scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

लाल डायरी को लेकर चर्चा में थे राजेंद्र गुढ़ा, पीएम मोदी ने भी बार-बार किया जिक्र, जानिए क्या रहा उनका चुनावी हश्र

Rajasthan Assembly Election Result 2023: लाल डायरी से चर्चा में आए राजेंद्र गुढ़ा की उदयपुरवाटी सीट के क्या परिणाम रहे।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Jyoti Gupta
Updated: December 04, 2023 10:05 IST
लाल डायरी को लेकर चर्चा में थे राजेंद्र गुढ़ा  पीएम मोदी ने भी बार बार किया जिक्र  जानिए क्या रहा उनका चुनावी हश्र
Rajasthan Red Diary: कांग्रेस के पूर्व मंत्री राजेंद्र गुढ़ा (फोटो सोर्स: @AHindinews)
Advertisement

राजस्थान में बीजेपी ने 115 सीटों के साथ बहुमत जीत हांसिल की है। इसी बीच लोग जानना चाह रहे हैं कि लाल डायरी से चर्चा में आए राजेंद्र गुढ़ा की उदयपुरवाटी सीट के क्या परिणाम रहे। इस सीट से राजेंद्र गुढ़ा चुनाव लड़ रहे थे। राजस्थान चुनाव से पहले लाल डायरी सुर्खियों में छाई रही। राजस्थान के सियासी गलियारे में लाल डायरी की खूब चर्चा रही।

हालांकि राजेंद्र गुढ़ा को इसका फायदा मिलता नजर नहीं आया। इनके लिए तो मामला उल्टा ही पड़ गया क्योंकि ये चुनाव हार चुके हैं। गुढ़ा तीसरे नंबर पर हैं। उन्होंने इस बार शिवसेना से चुनाव लड़ा था। गुढ़ा को महज 57,823 वोट ही मिले। वहीं बीजेपी के शुभकरन चौधरी को 67,983 वोट और कांग्रेस के भगवान राम सैनी को 68,399 को वोट मिले। इस तरह कांग्रेस के भगवान राम सैनी यहां से चुनाव जीत गए और गुढ़ा अपनी सीट नहीं बचा पाए।

Advertisement

दरअसल, गुढ़ा ने अपनी ही पार्टी के खिलाफ बगावत कर दी और लाल डायरी का इस्तेमाल अपनी ही पार्टी कांग्रेस को घेरने में की। ये अलग बात है कि बीजेपी ने लाल डायरी को विपक्ष के खिलाफ अच्छी तरह भूना लिया। यहां तक की पीएम नरेंद्र मोदी ने भी इस लाल डायरी का बार-बार जिक्र किया था। वे लगभग अपनी सभी सभाओं में लाल डायरी को लेकर कांग्रेस को घेरा। जिसका फायदा बीजेपी को मिला।

पिछली बार जीता था चुनाव

दरअसल, पूर्व विधायक और मंत्री गुढ़ा पिछली बार इस सीट पर बसपा की सीट से विधायक बने थे। संकट के समय उन्होंने गहलोत सरकार को बचाने में अपनी बड़ी भूमिका निभाई। हालांकि बाद में उनकी गहलोत से नाराजगी बढ़ गई। इसके बाद उन्होंने मचों से कांग्रेस सरकार के खिलाफ बगावत करने लगे। दरअसल, गुढ़ा ने लाल डायरी का मुद्दा विधानसभा के अंदर सरकार के सामने उठाय था। उन्होंने अपनी ही सरकार कांग्रेस को कठघरे में खड़ा कर दिया।

लाल डायरी के सामने आने के बाद गहलोत सरकार की खूब किरकिरी हुई। इसके बाद गहलोत सरकार ने गुढ़ा बर्खास्त कर दियाच था। गुढ़ा के अनुसार, लाल डायरी में गहलोत के साथ दूसरे नेताओं के अवैध लेनदेन का हिसाब दर्ज है। इसके बाद लाल डायरी की कुछ तस्वीरें भी वायरल हुईं थीं।

Advertisement

पीएम मोदी ने भी लाल डायरी का जिक्र करते हुए कहा था कि कांग्रेस ने लूट की दुकान चलाई है जो लाल डायरी में बंद है। अगर इसके पन्ने खुल जाएं तो कांग्रेस का डिब्बा की गुल हो जाएगा।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो