scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Lok Sabha Elections: वरुण गांधी का टिकट क्यों कटा? योगी पर दिया बयान पड़ा भारी या कुछ और है वजह

Lok Sabha ELections: जितिन प्रसाद होली मनाने पीलीभीत पहुंचे जहां वह बिना वरुण गांधी का नाम लिए उन्हें बीजेपी का सच्चा सिपाही बताते भी नजर आए।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Mohammad Qasim
नई दिल्ली | Updated: March 27, 2024 15:16 IST
lok sabha elections  वरुण गांधी का टिकट क्यों कटा  योगी पर दिया बयान पड़ा भारी या कुछ और है वजह
Varun Gandhi फिलहाल बीजेपी में साइडलाइन है, जो कि उनके टिकट कटने का संकेत माना जा रहा है। (सोर्स - PTI/File)
Advertisement

बीजेपी ने पीलीभीत लोकसभा सीट से मौजूदा सांसद वरुण गांधी का टिकट काट कर जितिन प्रसाद को मैदान में उतारा है। जितिन प्रसाद की यूपी की शाहजहांपूरा और धौरहरा सीट से सांसद रह चुके हैं।

वरुण गांधी का टिकट कटने अटकलें कई दिनों से लगाई जा रही थीं। अब कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने बयान दिया है और कहा है कि वरुण गांधी को कांग्रेस जॉइन कर लेनी चाहिए। फिलहाल टिकट कटने के बाद वरुण गांधी का आगे की रणनीति को लेकर बयान सामने नहीं आया है।

Advertisement

क्या बोले जितिन प्रसाद?

जितिन प्रसाद होली मनाने पीलीभीत पहुंचे जहां वह बिना वरुण गांधी का नाम लिए उन्हें बीजेपी का सच्चा सिपाही बताते भी नजर आए। जितिन प्रसाद ने कहा--"इस सीट से बहुत से लोगों ने उम्मीदवारी की है, हम सभी पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता हैं, यह बीजेपी ही है जहां फैसले माने और समझे जाते हैं।" फिलहाल वरुण गांधी आगे क्या फैसला लेने वाले हैं, इस पर स्थिति साफ नहीं हुई है।

क्या करेंगे अब वरुण गांधी?

सूत्रों की मानें तो पीलीभीत से मौजूदा भाजपा सांसद वरुण गांधी उनकी जगह पूर्व कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद को टिकट मिलने से खुश नहीं हैं। सूत्रों ने इंडिया टुडे टीवी को बताया कि बीजेपी से टिकट न मिलने के कारण वरुण गांधी शायद चुनाव ही न लड़ें। उम्मीदवारों की अपनी पांचवीं सूची में भाजपा ने वरुण गांधी का पीलीभीत लोकसभा सीट टिकट काटा साथ ही उनकी मां मेनका गांधी को उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर से फिरसे टिकट दे दिया। चर्चा यह भी है कि वरुण गांधी ने कुछ दिन पहले ही नॉमिनेशन फॉर्म के चार सेट मंगाए थे। लेकिन अब वह नाराज़ हैं और कार्यकर्ताओं को इशारा कर चुके हैं कि चुनाव नहीं लड़ेंगे।

पिछले साल योगी आदित्यनाथ कटाक्ष करते हुए वरुण गांधी ने लोगों को सलाह दी थी कि वे आस-पास के साधुओं को परेशान न करें क्योंकि कोई नहीं जानता कि महाराज जी कब मुख्यमंत्री बन जाएंगे।

Advertisement

सितंबर 2023 में उन्होंने एक मरीज की मौत के बाद अमेठी के संजय गांधी अस्पताल के लाइसेंस को निलंबित करने पर उत्तर प्रदेश भाजपा सरकार पर सवाल उठाए थे।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो