scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

मेरठ से 'राम', वायनाड से राहुल... दूसरे चरण की वोटिंग में इन सीटों पर जरूर रखें नजर

पिछले लोकसभा चुनाव की बात करें तो इन्ही 88 सीटों में से एनडीए के खाते में 58 सीटें गई थीं, कह सकते हैं कि विपक्ष का सफाया कर दिया गया था।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Sudhanshu Maheshwari
नई दिल्ली | Updated: April 26, 2024 10:18 IST
मेरठ से  राम   वायनाड से राहुल    दूसरे चरण की वोटिंग में इन सीटों पर जरूर रखें नजर
दूसरे चरण में कड़ा मुकाबला
Advertisement

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में 88 सीटो पर वोटिंग हो रही है। 13 राज्यों की इन सभी सीटों पर कड़ा मुकाबला है कई ऐसी सीटें भी हैं जो परंपरागत रूप से बीजेपी का मजबूत गढ़ मानी गई हैं। पहले चरण की कम वोटिंग के बाद दूसरे चरण की वोटिंग से पहले सभी पार्टियों ने अपनी रणनीति में बड़ा बदलाव किया है। अब उसी परिवर्तन ने इस दूसरे चरण को काफी दिलचस्प बना दिया है, यहां ध्रुवीकरण भी देखने को मिल रहा है, मुद्दों की राजनीति भी हो रही है और चेहरों के नाम पर भी वोट डालने की बात हो रही है।

पिछले लोकसभा चुनाव की बात करें तो इन्ही 88 सीटों में से एनडीए के खाते में 58 सीटें गई थीं, कह सकते हैं कि विपक्ष का सफाया कर दिया गया था। अकेले बीजेपी के खाते में 50 सीटें और उनके साथी दलों को आठ सीटें मिल गई थीं। अब इस बार फिर उन्हीं सीटों पर मुकाबला कड़ा बना हुआ है, बीजेपी ने कई बड़े चेहरों को मैदान में उतार रखा है। अरुण गोविल से लेकर हेमा मालिनी तक, इंडिया गठबंधन के लिए राहुल गांधी से लेकर पूर्व सीएम भूपेश बघेल तक, कई कद्दावर अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। दूसरे चरण की इन सीटों पर इस बार सभी की नजर जरूर होनी चाहिए-

Advertisement

सीटNDA प्रत्याशीविपक्ष का प्रत्याशी
वायनाडके सुरेंद्रनराहुल गांधी
मेरठअरुण गोविलसुनीता वर्मा (सपा), देवव्रत त्यागी (बसपा)
मथुराहेमा मालिनीमुकेश धंगर(कांग्रेस), सुरेश सिंह (बसपा)
पूर्णियासंतोष कुशवाहाबीमा भारती, पप्पू यादव (निर्दलीय)
खुजराहोवीडी शर्माआरबी प्रजापति (फॉरवर्ड ब्लॉक)
तिरुवनंतपुरमराजीव चंद्रशेखरनशशि थरूर
पथानामथिट्टाअनिल एंटनीएंटो एंटनी
राजनांदगांवसंतोष पांडेयभूपेश बघेल
बेंगलुरु ग्रामीणसीएम मंजूनाथडीके सुरेश
बालूरघाटसुकांत मजूमदारविपलव मिश्रा (टीएमसी)
कोटाओम बिरलाप्रह्लाद गुंजल

अब ये सीटें तो इस चरण का भविष्य तय करने ही वाली हैं, कई मुद्दों की असल हकीकत भी पता चलने वाली है। दूसरे चरण से पहले बीजेपी ने अपनी रणनीति में बडा बदलाव करते हुए मोदी की गारंटी को छोड़ मुसलमान और मुगल पर फोकस किया। इसके ऊपर कांग्रेस पर ये आरोप और लगा दिया कि वो आम नागरिक की संपत्ति लेकर ज्यादा बच्चे वाले परिवारों में बांट देगी। प्रधानमंत्री मोदी ने तो महिलाओं के मंगलसूत्र का जिक्र कर भी माहौल को भावुक करने की पूरी कोशिश की। अब हिंदी पट्टी राज्यों में उन्हीं मुद्दों की अग्निपरीक्षा होने जा रही है।

दूसरी तरफ इंडिया गठबंधन के लिए इस बार कई सीटों पर मुकाबला अहम है। बिहार में तो कई ऐसी सीटें हैं जहां पर सीधी टक्कर देखने को मिल रही है। दूसरे चरण से पहले विपक्ष ने संविधान रक्षा, जातिगत जनगणना को अपना सबसे बड़ा हथियार बनाया है।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो