scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

दिल्ली में सबसे पहले होगी सीट शेयरिंग? खड़गे से मिले केजरीवाल, राहुल गांधी भी मौजूद

दिल्ली में सीएम अरविंद केजरीवाल ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे से मुलाकात की है। उस मुलाकात के दौरान राहुल गांधी भी मौजूद रहे। माना जा रहा है कि दिल्ली में सबसे पहले सीट शेयरिंग पर मुहर लग सकती है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Sudhanshu Maheshwari
नई दिल्ली | Updated: January 13, 2024 18:07 IST
दिल्ली में सबसे पहले होगी सीट शेयरिंग  खड़गे से मिले केजरीवाल  राहुल गांधी भी मौजूद
आप-कांग्रेस में सीट शेयरिंग को लेकर बैठक
Advertisement

दिल्ली में सीएम अरविंद केजरीवाल ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे से मुलाकात की है। उस मुलाकात के दौरान राहुल गांधी भी मौजूद रहे। माना जा रहा है कि दिल्ली में सबसे पहले सीट शेयरिंग पर मुहर लग सकती है। बड़ी बात ये है कि मुलाकात 24 घंटे के अंदर में दोबारा हुई है। शुक्रवार को हुई मुलाकात में दोनों ही पार्टियों का प्रतिनिधिमंडल बैठा था, लेकिन आज शनिवार की मीटिंग में सबसे बड़े नेताओं ने शिरकत की।

इस बैठक में कांग्रेस की तरफ से मल्लिकार्जुन खड़गे और राहुल गांधी मौजूद रहे, तो आम आदमी पार्टी की तरफ से संयोजक अरविंद केजरीवाल और राघव चड्ढा आए। बताया जा रहा है कि सीट शेयरिंग को लेकर ही मंथन किया गया है। अब कितनी सीटें देने की बात हो रही है, ये अभी तक साफ नहीं, लेकिन फोकस स्पष्ट है कि जल्द से जल्द कोई फैसला लिया जाए।

Advertisement

जानकारी के लिए बता दें कि आम आदमी पार्टी कांग्रेस से गोवा, गुजरात, हरियाणा में भी सीटें मांग रही है। पार्टी हर कीमत पर विस्तार करना चाहती है। वहीं कांग्रेस का सारा फोकस दिल्ली-पंजाब पर है, जहां पर ज्यादा से ज्यादा सीटों पर प्रत्याशी उतारना चाहती है। वैसे इस सीट शेयरिंग के बीच इंडिया गठबंधन की एक अहम बैठक आज शनिवार को भी हुई। वर्चुअल अंदाज में हुई इस बैठक में कई बड़े चेहरे मौजूद ही नहीं रहे। इस लिस्ट में सपा प्रमुख अखिलेश यादव, बंगाल सीएम ममता बनर्जी और उद्धव ठाकरे नदारद दिखे।

मीटिंग के दौरान फैसला लिया गया कि मल्लिकार्जुन खड़गे को इंडिया गठबंधन का अध्यक्ष बनाया जाएगा, वहीं संयोजक को लेकर अभी भी कोई फैसला नहीं हो पाया। बताया जा रहा है कि नीतीश कुमार का नाम सबसे आगे चल रहा था, लेकिन बिहार सीएम की तरफ से लालू प्रसाद यादव का नाम आगे कर दिया गया। उन्होंने कहा कि वे सबसे ज्यादा वरिष्ठ हैं, ऐसे में ये मौका उन्हें मिलना चाहिए। अब नीतीश के इस बयान के बाद से पेंच फिर फंसता दिख रहा है। इसके ऊपर जिस तरह से ममता बनर्जी अभी तल्ख अंदाज दिखा रही हैं, बंगाल में कांग्रेस को सीटें देने को तैयार नहीं हैं, उस स्थिति में वहां भी स्पष्टता की कमी दिख रही है।

Advertisement

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो