scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Narendra Modi Government: बिहार, केरल और पंजाब में क्षेत्रीय संतुलन बनाने की कवायद, पराजित उम्मीदवार को भी बनाया मंत्री

इसके अतिरिक्त कई और भी नए चेहरे इस बार सीधे मोदी मंत्रिमंडल में जगह पाने में सफल रहे।
Written by: जनसत्ता
नई दिल्ली | Updated: June 10, 2024 06:15 IST
narendra modi government  बिहार  केरल और पंजाब में क्षेत्रीय संतुलन बनाने की कवायद  पराजित उम्मीदवार को भी बनाया मंत्री
रविवार, 9 जून, 2024 को नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में नई केंद्र सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य मंत्रियों के साथ राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू। (पीटीआई फोटो)
Advertisement

मोदी मंत्रिमंडल में बिहार, केरल और पंजाब में क्षेत्रीय संतुलन को साधने की कवायद की गई है। पंजाब अपना सिख चेहरा बनाने के लिए लोकसभा चुनाव हार जाने वाले रवनीत सिंह बिट्टू को भी केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह दी है। 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले सीधे कांग्रेस से बीजेपी में आने वाले बिट्टू को बीजेपी व सहयोगी दलों की तरफ से चुनाव मैदान में उतारा था। लेकिन इस चुनाव में बिट्टू अपनी जीत दर्ज करा नहीं पाए हैं। यही वजह है कि बीजेपी ने उन्हें बतौर सिख चेहरा बनाने के लिए मंत्री पद देने का फैसला लिया है। इसके अतिरिक्त कई और भी नए चेहरे इस बार सीधे मोदी मंत्रिमंडल में जगह पाने में सफल रहे। बिट्टू को बीजेपी ने लुधियाना सीट से चुनाव मैदान में उतारा था।

Advertisement

बिट्टू के प्रचार में खुद अमित शाह चुनाव मैदान में उतरे थे

बीजेपी से टिकट मिलने के बाद बिट्टू के प्रचार में खुद अमित शाह चुनाव मैदान में उतरे थे। बिट्टू तीन बार कांग्रेस पार्टी से सांसद रह चुके हैं। इस सीट पर कांग्रेस पार्टी के नेता अमरिंदर सिंह राजा ने जीत दर्ज कराई है और बीजेपी को करीब बीस हजार वोट से नुकसान उठाना पड़ा है। रवनीत सिंह बिट्टू इससे पूर्व 2009 में आनंदपुर और इसके बाद 2014 और 2019 में लुधियाना से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं। वे पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के बेटे है। शपथ ग्रहण समारोह से पहले आयोजित चाय कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया था।

Advertisement

केरल में कमल खिलाने वाले सुरेश गोपी मंत्रिमंडल में

भारतीय जनता पार्टी ने इस बार सबसे ज्यादा जोर दक्षिण राज्य की सीटों पर लगाया था। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर अमित शाह समेत अन्य नेता इन राज्यों में पहुंचे थे। पार्टी की इसी कड़ी मेहनत का असर है कि पहली बार दक्षिण भारत के राज्य में कमल को एक सीट मिली है। केरल अब तक कांग्रेस का गढ़ माना जाता रहा है।

यहां से त्रिशूर लोकसभा सीट से सुरेश गोपी सांसद बने हैं और उन्हें भी मंत्रिमंडल में जगह दी गई है। इनकी जीत को केरल राज्य में भाजपा की एक बड़ी जीत माना जा रहा है और इसका इनाम भाजपा ने सुरेश गोपी को दिया है। वे रविवार को अपने परिवार के सदस्यों के साथ शपथग्रहण के लिए दिल्ली पहुंचे थे।

चिराग पासवास बने केंद्रीय मंत्री

बिहार राज्य से केंद्रीय मंत्रीमंडल में हाजीपुर से सांसद चिराग पासवान को लिया गया है। चिराग पासवास बतौर केंद्रीय मंत्री के दर्जे में इस बार संसद में नजर आएंगे। वे लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और अपने पति स्व राम विलास पासवान की विरासत को आगे बढ़ा रहे हें। चिराग ने कम्प्यूटर इंजीनियर पढाई की है। इन्होंने वर्ष 2021 में अपने चाचा व सांसद पशुपति पारस गुट से अलग होकर अपनी पार्टी बनाई थी और वर्ष 2024 में करीब सत्तर हजार से अधिक वोट से अपनी जीत दर्ज कराई है। चिराग पासवान राजनीति में आने से पहले बालीवुड में भी भाग्य अजमा चुके हैं और इन्होंने कंगना रनौत के साथ भी काम किया है। इसी बार कंगना भी लोकसभा चुनाव जीतकर संसद पहुंची हैं।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो