scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

पृथ्वीराज चव्हाण ने शरद पवार के प्रस्ताव को किया खारिज, चुनाव लड़ने को लेकर कही यह बात

MVA की सीट बंटवारे की बातचीत में सतारा लोकसभा सीट पवार की एनसीपी के पास चली गई है। सतारा के मौजूदा सांसद और शरद पवार के करीबी श्रीनिवास पाटिल पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि वह चुनाव नहीं लड़ेंगे। पढ़ें आलोक देशपांडे की रिपोर्ट।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: April 02, 2024 12:45 IST
पृथ्वीराज चव्हाण ने शरद पवार के प्रस्ताव को किया खारिज  चुनाव लड़ने को लेकर कही यह बात
पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण। (Express File Photo)
Advertisement

महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (शरदचंद्र पवार) के चुनाव चिन्ह पर सतारा लोकसभा से चुनाव लड़ने की पेशकश की गई है, जिसे उन्होंने अस्वीकार कर दिया है। चव्हाण ने बताया है कि वह लोकसभा चुनाव लड़ने में रुचि रखते हैं, लेकिन केवल कांग्रेस के चुनाव चिन्ह पर ही लड़ना चाहते हैं। रविवार को एनसीपी (शरद) के राज्य प्रमुख जयंत पाटिल ने चव्हाण के आवास पर उनके साथ बैठक की। दोनों दलों के सूत्रों ने पुष्टि की कि चव्हाण को पवार की पार्टी के चुनाव चिह्न पर सतारा सीट की पेशकश की गई थी।

कांग्रेस नेता ने पार्टी के आदेश का पालन करने की बात कही

एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा, ''चव्हाण ने प्रस्ताव के लिए एनसीपी को धन्यवाद दिया, लेकिन बताया कि वह केवल कांग्रेस के चुनाव चिह्न पर चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने यह भी बताया कि वह चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं, बशर्ते उन्हें कांग्रेस से ही टिकट मिले।'' इस बारे में संपर्क करने पर चव्हाण ने सीट की पेशकश करने पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा, “मैं एक कांग्रेस कार्यकर्ता हूं। मैं अपनी पार्टी का आदेश सुनता हूं। अगर पार्टी मुझे कुछ भी करने का आदेश देगी तो मैं उसका पालन जरूर करूंगा।''

Advertisement

चव्हाण बोले, "हम एमवीए की जीत के लिए प्रतिबद्ध हैं"

चव्हाण बोले- “मुझे लगता है, महाराष्ट्र की हर सीट महत्वपूर्ण है और सतारा सीट शरद पवार के पास है। शरद पवार जिस भी उम्मीदवार को नामांकित करेंगे हम उसे स्वीकार करेंगे। चव्हाण ने कहा, हम एमवीए उम्मीदवार की जीत के लिए प्रतिबद्ध हैं।" उन्होंने कहा कि उन्हें अकेले सतारा सीट की नहीं बल्कि सभी 48 लोकसभा सीटों की चिंता है। त्रिपक्षीय महा विकास अघाड़ी (MVA) की सीट बंटवारे की बातचीत में सतारा लोकसभा सीट पवार की एनसीपी के पास चली गई है। सतारा के मौजूदा सांसद और शरद पवार के करीबी श्रीनिवास पाटिल पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि वह चुनाव नहीं लड़ेंगे।

पार्टी के पास पाटिल की जगह लेने के लिए चार नाम थे, जिनमें एमएलसी शशिकांत शिंदे, विधायक बालासाहेब पाटिल और पूर्व मंत्री विक्रमसिंह पाटणकर के बेटे सत्यजीत पाटणकर और श्रीनिवास पाटिल के बेटे सारंग पाटणकर शामिल हैं। हालांकि, इनमें से कोई भी नाम पूरे लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में नहीं गूंजा है और केवल विशेष विधानसभा सीट पर ही उनका प्रभुत्व है।

Advertisement

एनसीपी में विभाजन के बाद - शरद पवार के भतीजे अजीत पवार के विद्रोह के बाद - सतारा में एनसीपी की ताकत विभाजित हो गई है और प्रत्येक पक्ष को इसका प्रभाव भुगतना पड़ रहा है। सत्ता पक्ष की बात करें तो अजित पवार की एनसीपी की जगह बीजेपी के राज्यसभा सांसद उदयनराजे भोसले उम्मीदवार हो सकते हैं। बदले हालात में पवार की एनसीपी ने कथित तौर पर चव्हाण को शामिल करने की मांग की है - जो 1999 में तत्कालीन कराड लोकसभा सीट से श्रीनिवास पाटिल से हार गए थे, जिन्होंने पवार की नवगठित एनसीपी से चुनाव लड़ा था।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो