित विवरणों पर चर्चा करना था क्योंकि एमएनएस महायुति में नया गठबंधन भागीदार बनने जा रहा है। मीडिया सूत्रों के मुताबिक राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना का एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना के साथ विलय होने की संभावना है। ऐसा होता है तो उद्धव ठाकरे की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

Advertisement

अमित शाह से मुलाकात में भी सकारात्मक संकेत दिखे थे

बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए शिंदे ने कहा, ''सीट-बंटवारे और गठबंधन से जुड़ा अंतिम फैसला एक-दो दिनों में पता चल जाएगा।'' राज ठाकरे की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक में एमएनएस और बीजेपी गठबंधन की रूपरेखा तैयार की गई। एमएनएस नेता और लोकसभा चुनाव के संभावित उम्मीदवार बाला नंदगांवकर ने दिल्ली में हुई बैठक को 'सकारात्मक' बताया था।

बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने नाम न छापने का अनुरोध करते हुए कहा, “राज ठाकरे और शिंदे और फड़नवीस के बीच आज की बैठक आगामी चुनावों में एमएनएस की भूमिका पर विस्तार से चर्चा करने के लिए थी।”

Advertisement

एमएनएस ने दो प्रमुख लोकसभा क्षेत्रों- मुंबई दक्षिण और शिरडी की मांग की है। दिलचस्प बात यह है कि इन दोनों निर्वाचन क्षेत्रों पर शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना दावा कर रही है। इससे पहले बीजेपी ने एमएनएस को बता दिया है कि वह सुनिश्चित करेगी कि उनकी पार्टी को कम से कम एक प्रमुख लोकसभा सीट मिले। लेकिन दो सीटें आवंटित करना मुश्किल होगा।

ऐसा कहा जाता है कि शिंदे और फड़नवीस अपनी ओर से एमएनएस को दूसरी लोकसभा सीट पर जोर न देने के लिए मना रहे हैं। इसके बजाय वे विधानसभा चुनावों में एमएनएस की चिंताओं को समायोजित करेंगे। विधानसभा की 288 सीटों के लिए इस साल अक्टूबर-नवंबर में चुनाव होने हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो