scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

लोकसभा चुनाव: भाजपा के घोषणा पत्र में ‘ज्ञान’ पर रहेगा ज्यादा ध्यान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने भाषणों में चार जातियों की बात करते हैं, जिनमें गरीब, युवा, किसान और महिलाएं शामिल हैं।
Written by: सुशील राघव | Edited By: Bishwa Nath Jha
नई दिल्ली | Updated: March 24, 2024 12:16 IST
लोकसभा चुनाव  भाजपा के घोषणा पत्र में ‘ज्ञान’ पर रहेगा ज्यादा ध्यान
प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो -(इंडियन एक्सप्रेस)।
Advertisement

भाजपा लोकसभा चुनाव के लिए अपने घोषणा पत्र को तैयार करने में जुटी है। पार्टी अपने घोषणा पत्र को ‘संकल्प पत्र’ कहती है। सूत्रों के मुताबिक, इस बार का घोषणा पत्र गरीबों, युवाओं, किसानों और महिलाओं को ध्यान में रखकर बनाया जा रहा है। पार्टी का इस बार का घोषणा पत्र 2047 तक देश को विकसित बनाने की ‘योजना’ पर आधारित होगा।

सूत्रों के मुताबिक 19 अप्रैल को पहले चरण के मतदान से पहले पार्टी अपना घोषणा पत्र जारी कर सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने भाषणों में चार जातियों की बात करते हैं, जिनमें गरीब, युवा, किसान और महिलाएं शामिल हैं। प्रधानमंत्री इन्हें ‘ज्ञान’ कह कर संबोधित करते हैं, जिसको वे गरीब (जी), युवा (वाई), अन्नदाता (ए) और नारी शक्ति (एन) के रूप में परिभाषित करते हैं। सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री द्वारा बताई गई इन चारों जातियों के इर्द गिर्द ही भाजपा का 2024 का घोषणा पत्र रहेगा। पार्टी की ओर से लगातार दावा किया जा रहा है कि देश में दस वर्षों के दौरान करीब 25 करोड़ लोग गरीबी से बाहर आए हैं।

Advertisement

सूत्रों का कहना है कि देश के गरीबों को अधिक से अधिक लाभ पहुंचाने के मकसद से घोषणा पत्र में कई योजनाओं को शामिल किया जाएगा। साथ ही जो जनकल्याण की योजनाएं अभी चलाई जा रही हैं, उनका और विस्तार किया जा सकता है। भाजपा का दावा रहा है कि केंद्र में राजग सरकार के एक दशक में महिलाओं के लिए कई ऐतिहासिक कार्य किए गए हैं। इनमें महिलाओं को लोकसभा और राज्य विधानसभाओं में 33 फीसद आरक्षण देना, लखपती दीदी बनाना और तीन तलाक को खत्म करना सबसे महत्त्वपूर्ण हैं। सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री का ध्यान अब महिला संचालित अर्थव्यवस्था पर है।

इसकी कुछ शुरुआत राजग के दूसरे कार्यकाल में शुरू हो गई है। इसे अब आगे बढ़ाने के लिए घोषणा पत्र में कई योजनाओं का शामिल किया जा सकता है। भारत दुनिया के सबसे युवा देशों में शामिल है। भाजपा का दावा रहा है कि उसने स्टार्टअप इंडिया हो, सेमीकंडेक्टर मिशन हो या नई शिक्षा नीति, हर बार युवाओं का विशेष ध्यान रखा है। सूत्रों का कहना है कि पार्टी इस बार युवाओं के कई विशेष योजनाओं का घोषणा पत्र में शामिल कर सकती है।

Advertisement

सूत्रों का कहना है कि देश के अन्नदाताओं के लिए भी घोषणा पत्र में काफी कुछ होगा। भाजपा का दावा रहा है कि उसने दस साल के अपने कार्यकाल में किसानों के लिए कई योजना चलार्इं जिनमें पीेएम किसान सम्मान निधि, पशुधन बीमा योजना, प्रधानमंत्री किसान सिंचाई योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, किसान क्रेडिट कार्ड आदि प्रमुख हैं।

Advertisement

पार्टी ने एक करोड़ लोगों से मांगे हैं सुझाव

पार्टी ने घोषणा पत्र तैयार करने के लिए देश भर से एक करोड़ से अधिक सुझाव मांगें हैं। इन सुझावों पर पार्टी की घोषणा पत्र समिति विचार कर रही है। इन्हीं सुझावों के आधार पर पार्टी अपना घोषणा पत्र तैयार करेगी। पार्टी ने दो तरह से ये सुझाव जुटाए हैं। देश की सभी लोकसभा सीटों पर चुनावी रथ भेजकर पार्टी ने जनता से सीधे सुझाव लिए तो दूसरी ओर समाज के विभिन्न वर्गों के बीच बैठकें कर भी सुझाव लिए गए हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो