scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Lok Sabha Elections: शिवगंगा से फिर ताल ठोकेंगे कार्ति चिदंबरम, क्या BJP और AIADMK दे पाएंगे टक्कर?

Karti Chidambaram Biography in Hindi : शिवगंगा सीट से कांग्रेस ने एक बार फिर पी चिदंबरम को टिकट दिया है। उन्हें यहां इंडिया गठबंधन के तहत डीएमके का भी समर्थन मिलेगा।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | March 24, 2024 15:38 IST
lok sabha elections  शिवगंगा से फिर ताल ठोकेंगे कार्ति चिदंबरम  क्या bjp और aiadmk दे पाएंगे टक्कर
शिवगंगा सीट पर होगी कार्ति चिदंबरम की जीत? (सोर्स - PTI/File)
Advertisement

लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस पार्टी ने पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को एक बार फिर से टिकट दे दिया है। पार्टी ने तमिलनाडु की शिवगंगा सीट से कार्ति को अपना प्रत्याशी बनाया है। शिवगंगा सीट की खास बात यह है कि यह सीट लंबे वक्त से चिदंबरम परिवार का गढ़ रही है। 1984 से यह सीट पी चिदंबरम के पास थी और 2009 में यह उनके बेटे कार्ति चिदंबरम को ट्रांसफर कर दी गई थी। हालांकि 2014 में AIADMK के प्रत्याशी ने उन्हें काफी बुरी तरह हरा दिया था।

पिछले लोकसभा चुनावों यानी 2019 की बात करें तो इस सीट से कार्ति चिंदबरम को यहां 5.66 सीट लाख वोट मिले थे। इसके पहले 2014 में भी वे इस सीट से जीत दर्ज कर चुके हैं। बता दें कि डीएमके ने इस बार कांग्रेस के साथ गठबंधन किया है और यह सीट कांग्रेस को ही दी है। ऐसे में कार्ति के लिए सीट पर चुनावी लड़ाई काफी हद तक आसान भी हो सकती है लेकिन उनकी परेशानी बीजेपी AIADMK भी बन सकते हैं।

Advertisement

गौरतलब की शिवगंगा तमिलनाडु की एक दिलचस्प सीट रही है और यहा कांग्रेस की पकड़ मजबूत रही लेकिन पिछले कुछ सालों में बीजेपी ने यहां काफी मेहनत की है। पिछले चुनावों की बात करें तो यहां से बीजेपी ने एच राजा को उतारा था और उन्होंने सवा दो लाख से ज्यादा हासिल किए थे, जो कि 21 फीसदी वोट शेयर था। बीजेपी जिन सीटों पर विस्तार के प्रयास में है, उनमें से एक सीट शिवगंगा की भी है।

बढ़ रहा है बीजेपी का वोट शेयर

इससे पहले के लोकसभा के चुनावों की बात करें तो साल 2014 में भी बीजेपी ने एच राजा को सियासी मैदान में उतारा था, और वे तीसरे नंबर पर आए थे, उनको 13 फीसदी वोट शेयर मिला था। साल 2014 के मुकाबले बीजेपी का वोट प्रतिशत 2019 में करीब 8 फीसदी बढ़ा ही था। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि 2024 में इस सीट पर पार्टी का वोट शेयर कितना बढ़ता है।

Advertisement

बता दें कि 2014 में बीजेपी और AIADMK और बीजेपी अलग अलग थे। ऐसे में AIADMK की पार्टी के 2014 के प्रत्याशी पी.आर. सेंथिलनाथन को जीत मिली थी। दूसरे नंबर पर डीएमके रही थी, तीसरे नंबर पर बीजेपी और चौथे नंबर पर कांग्रेस रही थी।

Advertisement

विवादों में घिरे हैं कार्ति चिदंबरम

बता दें कि कार्ति चिदंबरम पर चीनी वीजा का एक केस चल रहा है। इसके चलते उनके खिलाफ ईडी जांच कर रही है और उन्हें अप्रैल के पहले हफ्ते में ही ईडी के सामने भी पेश होना है। ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे सांसद कार्ति चिदंबरम एक बार फिर जीत दर्ज कर पाते हैं, या नहीं।

जातिगत समीकरण का क्या है गणित

शिवगंगा के जातिगत और जनसांख्यकी समीकरण की बात करें तो यह मुख्य तौर पर ग्रामीण सीट है, जहां की साक्षरता दर 70 फीसदी है। यहां 90 प्रतिशत हिंदू मतदाता हैं, वहीं 10 प्रतिशत अन्य धर्मों के लोग रहते हैं। जातीय समीकरण का जिक्र करें तो अनुसूचित जाति (एससी) के लोगों की संख्या 16.4 प्रतिशत और अनुसूचित जनजाति (एसटी) की हिस्सेदारी 0.1 प्रतिशत है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 चुनाव tlbr_img2 Shorts tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो