scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Lok Sabha Elections: क्या कांग्रेस को ऐसे ही संजीवनी देंगे राहुल गांधी? 24 घंटे में 3 बड़े नेताओं ने छोड़ी पार्टी; जानिए किसने क्या लगाए आरोप

Lok Sabha Elections: 24 घंटे में कांग्रेस छोड़ने वाले तीन बड़े नेताओं में गौरव वल्लभ, संजय निरुपम और बॉक्सर विजेंदर सिंह का नाम शामिल हैं, जबकि बिहार कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अनिल शर्मा ने 31 मार्च को कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था। शर्मा ने आज भाजपा का दामन थाम लिया। इन चारों नेताओं में तीन बीजेपी में शामिल हो चुके हैं।
Written by: vivek awasthi
नई दिल्ली | Updated: April 04, 2024 16:28 IST
lok sabha elections  क्या कांग्रेस को ऐसे ही संजीवनी देंगे राहुल गांधी  24 घंटे में 3 बड़े नेताओं ने छोड़ी पार्टी  जानिए किसने क्या लगाए आरोप
Lok Sabha Elections: लोकसभा चुनाव के बीच पिछले दो दिन में चार नेताओं ने कांग्रेस पार्टी छोड़ी है। (एक्स)
Advertisement

Lok Sabha Elections: लोकसभा चुनाव हो या फिर विधानसभा चुनाव इस दौरान नेताओं को पार्टी छोड़कर दूसरी पार्टी में जाना कोई बड़ी बात नहीं होती है। लेकिन जिस तरह इस लोकसभा चुनाव (2024) में कांग्रेस के साथ हो रहा है, यह कांग्रेस के लिए किसी बड़ी मुसीबत से कम नहीं है। क्योंकि जब से लोकसभा चुनाव को लेकर सुगबुगाहट शुरू हुई है, तब से कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता बीजेपी का दामन थाम चुके हैं। वहीं 24 घंटे के भीतर तीन नेता कांग्रेस पार्टी छोड़ चुके हैं। इन सभी ने कांग्रेस छोड़ने के बाद सबसे पुरानी पार्टी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। ऐसे में यह सवाल उठना लाजिम हो जाता है कि आखिर कांग्रेस नेता राहुल गांधी पार्टी को कैसे संजीवनी दे पाएंगे। आइए जानते हैं 24 घंटे के भीतर कौन से वो तीन नेता हैं, जिन्होंने कांग्रेस छोड़ने के बाद सबसे पुरानी पार्टी पर गंभीर आरोप लगाए।

गौरव वल्लभ

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव वल्लभ गुरुवार को पार्टी से इस्तीफा देने के बाद भाजपा में शामिल हो गए। उन्होंने सुबह ही कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को लेटर लिखकर इस्तीफा दिया था। गौरव ने खड़गे से कहा था कि वे न तो सनातन विरोधी नारे लगा सकते हैं और न ही सुबह-शाम देश के वेल्थ क्रिएटर्स को गाली दे सकते हैं। इसी वजह से पार्टी से इस्तीफा दे रहे हैं।

Advertisement

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को पत्र लिखते हुए गौरव ने कहा, 'पिछले कुछ दिनों से पार्टी के स्टैंड से असहज महसूस कर रहा हूं। जब मैंने कांग्रेस पार्टी जॉइन की तब मेरा मानना था कि कांग्रेस देश की सबसे पुरानी पार्टी है। वहां सभी के आइडिया की कद्र होती है, लेकिन ऐसा नहीं है। पार्टी का ग्राउंड लेवल कनेक्ट पूरी तरह से टूट चुका है और वह नए भारत की आकांक्षा को बिल्कुल भी नहीं समझ पा रही है। इसी वजह से पार्टी न तो सत्ता में आ पा रही और न ही मजबूत विपक्ष की भूमिका निभा पा रही हैं। बड़े नेताओं और जमीनी कार्यकर्ताओं के बीच की दूरी पाटना बेहद कठिन है, जो राजनैतिक रूप से जरूरी है। जब तक एक कार्यकर्ता अपने नेता को डायरेक्ट सुझाव नहीं दे सकता तब तक किसी भी प्रकार का सकारात्मक परिवर्तन संभव नहीं है।

गौरव वल्लभ ने कहा कि अयोध्या में प्रभु श्रीराम की प्राण प्रतिष्ठा में कांग्रेस पार्टी के स्टैंड से मैं परेशान हूं। मैं जन्म से हिंदू और कर्म से शिक्षक हूं। पार्टी और गठबंधन से जुड़े कई लोग सनातन के विरोध में बोलते हैं और पार्टी का उस पर चुप रहना, स्वीकृति देने जैसा है। उन्होंने कहा कि इन दिनों पार्टी गलत दिशा में आगे बढ़ रही है। एक ओर हम जाति आधारित जनगणना की बात करते हैं, वहीं दूसरी ओर संपूर्ण हिंदू समाज के विरोधी नजर आ रहे हैं। यह कार्यशैली जनता के बीच पार्टी को एक खास धर्म विशेष का हितैषी होने का संदेश दे रही है। यह कांग्रेस के मूलभूत सिद्धांतों के खिलाफ है।

Advertisement

कांग्रेस के पूर्व नेता ने आर्थिक मामलों पर कांग्रेस का स्टैंड हमेशा देश के वेल्थ क्रिएटर्स को नीचा दिखाने का और उन्हें गाली देने का रहा है। आज हम उन आर्थिक उदारीकरण, निजीकरण व वैश्वीकरण नीतियों के खिलाफ हो गए हैं, जिसको देश में लागू कराने का पूरा श्रेय दुनिया ने हमें दिया है। देश में होने वाले हर निवेश पर पार्टी का नजरिया हमेशा नकारात्मक रहा। क्या हमारे देश में बिजनेस करके पैसा कमाना गलत है? बता दें, कांग्रेस ने राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 में गौरव वल्लभ को उदयपुर सीट से मैदान में उतारा था, लेकिन वे BJP के ताराचंद जैन से 32 हजार से ज्यादा वोटों से हार गए थे।

Advertisement

संजय निरुपम

कांग्रेस से निष्कासित हुए पूर्व सासंद संजय निरुपम ने गुरुवार को कांग्रेस पर गंभीर आरोप लगाए। निरुपम ने कहा कि कांग्रेस में पांच अलग-अलग पावर सेंटर हैं। सोनिया, राहुल, प्रियंका, नए अध्यक्ष खड़गे और वेणुगोपाल। कांग्रेस में वैचारिक द्वंद्व चल रहा है, इससे कार्यकर्ताओं में निराशा चल रही है।

निरुपम ने आगे कहा कि अब उनका धैर्य खत्म हो गया है। उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं में भारी निराशा है। वैचारिक मोर्चे पर भी कांग्रेस खुद को धर्मनिरपेक्ष कहती है। महात्मा गांधी सर्वधर्म समभाव में विश्वास करते थे। सभी विचारधाराओं की एक समय सीमा होती है। धर्म को नकारने वाली नेहरूवादी धर्मनिरपेक्षता ख़त्म हो गई है। दुर्भाग्यपूर्ण बात यह है कि कांग्रेस इसे स्वीकार करने को तैयार नहीं है। निरुपम ने आगे दावा किया कि भारत अब ‘पूरी तरह से धार्मिक’ देश बन गया है।

उन्होंने कहा कि यहां तक कि उद्योगपति भी बड़े गर्व के साथ मंदिरों में जाते हैं। वैचारिक और संगठनात्मक रूप से कांग्रेस पार्टी अव्यवस्था की स्थिति में है। कांग्रेस का वास्तविकता से संपर्क टूट गया है। उन्होंने कहा कि आधे लोग पुराने हो चुके हैं और उन्हें खत्म करना होगा।

निरुपम ने कहा कि राहुल गांधी के आसपास जो लेफ्टिस्ट हैं, वे आस्था में विश्वास नहीं करते। अकेले कांग्रेस ने रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के निमंत्रण के जवाब में चिट्ठी लिखी कि ये भाजपा का प्रचार है। उन्होंने राम के अस्तित्व को ही नकार दिया।

इससे पहले, संजय निरुपम ने गुरुवार सुबह X पर पोस्ट किया था कि बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के नाम अपना इस्तीफा भेजने के बाद पार्टी ने उन्हें निकाला। निरुपम ने इस्तीफे की तस्वीर शेयर की। उन्होंने लिखा- ऐसा लगता है कि बीती रात मेरा इस्तीफा मिलते ही पार्टी ने मुझे निकाले जाने का ऐलान करने का फैसला लिया। ऐसी फुर्ती देखकर अच्छा लगा।

विजेंदर सिंह-

बॉक्सर विजेंदर सिंह ने बुधवार को कांग्रेस छोड़ बीजेपी का हाथ थाम लिया है। 38 साल के विजेंदर सिंह ने 2019 में ही कांग्रेस ज्वाइन की थी। बीजेपी ज्वाइन करने के बाद विजेंदर सिंह ने कहा कि मैं आज भाजपा में शामिल हो रहा हूं। यह मेरे लिए घर वापसी जैसा है। 2019 में मैंने चुनाव लड़ा। वापस आना अच्छा है। जब हम विदेश में प्रतिस्पर्धा करने जाते थे, तो हवाई अड्डों पर बहुत सारी घटनाएं होती थीं, लेकिन जब से बीजेपी सत्ता में आई है, खिलाड़ियों को काफी सम्मान मिलता है। मुझे आशा है कि मैं लोगों को सही मार्ग दिखा सकूंगा। उन्होंने कहा कि मैं वही विजेंदर हूं। मैं गलत को गलत, सही को सही कहूंगा।

विजेंदर सिंह ने 2019 का लोकसभा चुनाव दक्षिणी दिल्ली सीट से कांग्रेस के टिकट पर लड़ा था, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। उन्होंने 2008 बीजिंग ओलिंपिक में मुक्केबाजी में कांस्य पदक जीता था। उन्होंने कई अन्य अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं में भी देश के लिए पदक जीते हैं। उन्होंने 2006 और 2014 राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक और 2010 खेलों के संस्करण के साथ-साथ 2009 विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक भी जीते।

अनिल शर्मा-

बिहार कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रहे अनिल शर्मा गुरुवार (4 अप्रैल) को बीजेपी में शामिल हो गए। इस दौरान उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सांप्रदायिक पार्टी बन चुकी है और पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और सोनिया गांधी सबसे ज्यादा सांप्रदायिक लोगों की कैटेगरी में आते हैं। दिल्ली में बीजेपी मुख्यालय में अनिल शर्मा को पार्टी की सदस्यता दिलवाई गई।

अनिल शर्मा ने कहा कि सोनिया गांधी ने अयोध्या में हुए राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के निमंत्रण को ठुकराया, लेकिन जब इटली में मदर टेरेसा से जुड़ा कार्यक्रम हुआ, तो उन्होंने कांग्रेस के प्रतिनिधि को भेजा। उन्होंने आगे आरोप लगाया कि मल्लिकार्जुन खड़गे किस तरह से एक धर्म विशेष के प्रति नजरिया रखते हैं। शर्मा ने खड़गे का एक बयान भी सुनाया, जिसमें कहा गया कि अगर नरेंद्र मोदी का राज आ जाएगा, तो देश में सिर्फ सनातन का ही राज होगा।

पूर्व कांग्रेस नेता ने कहा कि इस वक्त देश में दो विचारधारा की लड़ाई चल रही है। एक तरफ वो विचारधारा है, जो सनातन धर्म को बचाने के लिए लड़ रही है, जबकि दूसरी ओर वो विचारधारा मौजूद है, जिसकी कोशिश सनातन को मिटाने की है। उन्होंने आगे कांग्रेस नेता राहुल गांधी को निशाने पर लेते हुए कहा कि राहुल सनातन को मिटाने वाली विचारधारा पर काम कर रहे हैं। शर्मा ने कहा कि वह कपड़े के ऊपर जनेयू पहने वाले जनेयूधारी नहीं हैं।

अनिल शर्मा ने 31 मार्च को कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दिया था। उन्होंने मल्लिकार्जुन खड़गे को लिखी चिट्ठी में बताया था कि वह पप्पू यादव को कांग्रेस में शामिल किए जाने से नाराज हैं। इसकी वजह से उन्होंने पार्टी से इस्तीफा दिया है। उन्होंने कहा कि था अगर लोकसभा चुनाव में आरजेडी को चार से पांच सीटें मिल गईं, तो बिहार में तेजस्वी यादव का जंगलराज आ जाएगा।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो